BREAKING NEWS

UP : 27 महीने बाद जेल से बाहर आए आजम खान, अखिलेश यादव ने Tweet कर किया स्वागत◾भर्ती घोटाला मामले में लालू यादव की बड़ी मुश्किलें, बिहार से लेकर दिल्ली सहित CBI ने 17 ठिकानों पर मारी रेड ◾कृष्ण जन्मभूमि मामला : Court मस्जिद हटाने का अनुरोध करने वाली याचिका पर करेगी विचार ◾आज का राशिफल ( 20 मई 2022) ◾RCB vs GT ( IPL 2022 ) : कोहली के बल्ले से निकली आरसीबी की जीत और प्लेऑफ की उम्मीद◾पंजाब में कांग्रेस को पड़ी दोहरी मार : सिद्धू को एक साल की सजा, जाखड़ ने थामा भाजपा का दामन◾भारतीय मुक्केबाज निकहत जरीन बनीं विश्व चैंपियन , PM मोदी ने दी बधाई ◾ इंडोनेशिया के ऐलान से भारत को राहत, जल्द ही कम हो सकते हैं खाने के तेल के दाम◾ अदालत में दाखिल याचिका को लेकर भड़के ओवैसी, बोले- मुसलमानों के खिलाफ अविश्वास पैदा करने की हो रही कोशिश◾Gyanvapi News: ज्ञानवापी मस्जिद पर अभिनेत्री कंगना बोलीं- काशी के कण- कण में बसे हुए हैं भगवान शिव◾ RCB vs GT: गुजरात टाइटंस ने टॉस जीतकर किया बल्लेबाजी का फैसला, यहां देखे दोनो टीमों की प्लेइंग इलेवन◾Quad Summit 2022: टोक्यो में शुरू होगा मोदी का मिशन, 24 मई को जाएंगे जापान, दिग्गज नेताओं के साथ होगी बातचीत ◾UP: स्वतंत्रता सेनानियों पर भावुक होकर योगी बोले- पिछली सरकारो ने इनके आदर्शों पर नहीं किया काम◾DU को संबोधित करते हुए शाह ने कहा: नहीं होनी चाहिए राजनीतिक लड़ाई, जिक्र किया- रक्षा नीति का.... ◾Gyanvapi Survey: वाराणसी अदालत में 23 मई को होगी अगली सुनवाई, दर्ज की जा चुकी है सर्वे रिपोर्ट ◾ अमित शाह से मिले CM भगवंत मान, PAK से ड्रोन घुसपैठ को लेकर MHA से की ये बड़ी मांग◾1988 रोड रेज केस : एक साल की सजा पर बोले सिद्धू-कानून का सम्मान करूंगा◾Delhi High Court ने लगाई घर-घर राशन योजना पर रोक, कहा: दिल्ली सरकार नहीं कर सकती केंद्र के राशन का इस्तेमाल ◾'कुछ नेता ही कांग्रेस के राष्ट्रीय नेतृत्व को कर रहे हैं गुमराह', इस्तीफे के बाद बोले हार्दिक◾जिसका शिवपाल को था इंतजार.. वो घड़ी आ गई! आजम की जमानत का चाचा-भतीजे पर कैसा होगा असर? ◾

रक्षा बजट में कटौती का ‘‘सेना की जवाबी कार्रवाई की क्षमता’’ पर असर नहीं पड़ेगा : जनरल बाजवा

पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा ने कहा है कि एक साल के लिये अपने रक्षा बजट में कटौती करने के सेना के इस कदम का हर किस्म के खतरे से निपटने में उसकी ‘‘जवाबी कार्रवाई की क्षमता’’ पर कोई असर नहीं पड़ेगा। भारत के साथ लगती नियंत्रण रेखा के पास तैनात अपने सैनिकों के साथ ईद-उल-फित्र मनाने के लिये पहुंचे बाजवा ने ये बातें कहीं। 

वित्तीय संकट से जूझ रहे पाकिस्तान के वित्तीय समाधान के लिये सरकार ने मितव्ययिता मुहिम शुरू की है, इस बीच पाकिस्तान की सेना ने एक दुर्लभ कदम के तहत स्वेच्छा से अगले वित्तीय वर्ष के लिये रक्षा बजट में कटौती का फैसला किया है।

देश की सेना द्वारा पहली बार ऐसा अभूतपूर्व कदम उठाये जाने पर टिप्पणी करते हुए सेना प्रमुख जनरल बाजवा ने बुधवार को आश्वत किया कि रक्षा बजट में स्वेच्छा से की गयी कटौती का सेना की ‘‘जवाबी कार्रवाई की क्षमता’’ पर कोई असर नहीं पड़ेगा। 

नियंत्रण रेखा के पास सैनिकों के साथ ईद-उल-फित्र मनाने पहुंचे बाजवा ने कहा कि यह एक फौजी के लिये सबसे बेहतर ईद है क्योंकि उन्हें ऐसे त्यौहार के मौके पर अपने परिवार से दूर रहकर भी अपनी मातृभूमि की रक्षा के लिये ड्यूटी पर तैनात होने का गौरव मिला है। 

बातचीत के दौरान सैनिकों में जोश भरते हुए उन्होंने कहा, ‘‘पाकिस्तान के रक्षकों, हमारा पहला परिवार पाकिस्तान देश है और फिर हमारा घर।’’ सालाना रक्षा बजट में नियमित बढ़ोत्तरी को स्वेच्छा से त्यागने के फैसले पर सेना प्रमुख ने कहा, ‘‘यह पहल देश पर कोई एहसान नहीं है क्योंकि हम सब सुख दुख के साथी हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘वेतन नहीं बढ़ाने का फैसला सिर्फ अधिकारियों पर लागू होगा, अन्य सैनिकों पर नहीं।’’