BREAKING NEWS

JNU छात्र आज संसद तक निकालेगा मार्च, जेएनयू प्रबंधन ने कहा- हड़ताल से वापस नहीं लौटे तो दाखिला होंगे रद्द◾संसद का शीतकालीन सत्र आज से शुरू, नागरिकता विधेयक से लेकर आर्थिक सुस्ती पर घमासान के आसार◾भाजपा के नकारेपन के चलते जीतेंगे झारखंड : कांग्रेस◾UP में मुआवजे के लिए किसानों का प्रदर्शन हुआ उग्र ◾भाजपा के नकारेपन के चलते जीतेंगे झारखंड : कांग्रेस◾अयोध्या फैसले पर बोले यशवंत सिन्हा, कहा- इस फैसले में कुछ खामियां हैं, लेकिन हमें आगे बढ़ने की जरूरत◾UEA के नागरिकों को अब भारत आने पर सीधे मिलेगा वीजा◾महाराष्ट्र सरकार गठन : सोमवार को पवार सोनिया गांधी से करेंगे मुलाकात ◾विपक्ष ने संसद में अपनी संख्या बढ़ाई ◾बाल ठाकरे की पुण्यतिथि पर तेज हुई राजनीति◾PM मोदी ने राजपक्षे को भारत आने का दिया निमंत्रण◾प्रदूषण के मुद्दे पर केंद्र सोमवार को उत्तरी राज्यों के अधिकारियों के साथ करेगा उच्च स्तरीय बैठक ◾कर्नाटक उपचुनावों में उम्मीदवारों को भविष्य के मंत्री के तौर पर पेश कर रही है भाजपा ◾किसानो पर पुलिस बर्बरता शर्मनाक : प्रियंका◾नागरिकता विधेयक से लेकर आर्थिक सुस्ती पर विपक्ष के विरोध से शीतकालीन सत्र के गर्माने की संभावना ◾TOP 20 NEWS 17 November : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾मंत्री स्वाती सिंह के कथित आडियो पर प्रियंका गांधी ने सरकार को घेरा ◾अयोध्या मामले पर पुनर्विचार याचिका दाखिल करेगा मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड◾उपभोक्ता खर्च के आंकड़े छिपाने के आरोपों में चिदंबरम का केंद्र सरकार पर निशाना◾प्रियंका गांधी ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को वास्तविक मुद्दों पर फोकस करने का दिया निर्देश ◾

विदेश

भारत ने UNSC से कहा- पनाहगाह से चल रहीं दाऊद की अवैध गतिविधियां पैदा करती है वास्तिवक खतरा

भारत ने पाकिस्तान पर परोक्ष हमला करते हुए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद से कहा कि जब पनाहगाह में दाऊद इब्राहिम की मौजूदगी से इनकार किया जाता है तो वहां से चल रहीं दाऊद की अवैध गतिविधियां, यहां तक कि वजूद भी वास्तविक खतरा पैदा करते हैं। भारत ने डी कंपनी, जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा के खतरों को खत्म करने के लिए उनपर केन्द्रित तवज्जो देने का आह्वान किया। 

उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान के विदेश कार्यालय ने पिछले सप्ताह कहा था, ‘‘दाऊद इब्राहिम पाकिस्तान में नहीं है।’’ इससे एक दिन पहले ही ब्रिटेन की एक अदालत ने सूचित किया था कि 1993 में हुए मुंबई हमलों के लिए वांछित दाऊद इस समय पाकिस्तान में है। 

संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरूद्दीन ने ‘अंतरराष्ट्रीय शांति एवं सुरक्षा को खतरा: अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद और संगठित अपराध के बीच संबंध’ विषय पर सुरक्षा परिषद की बहस में कहा कि आतंकवादी संगठन धन एकत्र करने के लिए मानव तस्करी एवं प्राकृतिक संसाधनों में व्यापार करने जैसी आपराधिक गतिविधियों में भी शामिल हो रहे हैं। 

उन्होंने कहा कि इसी प्रकार, आपराधिक समूह आतंकवादियों के साथ हाथ मिला रहे हैं और जालसाजी, अवैध वित्तापोषण, हथियारों की सौदागरी, नशीले पदार्थों की तस्करी और आतंकवादियों को सीमा पार ले जाने जैसी सेवाएं मुहैया करा रहे हैं। अकबरूद्दीन ने कहा, "हमने अपने क्षेत्र में दाऊद इब्राहिम के आपराधिक सिंडिकेट को डी-कंपनी नाम के आतंकवादी नेटवर्क में बदलते देखता है।"

उन्होंने कहा, "डी कंपनी की अवैध आर्थिक गतिविधियों के बारे में हमारे क्षेत्र के बाहर अधिक लोग नहीं जानते हैं, लेकिन हमारे लिए सोने की तस्करी, जाली नोट जैसी गतिविधियां वास्तविक एवं मौजूदा खतरे हैं। हमारे लिए उस पनाहगाह से हथियारों और नशीले पदार्थों की तस्करी वास्तविक खतरा है जो दाऊद की मौजूदगी से भी इनकार करता है।"

उन्होंने जोर देकर कहा कि आईएसआईएस को ‘‘बेपर्दा’’ करने की सामूहिक कोशिश दर्शाती है कि परिषद यदि ध्यान केंद्रित करे तो परिणाम मिल सकते हैं और मिलते हैं। उन्होंने कहा, "प्रतिबंधित व्यक्तियों दाऊद इब्राहीम और उसकी डी-कंपनी के अलावा प्रतिबंधित संगठनों जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा के खतरों से निपटने में इसी प्रकार ध्यान केंद्रित करने से लाभ होगा।" विदेश मंत्रालय ने प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा है कि पाकिस्तान का दाऊद की मौजूदगी से इनकार करना उसके ‘‘दोहरे मापदंडों’’ को दर्शाता है।