BREAKING NEWS

आडवाणी, स्वराज ने शीला दीक्षित को दी श्रद्धांजलि ◾सोमवार को 2 बजकर 43 मिनट पर होगा चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण◾LIVE : कांग्रेस मुख्यालय पहुंचा शीला दीक्षित का पार्थिव शरीर, निगमबोध घाट पर होगा अंतिम संस्कार◾झारखंड : गुमला में डायन होने के शक में 4 लोगों की पीट-पीटकर हत्या◾कारगिल शहीदों की याद में दिल्ली में हुई ‘विजय दौड़’, लेफ्टिनेंट जनरल ने दिखाई हरी झंडी◾ आज सोनभद्र जाएंगे CM योगी, पीड़ित परिवार से करेंगे मुलाकात ◾शीला दीक्षित की पहले भी हो चुकी थी कई सर्जरी◾BJP को बड़ा झटका, पूर्व अध्यक्ष मांगे राम गर्ग का निधन◾पार्टी की समर्पित कार्यकर्ता और कर्तव्यनिष्ठ प्रशासक थीं शीला दीक्षित : रणदीप सुरजेवाला ◾सोनभद्र घटना : ममता ने भाजपा पर साधा निशाना ◾मोदी-शी की अनौपचारिक शिखर बैठक से पहले अगले महीने चीन का दौरा करेंगे जयशंकर ◾दीक्षित के बाद दिल्ली कांग्रेस के सामने नया नेता तलाशने की चुनौती ◾अन्य राजनेताओं से हटकर था शीला दीक्षित का व्यक्तित्व ◾जम्मू कश्मीर मुद्दे के अंतिम समाधान तक बना रहेगा अनुच्छेद 370 : फारुक अब्दुल्ला ◾दिल्ली की सूरत बदलने वाली शिल्पकार थीं शीला ◾शीला दीक्षित के आवास पहुंचे PM मोदी, उनके निधन पर जताया शोक ◾शीला दीक्षित कांग्रेस की प्रिय बेटी थीं : राहुल गांधी ◾जीवनी : पंजाब में जन्मी, दिल्ली से पढाई कर यूपी की बहू बनी शीला, फिर बनी दिल्ली की मुख्यमंत्री◾शीला दीक्षित ने दिल्ली एवं देश के विकास में दिया योगदान : प्रियंका◾शीला दीक्षित के निधन पर दिल्ली में 2 दिन का राजकीय शोक◾

विदेश

यूरेनियम संवर्धन की तय सीमा तोड़ेंगे : ईरान

ईरान ने रविवार को कहा कि वह पश्चिमी देशों के साथ हुए परमाणु समझौते में तय की गई यूरेनियम संवर्धन की सीमा का उल्लंघन करने वाला है। वहीं अमेरिका ने चेतावनी देते हुए कहा है कि समझौते में तय की गई सीमा को पार करके ईरान आग से खेल रहा है। अंतराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी ने इस मुद्दे पर 10 जुलाई को एक विशेष बैठक बुलाई है। 

ईरान ने धमकी दी है कि अगर 2015 में हुए परमाणु समझौते पर संबंधित पक्षों के साथ कोई हल नहीं निकलता तो वह समझौते की और भी शर्तों का उल्लंघन कर सकता है। ब्रिटेन का कहना है कि ईरान ने समझौते की शर्तों का उल्लंघन किया है। साथ ही लंदन और बर्लिन ने ईरान से यूरेनियम संवर्धन की तय सीमा को तोड़ने से बचने को कहा है। 

ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जवाद जरीफ ने कहा है कि तेहरान अपनी प्रतिबद्धताओं से पीछे हट सकता है लेकिन अगर यूरोपीय देश अपनी अपनी प्रतिबद्धताओं को पूरा करें तो ऐसे कोई भी कदम वापस लिए जा सकते हैं। 

समझौते में तय अधिकतम परिष्कृत 3.67 प्रतिशत से अधिक यूरेनियम संवर्धन करने का कदम यूरोपीय संघ और अमेरिका के विरोध के बावजूद शुरू किया जा रहा है। 

ईरान के परमाणु ऊर्जा संगठन के प्रवक्ता बेहरोज कामलवंडी ने सरकारी टेलीविजन में कहा कि सीमा पार करने के ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी के आदेश पर कुछ ही घंटे में अमल किया जाएगा। गौरतलब है कि 2015 में हुए परमाणु समझौते से अमेरिका के बाहर निकलने के ठीक एक साल बाद आठ मई को रूहानी ने तेहरान के इरादे स्पष्ट कर दिए थे। 

ईरान के राष्ट्रपति ने कहा कि यह कदम अमेरिका द्वारा दोबारा प्रतिबंध लगाए जाने के बाद ईरान को काम करते रहने देने में मदद करने की दिशा में शेष पक्षों के नाकाम रहने के बाद उठाया गया है। ईरान के सर्वोच्च नेता आयतुल्ला खमनेई के शीर्ष सहालकार ने शुक्रवार को संकेत दिया था कि इसे बढ़ा कर पांच प्रतिशत किया जा सकता है। 

ईरान का कहना है कि परमाणु समझौते से अमेरिका के बाहर होने के बाद उसने ‘सामरिक संयम’ बरता और इस बात का इंतजार किया कि शेष पक्ष तय किए गए आर्थिक लाभों की दिशा में काम करें। वहीं अमेरिका ने चेतावनी देते हुए कहा है कि समझौते में तय की गई सीमा को पार करके वह आग से खेल रहा है। अंतराष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी ने इस मुद्दे पर 10 जुलाई को एक विशेष बैठक बुलाई है।