BREAKING NEWS

'विश्व शांति सम्मेलन' में हिस्सा नहीं ले पाएंगी ममता, दीदी ने केंद्र सरकार के निर्णय पर जताई आपत्ति◾तालिबान ने शुरू की हैवानियत, मुख्य चौराहे पर शव को क्रेन से लटका कर दी सजा ◾नकवी का कांग्रेस पर तंज- वोटों के ‘सियासी सौदागरों’ ने आजादी के बाद 75 वर्षों तक अल्पसंख्कों को दिया धोखा◾पंजाब में बदलाव का दौर जारी, छुट्टी पर गए DGP, अब इकबाल सिंह सहोता को मिला चार्ज◾कैप्टन के करीबियों को नहीं मिली चन्नी केबिनेट में जगह, सात नए चेहरे के शामिल होने की संभावना◾हमारा मकसद राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर रणनीतिक संबंध बनाना : राजनाथ सिंह◾भारत और अमेरिका का तालिबान से आग्रह- अफगानों के मानवाधिकारों का सम्मान करते हुए प्रतिबद्धताओं को करें पूरा◾भारत-US ने 26/11 हमले के दोषियों पर कार्रवाई का किया आह्वान, कहा- आतंकवाद के खिलाफ एक साथ खड़े हैं◾BJP अध्यक्ष नड्डा बोले- PM मोदी के नेतृत्व में बदल रही है भारत की तस्वीर, तेजी से हो रहा विकास◾इमरान खान का अंतरराष्ट्रीय समुदाय से गुहार- तालिबान नीत अफगानिस्तान सरकार को दी जाए मान्यता ◾रोहिणी कोर्टरूम शूटआउट मामले की जांच में जुटी दिल्ली पुलिस, परिसर के बाहर पुलिस बल तैनात ◾बाइडन की मोदी के साथ पहली बैठक से अमेरिकी संसद उत्साहित, क्वाड शिखर वार्ता का किया स्वागत ◾केरल में कांग्रेस को लगा एक और बड़ा झटका, प्रमुख नेता वी.एम. सुधीरन ने पीएसी छोड़ी ◾भाजपा जनसंख्या के अनुपात में पिछड़े वर्ग को हक़ नहीं देना चाहती : अखिलेश यादव ◾देशभर में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 29616 नए केस की पुष्टि, 290 लोगों की मौत◾क्वाड नेताओं ने बिना नाम लिए पाकिस्तान को लताड़ा, 'पर्दे के पीछे से आतंकवाद’ के इस्तेमाल की निंदा की◾जानिए कौन है स्नेहा दुबे, जिन्होंने संयुक्त राष्ट्र में कश्मीर मुद्दे पर की इमरान की बोलती बंद◾विश्व में जारी है कोरोना महामारी का प्रकोप, संक्रमितों का आंकड़ा 23.11 करोड़ से अधिक ◾UNGA में भारत का इमरान खान को मुंहतोड़ जवाब- पाकिस्तान तुरंत POK को खाली करे◾प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहुंचे न्यूयॉर्क, आज UNGA के 76वें अधिवेशन को करेंगे संबोधित ◾

अफगानिस्तान में भारतीय पत्रकार दानिश सिद्दीकी की हत्या की अंतरराष्ट्रीय मीडिया संगठनों, एम्नेस्टी ने की निंदा

दुनिया के प्रमुख मीडिया संगठनों और अधिकार समूहों ने पुलित्जर पुरस्कार विजेता भारतीय फोटो पत्रकार दानिश सिद्दीकी की अफगानिस्तान में हत्या की निंदा की है और इसकी गहन जांच की मांग की है। साथ ही अधिकारियों से अपील की है कि प्रेस के सदस्यों की रक्षा के लिए और बेहतर इंतजाम करें। 

कंधार शहर के स्पीन बोल्डाक में अफगानिस्तान के सैनिकों और तालिबान के बीच संघर्ष को कवर करने के दौरान सिद्दीकी (38) मारे गए। अफगानिस्तान के सैनिकों के साथ जा रहे सिद्दीकी हमले में बृहस्पतिवार की रात घायल हो गए थे और शुक्रवार को उनकी मौत हो गई। 

रोहिंग्या संकट को कवर करने के लिए रॉयटर की टीम के हिस्से के तौर पर 2018 में सिद्दीकी को पुलित्जर पुरस्कार से नवाजा गया था। उन्होंने अफगान संघर्ष, हांगकांग प्रदर्शन और एशिया, पश्चिम एशिया तथा यूरोप के कई बड़े शहरों में कवरेज किया था। 

भारतीय पत्रकार की मौत पर न्यूयॉर्क के कमिटी टू प्रोटेक्ट जर्नलिस्ट (सीपीजे) ने अफगानिस्तान के अधिकारियों से अपील की कि सिद्दीकी की हत्या की त्वरित एवं विस्तृत जांच करें और प्रेस के सदस्यों की रक्षा के लिए हरसंभव उपाय करें। मीडिया पेशेवरों के वैश्विक नेटवर्क ‘द इंटरनेशनल प्रेस इंस्टीट्यूट’ ने शुक्रवार को सिद्दीकी की मौत पर दुख जताया और इसे पत्रकारिता के लिए ‘‘बड़ा नुकसान’’ करार दिया। 

अफगानिस्तान में इस वर्ष सिद्दीकी मारे गए पांचवें पत्रकार हैं। यूनाइटेड नेशंस एसिस्टेंस मिशन इन अफगानिस्तान (यूएनएएमए) के मुताबिक 2018 से अभी तक 65 पत्रकार एवं मानवाधिकार कार्यकर्ता मारे जा चुके हैं।