BREAKING NEWS

विदेश मंत्री जयशंकर ने फिनलैंड के शीर्ष नेतृत्व से मुलाकात की◾सुरक्षा बल और वैज्ञानिक हर चुनौती से निपटने में सक्षम : राजनाथ ◾पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंड़ल से कोई बातचीत नहीं होगी : अकबरुद्दीन◾भारत, अमेरिका अधिक शांतिपूर्ण व स्थिर दुनिया के निर्माण में दे सकते हैं योगदान : PM मोदी◾कॉरपोरेट कर दर में कटौती : मोदी-भाजपा ने किया स्वागत, कांग्रेस ने समय पर सवाल उठाया ◾चांद को रात लेगी आगोश में, ‘विक्रम’ से संपर्क की संभावना लगभग खत्म ◾J&K : महबूबा मुफ्ती ने पांच अगस्त से हिरासत में लिए गए लोगों का ब्यौरा मांगा◾अनुभवहीनता और गलत नीतियों के कारण देश में आर्थिक मंदी - कमलनाथ◾वायुसेना प्रमुख ने अभिनंदन की शीघ्र रिहाई का श्रेय राष्ट्रीय नेतृत्व को दिया ◾न तो कोई भाषा थोपिए और न ही किसी भाषा का विरोध कीजिए : उपराष्ट्रपति का लोगों से अनुरोध◾अनुच्छेद 370 फैसला : केंद्र के कदम से श्रीनगर में आम आदमी दिल से खुश - केंद्रीय मंत्री◾TOP 20 NEWS 20 September : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾राहुल का प्रधानमंत्री पर तंज, कहा- ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम ‘आर्थिक बदहाली’ को नहीं छिपा सकता◾रेप के अलावा चिन्मयानंद ने कबूले सभी आरोप, कहा-किए पर हूं शर्मिंदा◾डराने की सियासत का जरिया है NRC, यूपी में कार्रवाई की गई तो सबसे पहले योगी को छोड़ना पड़ेगा प्रदेश : अखिलेश यादव◾नीतीश कुमार ने विधानसभा चुनाव में NDA की बड़ी जीत का किया दावा, कहा- गठबंधन में दरार पैदा करने वालों का होगा बुरा हाल◾कॉरपोरेट कर में कटौती ‘ऐतिहासिक कदम’, मेक इन इंडिया में आयेगा उछाल, बढ़ेगा निवेश : PM मोदी◾PM मोदी और मंगोलियाई राष्ट्रपति ने उलनबटोर स्थित भगवान बुद्ध की मूर्ति का किया अनावरण◾कांग्रेस नेता ने कारपोरेट कर में कटौती का किया स्वागत, निवेश की स्थिति बेहतर होने पर जताया संदेह◾वित्त मंत्री की घोषणा से झूमा शेयर बाजार, सेंसेक्स 1900 अंक उछला◾

विदेश

UNHRC में भारत ने PAK को लताड़ा, कहा- आपने अल्पसंख्यकों के साथ कैसा सलूक किया, सब जानते हैं

भारत ने एक बार फिर पाकिस्तान पर जोरदार हमला बालते होते हुए कहा कि पड़सी देश कभी भी अपने कुटिल और नापाक मंशूबों को अमली जामा पहनाने में सफल नहीं होगा क्योंकि देश सहष्णुता एवं विभिन्नता में एकता के लोकतंत्र के मूल मंत्रों के साथ क्षेत्रीय अखंडता को बनाये रखे के प्रति कटिबद्ध है। 

संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी मिशन के प्रथम सचिव विमर्श आर्यन ने संयुत राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (यूएनएचआरसी) की 42वीं बैठक को मंगलवार को संबोधित करते हुए यह बात कही। श्री आर्यन ने कहा,‘‘ जम्मू-कश्मीर और लद्दाख देश के अन्य भाग की तरह प्रगति और समृद्धि के रास्ते पर अग्रसर रहेंगे।’’ उन्होंने इस फोरम में जवाब देने के अधिकार का इस्तेमाल करते हुए कहा,‘‘ पाकिस्तान वैश्विक आतंकवाद का केंद्र है। वह भूल रहा है कि आतंकवाद मानवाधिकार के उल्लंघन का सबसे बड़ा रूप है। ’’ 

श्री आर्यन ने कहा,‘‘पाकिस्तान ने आज अपने सभी बयानों में जमकर भारत के खिलाफ गलत बयानबाजी की है। पाकिस्तान आतंकवाद को बढ़वा देने के मंसूबे को और आगे बढ़ने के कुटिल प्रयासों के तहत ऐसा कर रहा है। हम उसके इस प्रोपेगेंडा को अस्वीकार करते हैं।’’ 

श्री आर्यन ने कहा,‘‘अनुच्छेद 370 भारतीय संविधान का अस्थायी प्रावधान था। हाल में अनुच्छेद 370 को संवैधानिक अधिकार के तहत समाप्त किया गया है और यह पूरी तरह से भारत का आंतरिक मामला है। इस फैसले से जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के लोगों खास कर महिलाओं,बच्चों और समाज के वंचित वर्ग के लोगों के नागरिक, राजनीतिक, सामाजिक, आर्थिक और सांस्कृतिक अधिकारों के रास्ते में बाधाओं को दूर किया जा सकेगा।’’ 

उन्होंने कहा कि यूएनएचआरसी के राजनीतिकरण और ध्रुवीकरण के उद्देश्य से पाकिस्तान की ओर से की जा रही झूठी, बेतूकी और मनगढ:त बयानबाजी से भारत को बिल्कुल आश्चर्य नहीं हुआ है। पाकिस्तान को यह अच्छी तरह मालूम है कि अनुच्छेद 370 को हटाये जाने से सीमा पार आतंकावाद की गतिविधियों को अंजाम देने के उसके रास्ते में बाधा उत्पन्न हो गई है। 

इससे बैखलाये पाकिस्तान के कुछ नेताओं ने जनसंहार का जहरीला तानाबाना बुनने के लिए जिहाद का नारा दिया है ताकि जम्मू-कश्मीर और तीसरी दुनिया में हिंसा को बढ़वा मिल सके। पाकिस्तान को यह मालूम है कि उसके आरोपों में तनिक भी सच्चाई नहीं है।’’

श्री आर्यन ने कहा कि पाकिस्तान आज मानवाधिकारों पर वैश्विक समुदाय की आवाज के रूप में बोलने ढोंग कर रहा है। लेकिन वह दुनिया को मूर्ख नहीं बना सकता। उन्होंने कहा, ‘‘ पाकिस्तान की यह बयानबाजी पाकिस्तान में इसाईओं, सिखों, शिया मुसलमानों तथा हिन्दुओं के साथ हो रहे अत्यचारों पर पर्दा नहीं डाल सकती है और यही कारण है कि वह अल्पसंख्यकों के बारे में आधिकारिक आकड़ को दुनिया के सामने नहीं लाता है।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘ हाल ही में पाकिस्तान में सिख युवती के अपहरण और फिर धर्म परिवर्तन की घटना इस बात का सबूत है कि पाकिस्तान में महिलाओं की क्या दुर्दशा है और विशेष रूप से अल्पसंख्यक समुदाओं की महिलाओं के साथ किस तरह अत्याचार होता है।’’ 

इसके अलावा भारतीय राजनयिक ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाएं जाने को लेकर स्थ्ति स्पष्ट करते हुये इसे भारत का अंदरूनी मामला बताया और कहा कि किसी को भी भारत के आतंरिक मामलों में दखल देने की जरुरत नहीं है। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा है, था और हमेशा रहेगा।