BREAKING NEWS

असम में गरजे अमित शाह- कांग्रेस बताए इतने सालों तक रक्तरंजित क्यों रहा राज्य◾कृषि कानून को लेकर 60वें दिन आंदोलन जारी, 26 जनवरी पर ट्रैक्टर रैली की तैयारी में जुटे किसान ◾LAC विवाद : भारत और चीन के बीच कॉर्प्स कमांडर स्तर की बैठक मोल्डो में जारी ◾दिल्ली में आधी रात को लगे 'पाकिस्तान जिंदाबाद' के नारे, छह लोगों को पूछताछ के बाद छोड़ा◾गणतंत्र दिवस पर 2 बजे के बाद खुलेगी कनॉट प्लेस मार्केट, बंद रहेंगे ये 4 मेट्रो स्टेशन◾उत्तर भारत में सर्दी का सितम जारी, शीतलहर से फिर कांपेगी राजधानी दिल्ली ◾राहुल गांधी का तंज- जनता महंगाई से त्रस्त, मोदी सरकार टैक्स वसूली में मस्त◾CM उद्धव ठाकरे की साइन की हुई फाइल से छेड़छाड़, PWD इंजीनियर के खिलाफ जांच के दिए थे आदेश◾BJP सांसद साक्षी महाराज का आरोप-कांग्रेस ने कराई थी नेताजी की हत्या◾देश में कोरोना के 14849 नए मामलों की पुष्टि, पॉजिटिव केस 1 करोड़ 65 लाख के पार ◾TOP 5 NEWS 24 JANUARY : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें ◾दुनियाभर में कोरोना वायरस का प्रकोप जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 9.86 करोड़ तक पहुंचा◾ममता बनर्जी के लिये ‘जय श्री राम’ का नारा सांड को लाल कपड़ा दिखाने के समान है : अनिल विज◾ सात और राज्य अगले सप्ताह से स्वदेशी तौर पर विकसित ‘कोवैक्सीन’ टीका लगाएंगे : स्वास्थ्य मंत्रालय ◾ वायुसेना प्रमुख भदौरिया बोले- भारत पांचवीं पीढ़ी के लड़ाकू विमानों पर काम कर रहा है◾आज का राशिफल (24 जनवरी 2021)◾गुजरात में फरवरी में होंगे स्थानीय निकाय चुनाव ◾लालू प्रसाद यादव को दिल्ली के एम्स में भर्ती कराया गया ◾जय श्रीराम के नारों की नुसरत जहां ने की निंदा, कहा-राम का नाम गले लगाकर बोलें, गला दबाकर नहीं◾केंद्र पूर्वोत्तर को दुनिया के नक्शे पर क्षेत्र में प्रगति और समृद्धि लाने में कोई कसर नहीं छोड़ रही : अमित शाह ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

PM बेंजामिन नेतन्याहू के लिए लोगों ने कहा- ''बीबी आप मेरा भविष्य बर्बाद कर रहे हैं''

भ्रष्टाचार के आरोपों में घिरे इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के इस्तीफे की मांग को लेकर देश के हज़ारों लोगों ने देश के अलग-अलग हिस्सों में प्रदर्शन किए। प्रदर्शनकारियों का आरोप है कि नेतन्याहू कोरोना वायरस महामारी से उचित तरीके से निपटने में विफल रहे हैं। प्रदर्शनकारी शनिवार शाम देशभर में सैकड़ों अलग-अलग स्थानों पर एकत्र हुए। यरूशलम में नेतन्याहू के आधिकारिक आवास के बाहर जहां आमतौर पर प्रदर्शन होते हैं, वहां देश में लगे लॉकडाउन के कारण प्रदर्शन करने की अनुमति नहीं है।

लॉकडाउन के नियमों के अनुसार लोग अपने घरों के एक किलोमीटर के दायरे में रहकर ही प्रदर्शन कर सकते हैं। इनमें सबसे बड़ा प्रदर्शन तेल अवीव के हबीमा स्क्वेयर पर हुआ, जहां हजारों प्रदर्शनकारी एकत्रित हुए। कुछ लोगों ने बैनर पकड़ रखे थे जिन पर लिखा था, ‘‘बीबी (नेतन्याहू को देश में इस नाम से भी पुकारा जाता है) आप मेरा भविष्य बरबाद कर रहे हैं।’’ तेल अवीव और यरूशलम में पुलिस तथा प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प भी हुई। नेतन्याहू के खिलाफ धोखाधड़ी, विश्वासघात और रिश्वतखोरी के मामले चल रहे हैं।

प्रदर्शनकारी बीते चार महीने से हर सप्ताहांत उनके खिलाफ प्रदर्शन करते हैं और उनके इस्तीफे की मांग करते हैं। नेतन्याहू ने सभी आरोपों को खारिज करते हुए प्रदर्शनकारियों को ‘वामपंथी’ और ‘अराजकतावादी’ बताया है। नेतन्याहू के खिलाफ चल रहे मामलों, कोविड-19 महामारी से निपट पाने में सरकार की विफलता और लड़खड़ाती अर्थव्यवस्था के चलते उनकी सरकार पर दबाव बढ़ा है।