BREAKING NEWS

जल्द CNG और PNG के दाम होंगे कम, सरकार ने शहर गैस वितरण कंपनियों को बढ़ाई आपूर्ति◾जातिगत जनगणना के बहाने ओमप्रकाश राजभर का नीतीश सरकार पर तंज- 'जल्द साबित करिये कि आप...' ◾'उपराष्ट्रपति बनने की इच्छा' BJP के आरोपों को CM नीतीश ने नकारा, बोले- 'जिसको जो बोलना है बोलते रहें'◾SCO Summit 2022: भारत-पाकिस्तान के प्रधानमंत्री की होगी मुलाकात, 6 साल बाद दिखेगा ये नजारा◾गृहमंत्रालय की गाइड लाइन्स : 15 अगस्त के कार्यक्रमों में न बजें फ़िल्मी गाने , इन नियमों का हो पालन ◾सुशील मोदी पर भड़के सीएम नीतीश, पूर्व उपमुख्यमंत्री के दावों को बताया 'बकवास'◾मप्र: जेल में बंद भाइयों को राखी बांधने पहुंची बहनें , अनुमति न मिलने पर किया चक्काजाम◾महाराष्ट्र: एकनाथ शिंदे के 'मिनी कैबिनेट' में 75 फीसदी मंत्रियों के खिलाफ दर्ज अपराधिक मामले◾ गोवा सीएम का केजरीवाल पर पलटवार, बोले- स्कूल चलाने के लिए हमें सलाह की नहीं जरूरत ◾नीतीश को अवसरवादी बताने पर तेजस्वी का भाजपा पर तंज - जो बिकेगा उसे खरीद लो है इनकी नीति ◾प्रधानमंत्री ने पीएमओ में कार्यरत कर्मचारियों की बेटियों से बंधवाई राखी, देशवासियों को दी शुभकामनायें ◾शिवसेना का बीजेपी पर प्रहार, कहा- मोदी के लिए नीतीश ने खड़ा किया तूफ़ान◾28 अगस्त को महंगाई पर 'हल्ला बोल रैली' करेगी कांग्रेस, कहा - पीएम हताश है और जनता त्रस्त ◾जगदीप धनखड़ ने उपराष्ट्रपति पद की शपथ ली, राजघाट जा कर महात्मा गांधी को दी श्रद्धांजलि ◾मेस का खाना देखकर रोया कॉन्स्टेबल, बोला- मिलती हैं पानी वाली दाल और कच्ची रोटियां◾बिहार में मंत्रिमंडल को लेकर RJD की नजर 'ए टू जेड' पर, मंत्रियों की सूची पर लालू लगाएंगे अंतिम मुहर ◾बिज़नेस टाइकून एलन मस्क ने टेस्ला में अपने 80 लाख शेयर बेचे, क्या फिर करने जा रहे है बड़ा धमाका ◾राजस्‍थान : गौवंश पर कहर बनकर टूटा लम्‍पी रोग, हजारों मवेशियों की मौत के बाद पशु मेलों पर रोक◾गुरुग्राम के क्लब में बाउंसर ने की लड़की से छेड़छाड़, विरोध करने पर दोस्तों से हुई मारपीट, सात लोग गिरफ्तार◾ताइवान के खिलाफ चीन की 'आक्रामकता' पर ब्रिटेन सख्त, उठाया ये कदम ◾

EU ने की पेगासस स्पाइवेयर के इस्तेमाल से हैकिंग की निंदा, कहा- अधिकारों की रक्षा के लिए जल्द बनना चाहिए कानून

यूरोपीय संघ के ब्लॉक न्याय आयुक्त डिडिएर रेयंडर्स ने यूरोपीय संसद में कहा कि पेगासस स्पाइवेयर घोटाले के बाद कार्यकर्ताओं, पत्रकारों और राजनेताओं के अधिकारों की रक्षा के लिए तेजी से कानून बनाया जाना चाहिए और अवैध टैपिंग के अपराधियों पर मुकदमा चलाया जाना चाहिए। द गार्जियन के मुताबिक, रेयंडर्स ने एमईपी को बताया कि यूरोपीय आयोग ने राष्ट्रीय सुरक्षा सेवाओं द्वारा अपने फोन के माध्यम से राजनीतिक विरोधियों के खिलाफ अवैध रूप से जानकारी जुटाने के कथित प्रयासों की पूरी तरह से निंदा की।

उन्होंने कहा, "कोई संकेत है कि गोपनीयता में इस तरह की घुसपैठ वास्तव में हुई है, तो इसकी पूरी तरह से जांच की जानी चाहिए और संभावित उल्लंघन के लिए सभी जिम्मेदार लोगों को न्याय के कटघरे में लाया जाना चाहिए। यह निश्चित रूप से यूरोपीय संघ के प्रत्येक सदस्य राज्य की जिम्मेदारी है, और मुझे उम्मीद है कि पेगासस के मामले में सक्षम अधिकारी आरोपों की पूरी तरह से जांच करेंगे और विश्वास बहाल करेंगे।"

रिपोर्ट के मुताबिक, रेयंडर्स ने कहा कि यूरोपीय संघ की कार्यकारी शाखा हंगरी के डेटा संरक्षण प्राधिकरण की जांच का बारीकी से पालन कर रही है, जिसमें दावा किया गया है कि आक्रामक पेगासस स्पाइवेयर के साथ पत्रकारों, मीडिया मालिकों और विपक्षी राजनीतिक हस्तियों को निशाने पर लेने में वालों में सरकार भी शामिल थी। 

उन्होंने कहा, "विभिन्न रिपोर्टों से पता चला है कि कुछ राष्ट्रीय सुरक्षा सेवाओं ने राजनीतिक विरोधियों और पत्रकारों सहित नागरिकों, उपकरणों तक सीधी पहुंच के लिए पेगासस स्पाइवेयर का इस्तेमाल किया।" उन्होंने आगे कहा कि "मैं शुरुआत में ही सही बात कह दूं कि आयोग सिस्टम तक किसी भी अवैध पहुंच या संचार के किसी भी प्रकार के सामुदायिक उपयोगकर्ता के अवैध जाल या अवरोधन की पूरी तरह से निंदा करता है। यह पूरे यूरोपीय संघ में एक अपराध है।"