BREAKING NEWS

Ladakh News: लद्दाख दुर्घटना को लेकर देशवासियों को लगा जोरदार झटका, पीएम मोदी समेत कई बड़े नेताओं ने जताया दुख◾ UCC लागू करने की दिशा में उत्तराखंड सरकार ने बढ़ाया कदम, CM धामी बताया कब से होगा लागू◾UP News: योगी पर प्रहार करते हुए अखिलेश यादव बोले- यूपी को किया तहस नहस! शिक्षा व्यवस्था पर भी कसा तंज◾ Gyanvapi Case: सोमवार को हिंदू और मुस्लिम पक्ष को मिलेंगी सर्वे की वीडियो और फोटो◾ RR vs RCB ipl 2022: राजस्थान ने टॉस जीतकर किया गेंदबाजी का फैसला, यहां देखें दोनों टीमों की प्लेइंग XI◾नेहरू की पुण्यतिथि पर राहुल गांधी का मोदी पर प्रहार, बोले- 8 सालों में भाजपा ने लोकतंत्र को किया कमजोर◾Sri Lanka crisis: आर्थिक संकट के चलते श्रीलंका में निजी कंपनियां भी कर सकेगी तेल आयात◾ नजर नहीं है नजारों की बात करते हैं, जमीं पे चांद सितारों की बात करते...शायराना अंदाज में योगी का विपक्ष पर निशाना ◾मंकीपॉक्स की चपेट में आए 20+ देश! जानें कैसे फैल रही यह बिमारी.. WHO ने दी अहम जानकारियां ◾Ladakh Accident News: लद्दाख के तुरतुक में हुआ खौफनाक हादसा, सेना की गाड़ी श्योक नदी में गिरी, 7 जवानों की हुई मौत◾ कर्नाटक में हिन्दू लड़के को मुस्लिम लड़की से प्यार करने की मिली सजा, नाराज भाईयों ने चाकू से गोदकर की हत्या◾कांग्रेस को मझदार में छोड़ अब हार्दिक पटेल कर रहे BJP के जहाज में सवारी की तैयारी? दिए यह बड़े संकेत ◾RBI ने कहा- खुदरा महंगाई पर दबाव डाल सकती है थोक मुद्रास्फीति की ऊंची दर◾ SC से सपा नेता आजम खान को राहत, जौहर यूनिवर्सिटी के हिस्सों को गिराने की कार्रवाई पर रोक◾आर्यन खान केस में पूर्व निदेशक की जांच में थी गलतियां.. NCB ने कबूली यह बात, जानें वानखेड़े की प्रतिक्रिया ◾ शेख जफर से बना चैतन्य सिंह राजपूत...,MP के मुस्लिम शख्स ने अपनाया सनातन धर्म ◾कांग्रेस में फिर दोहरा रहा इतिहास? पंजाब की तरह राजस्थान में CM गहलोत के खिलाफ बन रहा माहौल... ◾ J&K : TV एक्ट्रेस अमरीन भट्ट के परिजनों से मिलीं महबूबा मुफ्ती, बोलीं- बेगुनाहों का खून बहाना रोज का मामूल बन गया ◾गुजरात बंदरगाह पर मिली ड्रग्स को लेकर कांग्रेस ने सरकार पर साधा निशाना, कहा- देश को बताएं किसका संरक्षण है ◾Maharashtra: कोरोना ने फिर एक बार सरकार की बढ़ाई चिंता, जानें- CM ठाकरे ने जनता से क्या कहा? ◾

जर्मनी, ऑस्ट्रेलिया ने भी कश्मीर यात्रा को लेकर सलाह जारी की

अमरनाथ यात्रियों और पर्यटकों को यथाशीघ्र कश्मीर घाटी से वापस जाने संबंधी जारी परामर्श के परिप्रेक्ष्य में ब्रिटेन, जर्मनी और ऑस्ट्रेलिया ने अपने नागरिकों के लिए कश्मीर यात्रा को लेकर सलाह जारी की है। 

ब्रिटिश सरकार ने अपने नागरिकों को आतंकवाद प्रभावित जम्मू-कश्मीर में यात्रा के दौरान सतर्कता बरतने और स्थानीय अधिकारियों के परामर्श का अनुसरण करने को कहा है। नयी दिल्ली स्थित ब्रिटिश उच्चायोग भी घटनाक्रम पर नजर रखे हुए हैं। 

ब्रिटिश विदेश मंत्रालय के मुताबिक कश्मीर घाटी में बम विस्फोट, ग्रेनेड हमला, गोलीबारी और अपहरण समेत अप्रत्याशित हिंसा के जोखिम के मद्देनजर अपने नागरिकों को वहां की यात्रा न करने की सलाह दी गयी है।

 

जर्मनी ने अपने नागरिकों के लिए इसी तरह की सलाह जारी की है। जर्मन सरकार ने कहा है कि श्रीनगर समेत घाटी के इलाकों की यात्रा उचित नहीं है। सरकार ने अपने नागरिकों से घटनाक्रमों से लगतार अवगत रहने को कहा है। 

आस्ट्रेलिया सरकार ने भी अपने नागरिकों को कश्मीर यात्रा के दौरान खतरे को लेकर सतर्क रहने को कहा है। 

उल्लेखनीय है कि जम्मू-कश्मीर में तेजी से बदले घटनाक्रमों के बीच सरकार ने आंतरिक सुरक्षा स्थिति के आकलन के आधार पर जहां राज्य में अतिरिक्त सुरक्षा बलों को तैनात किये जाने का निर्णय लिया है वहीं आतंकवादियों की धमकियों के मद्देनजर शुक्रवार को अमरनाथ यात्रियों और पर्यटकों से यथासंभव घाटी छोड़ने की सलाह दी। 

गृह विभाग के प्रधान सचिव शालीन काबरा की ओर से जारी परामर्श के मुताबिक आतंकवादियों की धमकी और वर्तमान स्थिति को देखते हुए श्रद्धालु और पर्यटकों से कहा गया है कि वे अपनी यात्रा अवधि में कटौती करके घाटी से चले जायें।