BREAKING NEWS

गणतंत्र दिवस 2022: अग्रिम मोर्चे के कर्मी, मजदूर और ऑटो ड्राइवर बने स्पेशल गेस्ट, मिला बड़ा सम्मान◾गणतंत्र दिवस परेड: राजपथ पर 75 विमानों का शानदार फ्लाईपास्ट, वायुसेना की शक्ति देख दर्शक हुए दंग ◾गणतंत्र दिवस 2022: परेड में वायुसेना की झांकी का हिस्सा बनीं देश की पहली महिला राफेल विमान पायलट◾गणतंत्र दिवस 2022: परेड में होवित्जर तोप से लेकर वॉरफेयर की दिखी झलक, राजपथ बना शक्तिपथ◾गणतंत्र दिवस समारोह: PM मोदी उत्तराखंड की टोपी और मणिपुरी स्टोल में आए नजर, दिया ये संकेत◾यूपी: रायबरेली में जहरीली शराब पीने से चार की मौत, 6 लोगों की हालत नाजुक◾RPN सिंह के भाजपा में शामिल होने पर शशि थरूर का कटाक्ष, बोले- छोड़कर जा रहे हैं घर अपना, उधर भी सब अपने हैं◾दिल्ली में ठंड का कहर जारी, फिलहाल बारिश होने के आसार नहीं: आईएमडी◾RRB-NTPC Exam: परीक्षार्थियों के विरोध प्रदर्शन के बाद रेलवे ने भर्ती परीक्षा पर लगाई रोक, जांच के लिए बनाई समिति◾विधानसभा चुनाव तक चलेगी हिंदू-मुसलमानको लेकर तीखी बयानबाजी: राकेश टिकैत◾World Corona: दुनियाभर में जारी है कोरोना का कोहराम, संक्रमित मरीजों का आंकड़ा पहुंचा 35.79 करोड़ के पार◾Corona Update: देश में तीसरी लहर का सितम जारी, संक्रमण के 2 लाख 85 हजार से अधिक नए केस, 665 लोगों की मौत ◾दिल्ली: गणतंत्र दिवस समारोह के मद्देनजर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम, 27,000 से अधिक पुलिसकर्मी तैनात◾गणतंत्र दिवस पर पीएम मोदी समेत कई नेताओं ने दी देशवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं◾PM मोदी असली नायकों का सम्मान करने के लिए प्रतिबद्ध : केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने पद्म पुरस्कार पर कहा ◾बुद्धदेव को पद्म पुरस्कार देने की घोषणा से पहले उनकी पत्नी को इसके बारे में सूचित किया गया था : सूत्र ◾प्रधानमंत्री ने पद्म पुरस्कार विजेताओं को दी बधाई ◾गणतंत्र दिवस : 189 वीरता पदक सहित 939 पुलिस पदक दिये जाने की घोषणा ◾पद्म पुरस्कार 2022 से सम्मानित किये जाने वालों की पूरी सूची ◾प्रियंका ने BJP और SP पर साधा निशाना - दोनों को पसंद है ध्रुवीकरण, UP को अलग तरह की राजनीति चाहिए◾

अमेरिका में भारतवंशी डॉक्टरों ने कोरोना वैक्सीन की खुराक ली, लोगों को भी प्रोत्साहित किया

महामारी के खिलाफ अग्रिम मोर्चे पर लड़ रहे कई भारतवंशी अमेरिकी डॉक्टरों ने कोरोना वायरस टीके की खुराक ली है और दूसरों को भी टीकाकरण के लिए प्रोत्साहित किया है। भारतवंशी डॉक्टरों ने कहा है कि जान बचाने के लिए टीका कारगर उपाय है और वैज्ञानिकों के इस ‘‘उपहार’’ से कोविड-19 के खिलाफ जंग में दुनिया को जीत मिलेगी। 

अमेरिका में एक सप्ताह पहले टीकाकरण अभियान शुरू किया गया और देश में फाइजर-बायोएनटेक और मॉर्डना के टीके को मंजूरी दी गयी है। अमेरिकन एसोसिएशन ऑफ फिजिशियंस ऑफ इंडियन ओरिजिन (एएपीआई) के पूर्व अध्यक्ष डॉ सुरेश रेड्डी ने पीटीआई को बताया, ‘‘हम सबको टीका लेना चाहिए। यह बहुत प्रभावी है और हम इसके अच्छे नतीजे देख रहे हैं। जान बचाने के लिए टीका कारगर उपाय है और हम सबको इसे लेना चाहिए।’’ 

रेड्डी ने फाइजर टीके की खुराक ली और उन्होंने कहा कि किसी तरह का प्रतिकूल असर नहीं देखने को मिला। अमेरिका में कोरोना वायरस संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले आए हैं और सबसे ज्यादा मौतें हुई हैं। अमेरिका की जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के आंकड़ों के मुताबिक देश में सोमवार तक संक्रमण के 1.80 करोड़ से ज्यादा मामले आ चुके हैं। 

टेक्सास में काम करने वाले डॉक्टर जयेश शाह ने भी फाइजर के टीके की खुराक ली। उन्होंने कहा कि कोविड-19 को परास्त करने के लिए ज्यादा से ज्यादा लोगों को टीका लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि अगर 70 प्रतिशत आबादी का टीकाकरण हो जाएगा तो इससे ‘हर्ड इम्युनिटी’ बनाने में मदद मिलेगी। टेक्सास मेडिकल एसोसिएशन के ट्रस्ट बोर्ड के सदस्य और साउथ टेक्सास वुंड एसोसिएट्स के अध्यक्ष शाह ने कहा, ‘‘टीका सबके लिए वैज्ञानिकों की ओर से दिया गया उपहार है।’’ 

टीके को लेकर आशंकाओं को दूर करते हुए शाह ने कहा, ‘‘टीके पर लगातार काम चलता रहता है। भले ही इसे कम समय में तैयार किया गया हो लेकिन इसके लिए बहुत समय और संसाधन लगाए गए हैं। दूसरी बीमारियों के लिए टीका तैयार करने जैसे ही मानकों का इस्तेमाल किया गया है।’’ 

हृदय रोग विशेषज्ञ और ‘बिहार झारखंड एसोसिएशन ऑफ नार्थ अमेरिका’ के अध्यक्ष डॉ. अविनाश गुप्ता ने भी टीके की खुराक ली। फेडरेशन ऑफ इंडियन एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष आलोक कुमार गुप्ता ने टीका लेने की एक तस्वीर को ट्वीट किया ।

 

हरियाणा के पूर्व CM हुड्डा का आरोप- किसान आंदोलन खत्म कराने को एसवाईएल मुद्दा उठा रही भाजपा