BREAKING NEWS

पंजाब: NDA में पूरा हुआ बंटवारे का दौर, नड्डा ने किया ऐलान- 65 सीटों पर BJP लड़ेगी चुनाव, जानें पूरा गणित ◾शरजील इमाम पर चलेगा देशद्रोह का मामला, भड़काऊ भाषणों और विशेष समुदाय को उकसाने के लगे आरोप ◾ गणतंत्र दिवस: 25-26 जनवरी को दिल्ली मेट्रो की पार्किंग सेवा रहेगी बंद, जारी की गई एडवाइजरी◾महिला सशक्तिकरण की बात कर रही BJP की मंत्री हुई मारपीट की शिकार, ऑडियो वायरल, जानें मामला? ◾UP चुनाव: SP को लगा तीसरा बड़ा झटका, BJP में शामिल हुए विधायक सुभाष राय, टिकट कटने से थे नाराज ◾देश में कोरोना के मामलों में 15 फरवरी तक आएगी कमी, कुछ राज्यों और मेट्रो शहरों में कम हुए कोविड केस◾UP चुनाव: BJP के साथ गठबंधन नहीं होने के जिम्मेदार हैं आरसीपी, JDU अध्यक्ष बोले- हमने किया था भरोसा.. ◾फडणवीस का उद्धव ठाकरे को जवाब, बोले- 'जब शिवसेना का जन्म भी नहीं हुआ था तब से BJP...'◾BJP ने जारी की पांचवी सूची, महज एक उम्मीदवार के नाम की हुई घोषणा, UP कोर ग्रुप की बैठक में मंथन जारी ◾राष्ट्रीय बाल पुरस्कार: PM मोदी ने बच्चों से "वोकल फॉर लोकल’’ अभियान को आगे बढ़ाने का किया आग्रह◾गोवा चुनाव: TMC ने उठाए BJP की मंशा पर सवाल, कहा- 'डबल इंजन सरकार' का नारा तानाशाही का संकेत ◾राहुल गांधी ने केंद्र को घेरा, कहा- गरीब और मध्य वर्ग के लोग सरकार की ‘आर्थिक महामारी’ के शिकार हुए◾विधानसभा चुनावः दिल्लीवासियों से केजरीवाल ने चार राज्यों में प्रचार के लिए मांगी मदद ◾MP में नए 'स्टील्थ ओमीक्रॉन' ने दी दस्तक, इंदौर में 21 मामले आए सामने, फेफड़ों पर हो रहा संक्रमण का असर ◾राकेश टिकैत ने हिंदू-मुस्लिम और जिन्ना को बताया सरकारी मेहमान, बोले-सरकार के प्रवचन में नहीं आना◾भगवा खेमे का अभेद्य किला बनी हुई है 'गोरखपुर सीट', अखिलेश ने शिवप्रताप को दिया खुला ऑफर, जानें रणनीति ◾अखिलेश के बयान पर भाजपा ने घेरा, पाकिस्तान को भारत का असली दुश्मन नहीं मानने का लगाया आरोप ◾अल्पसंख्यक समुदाय के साथ की आस में BJP, RSS की मुस्लिम शाखा ने चलाया अभियान, धर्म संसद पर कहा... ◾UP चुनाव: सियासी मझधार में सपा और सहयोगी दलों का गठबंधन, सीट बंटवारे को लेकर कशमकश की स्थिति ◾BJP गठबंधन वाले दलों को हड़पकर उन्हें खत्म कर देती है : नवाब मलिक◾

कोरोना वायरस : महारानी एलिजाबेथ ने वायरस के कारण छोड़ा बकिंघम पैलेस

लंदन : पूरी दुनिया में अपने पैर फैला चुका कोरोना वायरस का डर अब सभी लोगों को सता रहा है भले ही वो दुनिया का कितना भी बड़ा या अमीर व्यक्ति ही क्यों न हो। ठीक ऐसा ही एक मामला लंदन से आया है ब्रिटिश की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय ने भी इस महामारी (कोरोना वायरस) के प्रकोप के कारण अपना आधिकारिक आवास बकिंघम पैलेस छोड़ कर विंडसर कैसल चली गयी हैं।

आपको बता दें कि महारानी ने यह कदम देश में कोरोना वायरस से करीब 21 लोगों की मौतों के बीच 70 साल से अधिक उम्र के लोगों को पृथक रखने जैसी योजना के बीच उठाया है। आने वाले हफ्तों में 93 वर्षीय महारानी और 98 वर्षीय उनके पति प्रिंस फिलिप को नॉरफॉल्क स्थित शाही सैंड्रिंघम एस्टेट में पृथक रखे जाने की संभावना है। ब्रिटेन 1,140 से अधिक लोगों के संक्रमित होने के बाद कड़े कदम उठा रहा है। बकिंघम पैलेस ने महारानी के कार्यक्रमों को रद्द करने की जानकारी देने के लिए जारी विज्ञप्ति में कहा, ‘‘ उचित सलाह के आधार पर अन्य कार्यक्रमों की भी समीक्षा की जा रही है।’’

खबरों के मुताबिक महारानी को बकिंघम पैलेस से स्थानांतरित करने का फैसला महल के मध्य लंदन में होने, उस इलाके में बड़ी संख्या में कर्मचारियों के कार्यरत होने और नियमित तौर पर आगंतुकों के आने की वजह से लिया गया। कुछ अन्य खबरों में कहा गया कि महारानी को लंदन वापस लाने से पहले स्थिति की निरंतर समीक्षा की जाएगी और ऐसी भी संभावना है कि उन्हें लंदन लाने के बजाय थोड़े से कर्मचारियों के साथ सैंड्रिंघम ले जाया जा सकता है। ‘द सन’ अखबार ने शाही सूत्रों के हवाले से कहा, ‘‘ महारानी की सेहत ठीक है लेकिन यह समझा गया कि उन्हें बकिंघम पैलेस से दूर रखना सबसे बेहतर है।’’

सूत्रों ने बताया, ‘‘ महल दुनिया भर के राजनीतिज्ञों और गणमान्य लोगों सहित बड़ी संख्या में आगंतुकों की मेजबानी करता है। हाल तक महारानी ने बड़ी संख्या में लोगों से मुलाकात की लेकिन 94वें जन्म दिन से कुछ हफ्ते पहले सलाहकारों ने किसी नुकसान से बचाने के लिए उन्हें महल से दूर रखना ही बेहतर समझा।’’इस बीच, ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री मैट हैनकॉक ने पुष्टि कि है सरकार की योजना आने वाले हफ्तों में बुजुर्गों और शारीरिक रूप से कमजोर लोगों को पूरी तरह से पृथक रखने की है।