BREAKING NEWS

गणतंत्र दिवस : सरकार ने पद्म पुरस्कारों का किया ऐलान, CDS रावत समेत अन्य हस्तियों को दिया जाएगा सम्मान ◾गणतंत्र दिवस : सरकार ने पद्म पुरस्कारों का किया ऐलान, CDS रावत समेत अन्य हस्तियों को दिया जाएगा सम्मान ◾गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का संबोधन- अधिकार और कर्तव्य एक सिक्के के दो पहलू◾दिल्ली कोरोना : बीते 24 घंटों में आए 6,028 मामले, 31 लोगों की हुई मौत ◾RRB-NTPC रिजल्ट को लेकर बिहार में रेलवे ट्रैक पर उतरे छात्र, कई ट्रेनों के मार्ग में बदलाव ◾BJP के बागी नेता मौर्य की बेटी संघमित्रा का बयान, पिताजी की बात PM मोदी तक पहुंची, वह शीघ्र करेंगे समाधान ◾UP चुनाव में अब नहीं है धर्म का फंदा, बाबरी मस्जिद नहीं मुसलमानों के लिए राज्य का विकास अहम मुद्दा ◾Delhi NCR में सीजन का सबसे ठंडा दिन दर्ज किया गया, सामान्य से 4.5 डिग्री कम रहा तापमान◾उत्तराखंड: सतपाल महाराज की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, कांग्रेस हरक सिंह रावत पर दांव खेलने का कर रही विचार ◾धर्म या जिन्ना पर नहीं विकास पर हो बात, प्रियंका बोलीं- BJP नहीं जानती शासन, ध्रुवीकरण की कर रहे राजनीति ◾ नीरज चोपड़ा को पर‍म विशिष्‍ट सेवा मेडल से सम्‍मानित किया जाएगा, जानिए और किन लोगों को मिलेगा पुरस्कार◾देर आया दुरुस्त आया! RPN बोले- कांग्रेस में नहीं रही 32 साल पहले वाली बात, BJP की नीतियों से हूं प्रभावित ◾यूपी : JDU ने जारी की 20 उम्मीदवारों की सूची, BJP से गठबंधन का जवाब न आने पर अकेले लड़ रही चुनाव ◾CM केजरीवाल का एलान- कार्यालय में अंबेडकर और भगत सिंह की लगेंगी तस्वीरें, जानें इसके पीछे के सभी समीकरण◾राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर उप राष्ट्रपति ने दिया बयान, अगले लोकसभा चुनाव में कम से कम 75 % होना चाहिए मतदान ◾राहुल का हाथ छोड़ अब BJP का कमल खिलाएंगे RPN, कांग्रेस बोली- 'कायर' नहीं लड़ सकते हमारी लड़ाई... ◾अपना दल ने पहले और दूसरे चरण के लिए स्टार प्रचारकों की लिस्ट जारी की, जानें- किन किन नेताओं का है नाम?◾नमो ऐप के जरिए बोले पीएम मोदी- पहले देश, फिर दल, यह हमेशा हमारे कार्यकर्ताओं के लिए भाजपा का मंत्र रहा है◾Himachal: शादी में बर्फबारी बनी रोड़ा, तो शादी करने JCB लेकर पहुंचा दूल्हा◾RPN ने चुनावी मजधार में छोड़ा कांग्रेस का साथ, सोनिया को भेजा इस्तीफा, बोले- नए अध्याय की शुरुआत ◾

तालिबान राज में आखिरकार शुरू हुई लड़कियों की पढ़ाई, अफगानिस्तान के 3 प्रांतों में खुले बालिका विद्यालय

तालिबान के अफगानिस्तान पर कब्जा करने के बाद पहली बार कुंदुज, बल्ख और सर-ए-पुल प्रांतों के स्कूलों में छात्राओं की वापसी होने लगी है। टोलो न्यूज ने बताया कि बल्ख के प्रांतीय शिक्षा विभाग के प्रमुख जलील सैयद खिली ने कहा कि सभी बालिका विद्यालय खुल गए हैं। उन्होंने कहा, हमने लड़कियों और लड़कों को अलग- अलग कर दिया है।

बल्ख की राजधानी मजार-ए-शरीफ में एक महिला छात्र सुल्तान रजिया (जिस स्कूल में 4,600 से अधिक छात्र और 162 शिक्षक हैं) उन्होंने कहा, शुरूआत में, कुछ छात्र स्कूल आ रहे थे, लेकिन अब उनकी संख्या बढ़ती जा रही है। स्कूल के एक अन्य छात्र, तबस्सोम ने कहा, शिक्षा हमारा अधिकार है। हम अपने देश को बेहतर बनाना चाहते हैं और कोई भी हमसे शिक्षा का अधिकार नहीं ले सकता या किसी को अधिकार नहीं लेना चाहिए। 

बल्ख शिक्षा विभाग के आंकड़ों के अनुसार, प्रांत में लगभग 50,000 छात्रों के साथ 600 से अधिक स्कूल खुल गये हैं। पिछले महीने, तालिबान द्वारा नियुक्त शिक्षा मंत्रालय ने घोषणा की थी कि केवल लड़कों के स्कूल फिर से खुलेंगे और केवल पुरुष शिक्षक ही अपनी नौकरी फिर से शुरू कर सकते हैं। हालांकि, मंत्रालय ने महिला शिक्षकों या लड़कियों के स्कूल लौटने के बारे में कुछ नहीं कहा है। 

शिक्षा मंत्रालय की संख्या के आधार पर, वर्तमान में अफगानिस्तान में 14,098 स्कूल संचालित होते हैं, जिनमें से 4,932 स्कूल 10-12 ग्रेड के छात्र हैं, 3,781 ग्रेड 7-9 से और 5,385 ग्रेड 1-6 तक के हैं। आंकड़ों के मुताबिक, कुल स्कूलों में से कक्षा 10-12 के 28 प्रतिशत, 7-9 के 15.5 प्रतिशत और कक्षा 1-6 के 13.5 प्रतिशत बालिका विद्यालय हैं। 

संस्कृति और सूचना मंत्रालय के सांस्कृतिक आयोग के सदस्य सईद खोस्ती ने कहा, तकनीकी समस्याएं हैं। ऐसी समस्याएं हैं, जिन्हें मौलिक रूप से हल किया जाना चाहिए और नीति और ढांचा बनाने की आवश्यकता है। ढांचे में इस बात का सामाधान होना चाहिए कि हमारी लड़कियों को अपनी पढ़ाई कैसे जारी रखनी चाहिए। जब इन समस्याओं का समाधान हो जाएगा, तो सभी लड़कियां स्कूल जा सकती हैं। बहरहाल , छात्राओं ने कहा कि तालिबान द्वारा हाल ही में लिया गया फैसला निराशाजनक है और लड़कियों और महिलाओं को अधिकारों को खोने का डर है।