BREAKING NEWS

Prophet Remarks Row: SC ने खारिज की नूपुर शर्मा की याचिका, कहा- TV पर मांगे देश से माफी! ◾मेरा मुख्यमंत्री बनना फडणवीस का ‘मास्टरस्ट्रोक’ : एकनाथ शिंदे◾Maharashtra: फ्लोर टेस्ट एक औपचारिकता... आसानी से होगी जीत, CM शिंदे ने 'मातोश्री' पर कही यह बात ◾पेट्रोल -डीजल और एटीएफ के निर्यात पर बढ़ा टैक्स ,घरेलू बाजारों पर कोई असर नहीं ◾PM मोदी ने उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू को दी जन्मदिन की शुभकामनाएं◾देशभर में आज से सिंगल-यूज प्लास्टिक पर बैन, रोजमर्रा इस्तेमाल होने वाली ये 19 चीज़ें शामिल ◾बाला साहेब की विरासत का कौन होगा उत्तराधिकारी ? उद्धव ठाकरे या एकनाथ शिंदे किसका पलड़ा भारी ◾उदयपुर हत्याकांड को लेकर एक्शन में गहलोत सरकार, देर रात हटाए गए SP और IG◾CORONA UPDATE : देश में कोरोना के मामलो में हुई वृद्धि, 24 घंटे में सामने आए 17 हज़ार से अधिक केस ◾मनी लॉन्ड्रिंग : आज ED के सामने पेश होंगे संजय राउत, Tweet कर शिवसैनिकों से की ये अपील◾यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की यूरोपीय संघ की सदस्यता पर करेंगे घोषणा◾LPG Price Update : LPG कमर्शियल गैस सिलेंडर के दामों में कटौती, 198 रुपए हुआ सस्ता◾आज का राशिफल ( 01 जुलाई 2022)◾प्रधानमंत्री मोदी 12 जुलाई को करेंगे देवघर हवाई अड्डे का उद्घाटन◾बीजेपी का खेला : शिवसेना को कमजोर करना चाहती है भाजपा, शिंदे को मुख्यमंत्री बना ‘क्षेत्रीय भावनाओं’ पर कब्जे की कोशिश◾जानिए ! देवेंद्र से पहले भी ये नेता CM रहने के बाद जूनियर पद कर चुके है स्वीकार , फडणवीस ऐसे करने वाले चौथे नेता◾उद्धव ठाकरे ने नये मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे , उप मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को दीं शुभकामनाएं ◾सतारा के रहने वाले महाराष्ट्र के चौथे सीएम हैं एकनाथ , शरद पवार ने शिंदे को दी बधाई ◾CM Swearing Ceremony : शीर्ष नेतृत्व के कहने पर देवेंद्र फडणवीस बने डिप्टी चीफ मिनिस्टर◾सुरक्षा एजेंसियों का दावा : जिहाद को निर्यात करने वाले पाकिस्तानी संगठन ने राजस्थान से एकत्रित किया था 20 लाख का चंदा ◾

Jammu Kashmir के परिसीमन पर प्रस्ताव पास करने पर भारत का पाकिस्तान पर फूटा गुस्सा, जानें- क्या हैं मामला

 भारत ने जम्मू कश्मीर में परिसीमन की कवायद पर पाकिस्तान की नेशनल एसेंबली में पारित प्रस्ताव को मंगलवार को ‘हास्यास्पद’ करार देते हुए कहा कि भारत के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप करने का उसका (पाकिस्तान का) कोई अधिकार नहीं हैं।इस विषय पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने अपने बयान में कहा, ‘‘ केंद्र शासित प्रदेश जम्मू कश्मीर और लद्दाख का पूरा क्षेत्र भारत का अभिन्न हिस्सा है और हमेशा रहेगा।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ हम केंद्र शासित प्रदेश जम्मू कश्मीर में परिसीमन की प्रक्रिया पर पाकिस्तान की नेशनल एसेंबली में पारित ‘हास्यास्पद’ प्रस्ताव को सिरे से खारिज करते हैं।’’

 विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा...

बागची ने कहा कि पाकिस्तान को भारत के आंतरिक मामलों के संबंध में बयान देने या इसमें हस्तक्षेप करने का कोई अधिकार नहीं है, जिसमें उसके (पाकिस्तान के) अवैध एवं बलपूर्वक कब्जे वाला भारतीय क्षेत्र भी शामिल है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा, ‘‘ हम इस बात पर पुन: जोर देते हैं किपाकिस्तान भारत के खिलाफ सीमापार से आतंकवाद एवं आतंकी आधारभूत ढांचे को बंद करे तथा अपने कब्जे वाले कश्मीर एवं लद्दाख (पीओजेकेएल) में मानवाधिकारों का लगातार किये जा रहे हनन को रोके।’’बागची ने यह भी कहा कि पाकिस्तान अपने कब्जे वाले कश्मीर एवं लद्दाख में यथास्थिति में बदलाव करने से दूर रहे और अपने (पाकिस्तान के) अवैध एवं बलपूर्वक कब्जे वाले भारतीय क्षेत्र को खाली करे।उन्होंने कहा कि केंद्र शासित प्रदेश जम्मू कश्मीर में परिसमीन एक लोकतांत्रिक प्रक्रिया है जो पक्षकारों की वृहद सहभागिता एवं परामर्श के सिद्धांत पर आधारित है।

पाकिस्तान की संसद ने कहा...

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा, ‘‘ यह खेदजनक है कि अपने देश को व्यवस्थित करने के बजाए पाकिस्तान का नेतृत्व लगातार भारत के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप कर रहा है और आधारहीन एवं उकसाने वाले भारत विरोधी दुष्प्रचार में लगा हुआ है।’’ गौरतलब है कि पाकिस्तान की संसद ने पिछले सप्ताह जम्मू कश्मीर में परिसीमन प्रक्रिया के खिलाफ एक प्रस्ताव पारित किया था। प्रस्ताव में आरोप लगाया गया था कि इस भारतीय कदम का लक्ष्य मुस्लिमों की अच्छी खासी आबादी वाले जम्मू्-कश्मीर की चुनावी जनसांख्यिकी में कृत्रिम तरीके से बदलाव करना है। एक दिन पहले, भारत ने जम्मू कश्मीर में परिसीमन पर इस्लामिक सहयोग संगठन (ओआईसी) की ‘अवांछित’ टिप्पणियों की अलोचना की थी और उसे एक देश की शह पर ‘साम्प्रदायिक एजेंडा’ चलाने से दूर रहने को कहा था।