BREAKING NEWS

प्रियंका गांधी वाड्रा ने UP में त्वरित सुनवायी अदालत के गठन में देरी पर सवाल उठाया ◾भाजपा ने अपने सांसदों के लिए व्हिप किया जारी , 11 दिसंबर तक सदन में रहें मौजूद ◾तिरुवनंतपुरम टी-20 : शिवम के अर्धशतक पर भारी सिमंस की पारी, विंडीज ने की बराबरी◾मोदी ने पूर्वोत्तर राज्यों, जम्मू-कश्मीर व लद्दाख को सर्वोच्च प्राथमिकता दी : जितेंद्र सिंह ◾PM मोदी ने महिलाओं को सुरक्षित महसूस कराने में प्रभावी पुलिसिंग की भूमिका पर जोर दिया ◾भाजपा 2022 के मुंबई नगर निकाय चुनाव अकेले लड़ेगी ◾देश में आग की नौ बड़ी घटनाएं ◾भाजपा पर सवाल उठाने वाली कांग्रेस पहले 70 साल का हिसाब दे : स्मृति इरानी◾PM मोदी ने पुणे के अस्पताल में अरुण शौरी से मुलाकात की◾दिल्ली अनाज मंडी हादसा में फैक्ट्री मालिक हिरासत में◾TOP 20 NEWS 8 DEC : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾PM मोदी ने दक्षेस चार्टर दिवस पर सदस्य देशों के लोगों को दी बधाई ◾संसद में नागरिकता विधेयक का पारित होना गांधी के विचारों पर जिन्ना के विचारों की होगी जीत : शशि थरूर◾अनाज मंडी हादसे के लिए दिल्ली सरकार और MCD जिम्मेदार: सुभाष चोपड़ा◾दिल्ली आग: PM मोदी ने की मृतक के परिवारों के लिए 2 लाख रुपये मुआवजे की घोषणा◾दिल्ली आग: दिल्ली पुलिस ने फैक्ट्री मालिक के खिलाफ दर्ज किया मामला◾दिल्ली आग : CM केजरीवाल ने मृतकों के परिवारों के लिए 10 लाख रुपये मुआवजे का किया ऐलान◾दिल्ली आग: अमित शाह ने घटना पर शोक किया व्यक्त, प्रभावित लोगों को तत्काल राहत मुहैया कराने का दिया निर्देश◾कानून व्यवस्था को लेकर कांग्रेस का मोदी पर वार, कहा- खुले आम घूम रहे हैं अपराधी, PM हैं ‘‘मौन’’ ◾दिल्ली: अनाज मंडी में एक मकान में लगी आग, 43 लोगों की मौत, 50 लोगों को सुरक्षित बाहर निकला गया ◾

विदेश

रोहिंग्या मामले में बंगलादेश के साथ समझौते की उम्मीद

 2-556

म्यांमार की नेता आंग सान सू की ने आज कहा कि पिछले तीन महीनों के दौरान बंगलादेश में शरण लिए रोहिंग्या मुस्लिमों की वापसी को लेकर बंगलादेश के साथ समझौते की उम्मीद है और इसके परिणाम सामने आयेंगे। सू की ने यहां एशियाई-यूरोपीय देशों के वरिष्ठ अधिकारियों की साथ बैठक की समाप्ति के बाद संवाददाताओं से यह बात कही।

उन्होंने कहा कि बैठक में आधिकारिक चर्चा से इतर राखिने प्रांत की स्थिति को लेकर चर्चा की गयी।उल्लेखनीय है कि म्यांमार के राखिने प्रांत में सेना की कार्रवाई के बाद छह लाख से अधिक रोहिंग्या मुस्लिम अपनी जान बचाकर बंगलादेश पहुंचे हैं।