BREAKING NEWS

दिल्ली में समाप्ती की ओर कोरोना, 24 घंटे में 135 नए मामले, 7 मरीजों की गई जान◾24 जून को पीएम मोदी ने बुलाई सर्वदलीय मीटिंग, कांग्रेस बोली- केंद्र से नहीं मिला कोई निमंत्रण ◾पंचत्व में विलीन हुए फ्लाइंग सिंख मिल्खा सिंह, राजकीय सम्मान के साथ हुआ अंतिम संस्कार◾आगरा के पारस अस्पताल को क्लीन चिट मिले पर प्रियंका बोली- सरकार ने न्याय की उम्मीद खत्म की◾यूपी चुनावों से पहले भाजपा ने पूर्व IAS एके शर्मा को दी बड़ी जिम्मेदारी, नियुक्त किया प्रदेश उपाध्यक्ष ◾तीन महीने बाद उत्तर प्रदेश में कम हुए कोरोना के एक्टिव केस, 24 घंटे में सामने आये संक्रमण के 294 नए मामले◾ओम बिरला द्वारा उठाए गए कदमों ने हमारे संसदीय लोकतंत्र को समृद्ध किया : PM मोदी◾गाजियाबाद : बुजुर्ग के साथ मारपीट मामले में सपा नेता उम्मेद पहलवान गिरफ्तार◾हम लोकतंत्र, संविधान और कानून के साथ समझौता नहीं कर सकते : राज्यपाल धनखड़◾राजस्थान में 'राजे ही भाजपा, भाजपा ही राजे' से मचा कोहराम, पूनिया बोले- पार्टी का संविधान सर्वोपरि◾अनलॉक में मिली ढील... कहीं बन ना जाए कोरोना की डील, केंद्र का राज्यों को आदेश अपनाए '3T+V' फॉर्मूला◾IAF में 2022 तक 36 राफेल को शामिल करने का लक्ष्य, LAC विवाद पर चीन के साथ बातचीत जारी : भदौरिया ◾CBSE 12वीं परीक्षा की रिजल्ट स्‍कीम से असंतुष्‍ट छात्रों ने सुप्रीम कोर्ट में दी चुनौती◾मिल्खा को जिंदगी ने दिए काफी जख्म, संघर्षो की नींव पर उपलब्धियों की गाथा लिखने वाला बना 'फ्लाइंग सिख'◾AIIMS चीफ की चेतावनी- 2 महीने के अंदर भारत में कोरोना की तीसरी लहर दे सकती है दस्तक ◾150 दिनों में 30 करोड़ लोगों को लगाई गई कोरोना वैक्सीन, जो बाइडेन ने घोषित किया 'समर ऑफ जॉय'◾असम में 4.2 तीव्रता का भूकंप, पूर्वोत्तर क्षेत्र में 24 घंटे में पांच बार हिली धरती ◾Covid 19 : देशभर में पिछले 24 घंटे में 60753 नए केस, कोरोना संक्रमण से 1,647 लोगों ने गंवाई जान ◾विश्वभर में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 17.77 करोड़, मृतकों की संख्या 38.4 लाख से अधिक◾नहीं रहे महान एथलीट मिल्खा सिंह, राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री समेत कई नेताओं ने जताया शोक◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

म्यांमार में सेना ने खेली 'खून की होली', 12 देशों के रक्षा प्रमुखों ने की हिंसा की निंदा

म्यांमार में सेना के तख्तापलट के खिलाफ लोगों का विरोध प्रदर्शन जारी है। शनिवार को सेना ने देश की राजधानी नायपिटाव में वार्षिक सैन्य दिवस पर परेड किया। लेकिन शांतिपूर्ण आंदोलन को कुचलने के लिए सेना ने दर्जनों लोगों को मौत के घाट उतार दिया। 12 देशों के रक्षा प्रमुखों ने इस हिंसा की निंदा की। 

समाचार एजेंसी डीपीए के मुताबिक, अमेरिका, ब्रिटेन, जर्मनी, इटली, डेनमार्क, ग्रीस, नीदरलैंड्स, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, दक्षिण कोरिया और जापान ने म्यांमार में विरोध प्रदर्शन के सबसे घातक दिन में दर्जनों लोगों के मारे जाने के एक दिन बाद संयुक्त बयान जारी किया। म्यांमार में 1 फरवरी को सेना ने तख्तापलट किया था। 

बयान में कहा गया है, "हम म्यांमार सशस्त्र बल और संबंधित सुरक्षा सेवाओं द्वारा निहत्थे लोगों के खिलाफ घातक बल के इस्तेमाल की निंदा करते हैं।" सैन्य प्रमुखों ने म्यांमार की सशस्त्र सेनाओं से हिंसा को रोकने और "म्यांमार के लोगों के साथ सम्मान और विश्वसनीयता बहाल करने के लिए काम करने का आग्रह किया, जो कि उसने अरने कृत्यों से खो दिया है।"

इसमें कहा गया, "एक पेशेवर सेना अपने आचरण के लिए अंतर्राष्ट्रीय मानकों का पालन करती है और रक्षा करने के लिए जिम्मेदार होती है न कि नुकसान पहुंचाने के लिए।" म्यांमार की सेना ने विरोध प्रदर्शन के बीच शनिवार को परेड और भाषणों के साथ सशस्त्र सेना दिवस मनाया। 

लोगों के आंदोलन को दबाने के लिए म्यांमार में सेना की ओर से की गई अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई है। ऑनलाइन न्यूज वेबसाइट म्यांमार नाऊ की रिपोर्ट के मुताबिक शनिवार को सेना की गोलीबारी में मरने वालों की संख्या 114 तक पहुंच गई। यंगून में एक स्वतंत्र शोधकर्ता के मुताबिक सेना ने दो दर्जन से ज्यादा शहरों और कस्बों में आंदोलित लोगों के खिलाफ गोलीबारी की जिसमें 100 से ज्यादा लोग मारे गए।