BREAKING NEWS

दिल्ली हिंसा में शामिल 106 लोग गिरफ्तार सहित 18 एफआईआर दर्ज, दिल्ली पुलिस ने जारी किए हेल्पलाइन नंबर◾मुख्यमंत्री केजरीवाल ने किया हिंसाग्रस्त उत्तर-पूर्वी दिल्ली का दौरा ◾अपने दौरे के बाद एनएसए डोभाल ने गृह मंत्री अमित शाह को उत्तर पूर्वी दिल्ली में मौजूदा हालात की जानकारी दी◾एनएसए डोभाल ने किया दंगा प्रभावित क्षेत्रों का दौरा, बोले- उत्तर पूर्वी दिल्ली में हालात नियंत्रण में ◾TOP 20 NEWS 26 February : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾शहीद हेड कांस्टेबल रतन लाल के परिवार को 1 करोड़ और एक सदस्य नौकरी देंगे - अरविंद केजरीवाल ◾दिल्ली HC ने पुलिस को भड़काऊ बयान देने वाले BJP नेताओं पर FIR करने की दी सलाह◾दिल्ली हिंसा में मरने वालों का आंकड़ा बढ़कर हुआ 22, संवेदनशील इलाकों में भारी सुरक्षा बल तैनात◾दिल्ली हिंसा : IB अफसर अंकित शर्मा का मिला शव, हिंसा ग्रस्त इलाको में जारी है तनाव ◾हिंसा पर दिल्ली हाई कोर्ट सख्त, कहा-देश में एक और 1984 नहीं होने देंगे◾दिल्ली हिंसा पर PM मोदी की लोगों से अपील, ट्वीट कर लिखा-जल्द से जल्द बहाल हो सामान्य स्थिति◾दिल्ली हिंसा : हाई कोर्ट ने कपिल मिश्रा का वीडियो क्लिप देख कर पुलिस को लगाई कड़ी फटकार ◾सीएए हिंसा पर प्रियंका गांधी ने लोगों से की अपील, बोली- हिंसा न करें, सावधानी बरतें ◾सोनिया गांधी ने दिल्ली हिंसा को बताया सुनियोजित, गृहमंत्री से की इस्तीफे की मांग◾दिल्ली हिंसा : हेड कांस्टेबल रतनलाल को दिया गया शहीद का दर्जा, पत्नी को नौकरी के साथ मिलेंगे 1 करोड़ ◾सुप्रीम कोर्ट ने सीएए हिंसा को बताया दुर्भाग्यपूर्ण, याचिकाओं पर सुनवाई से किया इनकार ◾दिल्ली में हुई हिंसा के बाद यूपी में हाई अलर्ट, संवेदनशील जिलों में पुलिस बलों के साथ पीएसी तैनात ◾राजस्थान के बूंदी में नदी में बस गिरने से 24 लोगों की मौत, मृतकों में 3 बच्चे शामिल◾दिल्ली के तनावपूर्ण इलाके छावनी में तब्दील, सुरक्षा बलों के फ्लैगमार्च के साथ स्पेशल सीपी ने किया दौरा◾शाहीन बाग मुद्दे को लेकर 23 अप्रैल को सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट◾

पाकिस्तान में पूर्व शासकों से सरकारी खजाने से खर्च हुई रकम को वसूलने का फैसला

पाकिस्तान की संघीय सरकार ने फैसला किया है कि बीते दस वर्षो में देश पर शासन करने वालों ने 'जिस तरह की शाहखर्ची की थी, उस धन की इनसे वसूली की जाएगी।' एक रिपोर्ट के मुताबिक, कैबिनेट की बैठक में लिए गए फैसलों की जानकारी मीडिया को प्रधानमंत्री की सूचना एवं प्रसारण मामलों की सलाहकार फिरदौस आशिक अवान और संचार मंत्री मुराद सईद ने दी। 

अवान ने कहा कि कैबिनेट ने बीते दस सालों में कर्ज में डूबे देश के पूर्व शासकों पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी और ममनून हुसैन व पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ, यूसुफ रजा गिलानी, राजा परवेज अशरफ और शाहिद खाकान अब्बासी की 'सुरक्षा, इनके मनोरंजन और कैंप आफिसों पर अवाम के पैसों के बेदर्दी से हुए खर्च' पर गहरी चिंता जताई। कैबिनेट ने फैसला किया कि इन पूर्व शासकों की 'अय्याशियों और शाही खर्चे' पर इस्तेमाल हुए जनता के टैक्स की भरपाई इनसे वसूली कर की जाएगी। 

मोदी सरकार में खेलों के प्रति सोच बदली, हर युवा खिलाड़ी का लक्ष्य अब ओलंपिक बना : भाजपा 

मुराद सईद ने कहा कि सुरक्षा के नाम पर 2017 में तत्कालीन राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी के पास 184 गाड़ियां थीं। तत्कालीन प्रधानमंत्री नवाज शरीफ 2015 में जब अमेरिका गए थे तो उनकी यात्रा पर चार लाख डालर से अधिक का खर्चा आया था। रिपोर्ट में बताया कि कैबिनेट की बैठक में पूर्व शासकों से संबंधित सुरक्षा व कैंप आफिसों पर और विदेशी दौरों पर हुए खर्च के दस्तावेज पेश किए गए। इन दस्तावेजों से पता चलता है कि पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के कैंप आफिसों और उनके स्वास्थ्य पर चार अरब 31 करोड़ और 83 लाख रुपये सरकारी खजाने से खर्च हुए थे।