BREAKING NEWS

दिल्ली हिंसा : मरने वालों की संख्या बढ़कर हुई 41, पीड़ितों से मिलने पहुंचे LG अनिल बैजल ◾रविशंकर प्रसाद का कांग्रेस पर वार, बोले- राजधर्म का उपदेश न दें सोनिया◾प्रधानमंत्री मोदी के आगमन से पहले छावनी में तब्दील हुआ प्रयागराज, जानिये 'विश्व रिकार्ड' बनाने का पूरा कार्यक्रम ◾ ताहिर हुसैन के कारखाने में पहुंची दिल्ली फोरेंसिक टीम, जुटाए हिंसा से जुड़े सबूत◾जानिये कौन है IB अफसर की हत्या के आरोपी ताहिर हुसैन, 20 साल पहले अमरोहा से मजदूरी करने आया था दिल्ली ◾एसएन श्रीवास्तव नियुक्त किये गए दिल्ली के नए पुलिस कमिश्नर, कल संभालेंगे पदभार ◾जुमे की नमाज़ के बाद जामिया में मार्च , दिल्ली पुलिस के लिए चुनौती भरा दिन◾CAA को लेकर आज भुवनेश्वर में अमित शाह करेंगे जनसभा को सम्बोधित ◾CAA हिंसा : उत्तर-पूर्वी दिल्ली में अब हालात सामान्य, जुम्मे के मद्देनजर सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम कायम◾CAA को लेकर BJP अध्यक्ष जेपी नड्डा बोले - कांग्रेस जो नहीं कर सकी, PM मोदी ने कर दिखाया◾Coronavirus : चीन में 44 और लोगों के मौत की पुष्टि, दक्षिण कोरिया में 2,000 से अधिक लोग पाए गए संक्रमित ◾भारत ने तुर्की को उसके आंतरिक मामलों पर टिप्पणी करने से बचने की सलाह दी◾राष्ट्रपति कोविंद 28 फरवरी से 2 मार्च तक झारखंड और छत्तीसगढ़ के दौरे पर रहेंगे◾संजय राउत ने BJP पर साधा निशाना , कहा - दिल्ली हिंसा में जल रही थी तो केंद्र सरकार क्या कर रही थी ?◾PM मोदी 29 फरवरी को बुंदेलखंड एक्स्प्रेस-वे की रखेंगे नींव◾दिल्ली हिंसा : SIT ने शुरू की जांच, मीडिया और चश्मदीदों से मांगे 7 दिन में सबूत◾PM मोदी प्रयागराज में 26,526 दिव्यांगों, बुजुर्गों को बांटेंगे उपकरण◾ओडिशा : 28 फरवरी को अमित शाह करेंगे CAA के समर्थन में रैली को संबोधित◾SP आजम खान के बेटे अब्दुल्ला की विधानसभा सदस्यता खत्म◾AAP पार्टी ने पार्षद ताहिर हुसैन को किया सस्पेंड, दिल्ली हिंसा में मृतक संख्या 38 पहुंची◾

इमरान खान ने प्रतिभा के स्थान पर वंशवाद को बढ़ाने देने के लिए विपक्ष पर निशाना साधा

भारत में मुगल साम्राज्य के पतन का हवाला देते हुए प्रधानमंत्री इमरान खान ने पाकिस्तान की वर्तमान स्थिति के लिए विपक्षी दलों पर प्रहार किया और उन पर प्रतिभा के स्थान पर वंशवाद को बढ़ावा देने का आरोप लगाया। अमेरिका की पहली यात्रा पर आये खान ने रविवार को वाशिंगटन में प्रवासी पाकिस्तानियों को संबोधित किया और उनसे कहा कि उनकी सरकार ने निर्वाचित नेताओं को जवाबदेह बनाने के लिए कदम उठाए हैं।

इस संबंध में उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी जैसे विपक्षी नेताओं पर की गयी कार्रवाई का उल्लेख किया। पिछले साल अगस्त में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री निर्वाचित हुए खान ने कहा, ‘‘ पाकिस्तान में आज जो कुछ हो रहा है, वह नया पाकिस्तान है। वहां अब प्रभावशाली व्यक्तियों को जवाबदेह ठहराया जा रहा है।’’ क्रिकेट से राजनीति में आये खान ने कहा कि वह देश में प्रतिभा को उचित जगह दिलाने की व्यवस्था लाने के लिए कटिबद्ध हैं। 

अपने भाषण में उन्होंने अपनी बात को स्पष्ट करने के लिए मुगल साम्राज्य का उदाहरण दिया। उन्होंने कहा, ‘‘मुस्लिम जगत पीछे क्यों रह गया? उसकी वजह है। मुगल साम्राज्य कभी शिखर पर था लेकर उसका पतन हो गया क्योंकि वंशवादी उत्तराधिकारियों में नेतृत्व क्षमता नहीं थी।’’ खान ने कहा, ‘‘ भारत, मुगल साम्राज्य के दौरान दुनिया में महा ताकत था। उन डेढ़ सौ सालों में भारत की जीडीपी दुनिया की जीडीपी से 25 फीसद अधिक थी। लेकिन जल्द ही वह लुढ़क गया क्योंकि औरंगजेब के बाद मुगल साम्राज्य के उत्तराधिकारी उतने काबिल नहीं थे।’’ 

 इमरान खान को विरासत में आर्थिक एवं वित्तीय संकट मिला है। उन्होंने चीन और सऊदी अरब से बहुत ऋण लिया है। इमरान खान की सरकार के सत्ता संभालने के बाद पाकिस्तान ने अगस्त, 2018 में अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष से राहत पैकेज मांगा था। उसके पास फिलहाल आठ अरब डालर से भी कम का आरक्षी कोष है जो 1.7 फीसद से भी कम महीने के निर्यात से निपटने के लायक है। खान ने अपने दो राजनीतिक विरोधियों शरीफ और जरदारी पर खूब निशाना साधा। 

हम अमेरिका भीख का कटोरा लेकर नहीं आए हैं : शाह महमूद