BREAKING NEWS

दिल्ली की वायु गुणवत्ता 'बेहद खराब' श्रेणी में बरकरार, प्रदूषण का स्तर 'गंभीर'◾पीएम मोदी,राम नाथ कोविंद और वेंकैया नायडू ने देशवासियों को दुर्गाष्टमी की शुभकामनाएं दी◾PM मोदी ने गुजरात में 3 अहम परियोजनाओं का किया उद्घाटन ◾RJD ने 'प्रण हमारा संकल्प बदलाव का' के वादे के साथ जारी किया घोषणा पत्र, तेजस्वी ने नीतीश पर साधा निशाना ◾महबूबा मुफ्ती के देशद्रोही बयान देने के बाद भाजपा ने की उनकी गिरफ्तारी की मांग ◾दुनियाभर में कोरोना महामारी का हाहाकार, पॉजिटिव केस 4 करोड़ 20 लाख के पार◾देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 78 लाख के पार, एक्टिव केस 6 लाख 80 हजार◾पाकिस्तान को FATF 'ग्रे लिस्ट' में रहने पर बोले कुरैशी- ये 'भारत के लिए हार' ◾पीएम मोदी गुजरात में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा आज तीन परियोजनाओं का करेंगे उद्घाटन◾आज का राशिफल ( 24 अक्टूबर 2020 )◾दुनिया की दिग्गज तेल, गैस कंपनियों के प्रमुखों से बातचीत करेंगे PM मोदी◾जम्मू कश्मीर के पुंछ में अग्रिम क्षेत्रों पर पाकिस्तानी सेना ने की गोलाबारी, भारतीय सेना ने दिया मुंहतोड़ जवाब◾MI vs CSK ( IPL 2020 ) : बोल्ट और ईशान के प्रदर्शन से मुंबई इंडियंस ने चेन्नई सुपर किंग्स को 10 विकेट से हराया ◾आतंकियों को पनाह देने वाले पाकिस्तान को बड़ा झटका, FATF ने ग्रे लिस्ट में रखा बरकरार◾महबूबा मुफ्ती का देशद्रोही बयान, कहा- जम्मू-कश्मीर का झंडा मिलने के बाद ही तिरंगा फहराउंगी◾भागलपुर रैली में राहुल का वादा - हमारी सरकार बनी तो बिहार के युवाओं को मिलेगा रोजगार◾भागलपुर रैली में जमकर बरसे PM मोदी - 15 साल में विपक्ष ने सत्ता को अपनी तिजोरी भरने का माध्यम बनाया◾महबूबा मुफ्ती का केंद्र वार, राष्ट्र के मुद्दों को हल करने में विफल मोदी सरकार◾बिहार चुनाव : वादों की झड़ी और नौकरी - रोजगार की 'बारिश', क्या मिल पायेगा जनता का विश्वास ?◾गया रैली में बोले पीएम मोदी - NDA के वोट की चोट पर महागठबंधन के जंगलराज का खात्मा तय◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

इराक: हमले में 23 प्रदर्शनकारियों की मौत, विरोध प्रदर्शन जारी

बगदाद में प्रदर्शनकारियों पर एक हमले में 23 लोगों की मौत हो गई और बड़ी संख्या में लोग घायल हुए हैं। नवीनतम आधिकारिक आंकड़ों में यह सामने आया है। हालांकि, हमले के बावजूद शनिवार को लोगों ने सरकार विरोधी प्रदर्शन जारी रखा। इराक के आंतरिक मामलों के मंत्रालय के एक सूत्र ने बताया कि अज्ञात हमलावरों ने शुक्रवार को अल-खलानी स्क्वायर पर प्रदर्शनकारियों पर गोलीबारी की, जिसमें 135 घायल भी हो गए। हमलावर इलाके में वाहनों के काफिले में घुस आए और वहां प्रदर्शन के लिए इकट्ठा हुए लोगों पर अंधाधुंध गोलियां बरसानी शुरू कर दी। 

अल-खलानी एक मल्टी-स्टोरी पार्किंग गैरेज के बगल में है, जिस पर दो महीने पहले शुरू हुई मौजूदा लामबंदी के बाद से प्रदर्शनकारियों द्वारा कब्जा कर लिया गया है। यह तहरीर चौक के करीब भी है, जो उस आंदोलन का केंद्र रहा है, जिसके कारण प्रधानमंत्री अदेल अब्दुल-महदी को पहले ही इस्तीफा देना पड़ा। इन हमलों के बावजूद प्रदर्शनकारियों के हौसले पस्त नहीं हुए हैं और उन्होंने सुधारों की मांग करते हुए अल-खलानी स्कवेयर और तहरीर स्कवेयर पर विरोध प्रदर्शन करना जारी रखा। 

इराकी राष्ट्रपति बरहम सालेह ने 'आपराधिक गिरोहों के सशस्त्र आपराधिक हमले' की निंदा की, हालांकि उन्होंने नाम नहीं लिया। उन्होंने सशस्त्र और हिंसक रवैये के बिना किसी भी नागरिक के विरोध और शांति से प्रदर्शन करने के जायज अधिकार पर जोर दिया। इराक के लिए संयुक्त राष्ट्र महासचिव की विशेष प्रतिनिधि जीनिन हेनिस-प्लास्चर्ट ने भी हमले की निंदा की। उन्होंने एक बयान में कहा, "सशस्त्र लोगों द्वारा निहत्थे प्रदर्शनकारियों की जानबूझकर हत्या इराक के लोगों के खिलाफ अत्याचार से कम नहीं है।" 

उन्नाव मामला: प्रशासन से आश्वासन मिलने के बाद पीड़िता के अंतिम संस्कार के लिए राजी हुआ परिवार

उन्होंने कहा, "अपराधियों की पहचान की जानी चाहिए और उन्हें बिना देर किए न्याय के कटघरे में लाया जाना चाहिए।" हजारों लोगों ने शुक्रवार को तहरीर स्क्वायर पर बुलाई, ताकि यह स्पष्ट हो सके कि उनकी मांगों को एक प्रधानमंत्री को दूसरे के साथ बदलने से परे है। 1 अक्टूबर को विरोध प्रदर्शन शुरू होने के बाद से 400 से अधिक मारे गए हैं और हजारों लोग घायल हुए हैं।