BREAKING NEWS

उत्तर प्रदेश: अखिलेश यादव पर राजभर ने कसा तंज, कहा - साढ़े चार साल खेलेंगे लूडो और चाहिए सत्ता◾ पीएम मोदी ने गांधी जयंती पर राजघाट पहुंचकर बापू को किया नमन, राहुल से लेकर इन नेताओं ने भी राष्ट्रपिता को किया याद ◾महाराष्ट्र: शिंदे सरकार का कर्मचारियों के लिए नया अध्यादेश जारी, अब हैलो या नमस्ते नहीं 'वंदे मातरम' बोलना होगा◾Gandhi Jayanti: संयुक्त राष्ट्र की सभा में 'प्रकट' हुए महात्मा गांधी, 6:50 मिनट तक दिया जोरदार भाषण◾आज का राशिफल (02 अक्टूबर 2022)◾सीआरपीएफ, आईटीबीपी के नये महानिदेशक नियुक्त किये गये◾दिल्ली सरकार की चेतावनी - अगर सड़कों पर पुराने वाहन चलते हुए पाये गए तो उन्हें जब्त किया जाएगा◾Kanpur Tractor-Trolley Accident : ट्रैक्टर-ट्राली तालाब में गिरने से 22 से ज्यादा लोगों की मौत, PM मोदी और CM योगी ने हादसे पर जताया दुख◾Madhya Pradesh: कलेक्टर के साथ अभद्र व्यवहार करने पर, बसपा विधायक रामबाई परिहार के खिलाफ मामला दर्ज◾मनसुख मांडविया बोले- ‘रक्तदान अमृत महोत्सव’ के दौरान ढाई लाख लोगों ने रक्त दान किया◾उपमुख्यमंत्री सिसोदिया बोले- हर बच्चे के लिए मुफ्त और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा की व्यवस्था जरूरी◾इदौर ने दोबार रचा इतिहास, लगातार छठी बार बना देश का सबसे स्वच्छ शहर, जानें 2nd, 3rd स्थान पर कौन रहा◾मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने 100 साल पार के बुजुर्ग मतदाताओं को लिखा पत्र, चुनाव में हिस्सा लेने के लिए जताया आभार◾UP News: यूपी के चंदौली में हादसा, दीवार गिरने से चार मजदूरों की मौत, नींव से ईट निकालने का हो रहा था काम ◾Congress President Election: केएन त्रिपाठी का नामांकन पत्र खारिज, अब खड़गे-थरूर के बीच महामुकाबला ◾Baltic Sea : बाल्टिक सागर में मीथेन लीक होने से भारी विस्फोट, UN ने जताई चिंता◾ 5G से नये युग की शुरूआत, Airtel ने कहा- आठ राज्यों में 5G की सेवाएं शुरू होने जा रही, 2024 तक का लक्ष्य ◾घपला, घोटाला और गरीबी...अखिलेश यादव ने समझाया 5G का असली अर्थ ◾दिल्ली हाई कोर्ट से सत्येंद्र जैन को झटका! धन शोधन मामले के ट्रांसफर को चुनौती देने वाली याचिका खारिज◾UP News: कांग्रेस का फैसला- बृजलाल खाबरी को यूपी कांग्रेस का बनाया अध्यक्ष, अजय कुमार की ली जगह◾

अगले तीन से चार महीनों तक ईंधन की कीमतों में वृद्धि जारी रहेगी : पाकिस्तान सरकार

पाकिस्तान सरकार ने कहा है कि अगले तीन से चार महीनों तक ईंधन की कीमतों में वृद्धि जारी रहेगी और उसके बाद नवंबर-दिसंबर से कीमतें नीचे आना शुरू होंगी। डॉन अखबार ने शनिवार को अपनी रिपोर्ट यह जानकारी दी है।

देश के ऊर्जा मंत्रियों खुर्रम दस्तगीर और मुसादिक मलिक ने कहा कि पिछली सरकार ने कीमत के लिए कानूनी मजबूरियों का हवाला देते हुए हाथ मिलाया था और इसमें सुधार लाने के कदमों को उठाये बिना लोगों को नाजुक हालत से बाहर निकलने का और कोई विकल्प नहीं है।

कानूनों में बदलाव के कारण पैदा हुई स्थिति 

दोनों मंत्रियों ने कहा कि पिछली पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ़ (पीटीआई) सरकार बिजली और प्राकृतिक गैस के लिए मूल्य समायोजन में देरी करती रही और ये नियामकों से टैरिफ निर्धारण के बाद और नई सरकार के पास बैकलॉग को दूर करने के अलावा कोई विकल्प नहीं बचा है। यह सब स्थिति कानूनों में बदलाव के कारण पैदा हुई है।

उन्होंने यह भी कहा कि पिछली सरकार ने जब एलएनजी, कोयले और फर्नेस ऑयल की कीमतों में कमी आयी थी उस समय ईंधन आयात की व्यवस्था नहीं की और जबकि विश्व बैंक तथा अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) जैसे अंतरराष्ट्रीय ऋणदाता कोविड के झटके से उबरने के लिए सस्ता और बिना शर्त ऋण प्रदान कर रहे थे।

अंतिम चरण में कानून को बदल दिया

उन्होंने कहा कि नयी सरकार के आने तक न केवल इन ईंधन की कीमतों में 300 से 400 प्रतिशत की वृद्धि हो चुकी थी। अपितु ये वस्तुएं किसी भी कीमत पर बाजार में उपलब्ध नहीं थीं।

उन्होंने कहा कि तेल और गैस नियामक प्राधिकरण (ओगरा) नियमित रूप से गैस की कीमतों में वृद्धि कर रहा था, लेकिन पीटीआई सरकार ने इसे तीन साल से अधिक समय तक अधिसूचित नहीं किया और केवल अंतिम चरण में कानून को बदल दिया।