BREAKING NEWS

राम मंदिर के ट्रस्ट में संघ प्रमुख भागवत को नहीं होना चाहिए : विहिप◾मेरी मानसिक ताकत तोड़ना चाहती है केंद्र सरकार : चिदंबरम ◾भारत की पहचान 'दुष्कर्म राजधानी' के रूप में बन गई है : राहुल◾TOP 20 NEWS 7 DEC : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾दिल्ली विधानसभा चुनाव में भाजपा का नारा 'अबकी बार, तीन पार' होगा : केजरीवाल◾एनआरसी के खिलाफ कल जंतर-मंतर पर प्रदर्शन करेगी पार्टी : संजय सिंह◾राकांपा नेता उमाशंकर यादव बोले- नैतिकता के आधार पर तत्काल इस्तीफा दें CM योगी◾बलात्कारी के लिए मृत्युदंड से सख्त सजा कुछ नहीं हो सकती, पालक भी जिम्मेदारी समझें : स्मृति ईरानी◾CM केजरीवाल ने उन्नाव बलात्कार पीड़िता की मौत को बताया शर्मनाक, ट्वीट कर कही ये बात ◾बलात्कार की घटनाओं पर स्वत: संज्ञान लें सुप्रीम कोर्ट : मायावती◾PM मोदी, अमित शाह और अजीत डोभाल पुणे में शीर्ष पुलिस अधिकारियों के सम्मेलन में हुए शामिल ◾केरल में बोले राहुल गांधी- महिलाओं के खिलाफ हिंसा और ज्यादतियों में हुई बढ़ोतरी◾सशस्त्र सेना झंडा दिवस के अवसर PM मोदी ने लोगों से किया अनुरोध, बोले- सशस्त्र बल के कल्याण के लिए योगदान दें◾उन्नाव रेप पीड़िता की मौत के विरोध में BJP मुख्यालय पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन, पुलिस ने किया लाठीचार्ज◾उन्नाव रेप पीड़िता की मौत के बाद विधानसभा के बाहर धरने पर बैठे अखिलेश यादव, कहा- वो जिंदा रहना चाहती थी◾उन्नाव पीड़िता की मौत पर बोली स्वाति मालीवाल- सरकार बलात्कार पीड़िताओं के प्रति असंवेदनशील ◾उन्नाव बलात्कार पीड़िता की मौत पर बोली प्रियंका गांधी- यह हम सबकी नाकामयाबी है हम उसे न्याय नहीं दिला पाए◾उन्नाव रेप केस: बुजुर्ग पिता की गुहार, बेटी के गुनहगारों को मिले मौत की सजा◾उन्नाव रेप पीड़िता की दर्दनाक मौत अति-कष्टदायक : मायावती◾सीएम बनने के बाद PM मोदी से पहली बार मिले उद्धव ठाकरे, सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए मुम्बई रवाना हुए मोदी ◾

विदेश

भारत, थाईलैंड ने किये 2,400 करोड़ रुपये के अनुबंधों पर हस्ताक्षर

 india and thailand

भारत और थाईलैंड ने द्विपक्षीय व्यापार संबंधों को मजबूत बनाने के लिये 2,400 करोड़ रुपये के अनुबंधों पर हस्ताक्षर किये हैं। थाईलैंड के उप प्रधानमंत्री ज्यूरिन लक्षणाविजीत ने शुक्रवार को इसकी जानकारी दी। 

उन्होंने सीआईआई द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम से इतर संवाददाताओं से कहा कि ये अनुबंध रबड़, निर्माण सामग्री, खाद्य एवं पेय पदार्थ तथा लॉजिस्टिक्स समेत विभिन्न क्षेत्रों से संबंधित हैं। 

लक्षणाविजीत ने पहले भारतीय यात्रा में हुए अनुबंधों की जानकारी देते हुए कहा कि मुंबई में 4.45 अरब थाई बह्त यानी करीब नौ सौ करोड़ रुपये तथा यहां चेन्नई में 7.623 अरब थाई बह्त यानी करीब 1,500 करोड़ रुपये के अनुबंधों पर हस्ताक्षर किये गये। 

उन्होंने कहा, ‘‘इस यात्रा से 12.075 अरब थाई बह्त यानी करीब 2,400 करोड़ रुपये का व्यापार सृजित हुआ है। यह संतोषजनक आंकड़ा है और हम इसे यात्रा के लिये बड़ी सफलता मानते हैं।’’ 

उनके साथ 30 से अधिक कंपनियों का प्रतिनिधिमंडल भी यहां आया है। उन्होंने कहा कि इस यात्रा का मुख्य उद्देश्य भारत के साथ रणनीतिक भागीदारी को मजबूत करना और कारोबार के नये अवसरों का विस्तार करना है। 

उन्होंने कहा कि मुंबई में खाद्य पदार्थ, निर्माण सामग्री, लॉजिस्टिक्स और रीयल एस्टेट विकास पर जोर रहा। चेन्नई में रबड़ पर जोर रहा। 

उन्होंने कहा कि भारतीय कंपनियों से यहां की रबड़ मांग के बारे में जानकारी मिली। यहां करीब 10 लाख टन रबड़ के आयात की आवश्यकता है। उन्होंने कहा, ‘‘भारत का घरेलू बाजार करीब 40 प्रतिशत मांग की पूर्ति कर सकता है।

 

अत: 60 प्रतिशत मांग की पूर्ति के लिये भारत को रबड़ आयात करने की जरूरत है। इस कारण भारत अपार संभावनाओं वाला बाजार है।’’ 

लक्षणाविजीत ने माना कि कई देशों के बीच चल रहे व्यापार युद्ध का भारत पर कोई असर नहीं पड़ा है। 

उन्होंने कहा, ‘‘भारत में थाई खाद्य तेजी से लोकप्रिय हो रहा है। मैं थाई खाद्य को बढ़ावा देने के लिये एक और बार भारत की यात्रा पर आउंगा।’’ 

उन्होंने दोनों देशों के द्विपक्षीय व्यापार संबंधों के बारे में कहा कि 2018 में दोनों देशों के बीच 12 अरब डॉलर का व्यापार हुआ।