BREAKING NEWS

नकवी का कांग्रेस पर तंज- वोटों के ‘सियासी सौदागरों’ ने आजादी के बाद 75 वर्षों तक अल्पसंख्कों को दिया धोखा◾पंजाब में बदलाव का दौर जारी, छुट्टी पर गए DGP, अब इकबाल सिंह सहोता को मिला चार्ज◾कैप्टन के करीबियों को नहीं मिली चन्नी केबिनेट में जगह, सात नए चेहरे के शामिल होने की संभावना◾हमारा मकसद राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर रणनीतिक संबंध बनाना : राजनाथ सिंह◾भारत और अमेरिका का तालिबान से आग्रह- अफगानों के मानवाधिकारों का सम्मान करते हुए प्रतिबद्धताओं को करें पूरा◾भारत-US ने 26/11 हमले के दोषियों पर कार्रवाई का किया आह्वान, कहा- आतंकवाद के खिलाफ एक साथ खड़े हैं◾BJP अध्यक्ष नड्डा बोले- PM मोदी के नेतृत्व में बदल रही है भारत की तस्वीर, तेजी से हो रहा विकास◾इमरान खान का अंतरराष्ट्रीय समुदाय से गुहार- तालिबान नीत अफगानिस्तान सरकार को दी जाए मान्यता ◾रोहिणी कोर्टरूम शूटआउट मामले की जांच में जुटी दिल्ली पुलिस, परिसर के बाहर पुलिस बल तैनात ◾बाइडन की मोदी के साथ पहली बैठक से अमेरिकी संसद उत्साहित, क्वाड शिखर वार्ता का किया स्वागत ◾केरल में कांग्रेस को लगा एक और बड़ा झटका, प्रमुख नेता वी.एम. सुधीरन ने पीएसी छोड़ी ◾भाजपा जनसंख्या के अनुपात में पिछड़े वर्ग को हक़ नहीं देना चाहती : अखिलेश यादव ◾देशभर में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 29616 नए केस की पुष्टि, 290 लोगों की मौत◾क्वाड नेताओं ने बिना नाम लिए पाकिस्तान को लताड़ा, 'पर्दे के पीछे से आतंकवाद’ के इस्तेमाल की निंदा की◾जानिए कौन है स्नेहा दुबे, जिन्होंने संयुक्त राष्ट्र में कश्मीर मुद्दे पर की इमरान की बोलती बंद◾विश्व में जारी है कोरोना महामारी का प्रकोप, संक्रमितों का आंकड़ा 23.11 करोड़ से अधिक ◾UNGA में भारत का इमरान खान को मुंहतोड़ जवाब- पाकिस्तान तुरंत POK को खाली करे◾प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहुंचे न्यूयॉर्क, आज UNGA के 76वें अधिवेशन को करेंगे संबोधित ◾PM मोदी एक अक्टूबर को ‘स्वच्छ भारत मिशन शहरी 2.0’ की करेंगे शुरुआत : अधिकारी◾बाइडन ने PM मोदी के साथ बैठक में संभावित ‘इंडिया कनेक्शन’ के बारे में किया मजाक ◾

हमास के रॉकेट के जवाब में इजराइल की एयर स्ट्राइक, 20 लोगों की मौत, मृतकों में 9 बच्चे शामिल

गाजा पट्टी में इजराइल के साथ संघर्ष में 20 लोगों मौत हुई है। मृतकों में 9 बच्चे भी शामिल हैं। हाल के दिनों में यरुशलम में हुए तनाव में गाजा पट्टी में आतंकवादियों ने घातक मोड़ ले लिया और इजराइल ने अधिकारियों के अनुसार रॉकेट से हुए हमलों में कम से कम 20 लोगों को मार डाला है। 

डीपीए समाचार एजेंसी की रिपोर्ट के मुताबिक फिलिस्तीनी स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि मारे गए 20 लोगों में नौ बच्चे थे। इसके अलावा 65 से अधिक लोग घायल भी हुए हैं। लेकिन शुरू में यह स्पष्ट नहीं था कि किन परिस्थितियों में लोगों की मौत हुई। इजरायली सेना ने ट्विटर पर लिखा कि उसने हवाई हमले में तीन हमास कार्यकर्ताओं को निशाना बनाया और मार दिया। 

इजरायल ने यरुशलम के निकट ही बेत शेमेश के साथ-साथ बेत शेमेश की ओर से दागे गए रॉकेटों के एक बैराज के जवाब में तटीय परिक्षेत्र पर हवाई हमले किए। सेना के प्रवक्ता ने कहा कि आखिरी बार शहर में रॉकेट अलर्ट की आवाज 2014 में आई थी। इस बीच, इजराइल की सेना ने कहा कि गाजा पट्टी से सोमवार को इजराइल की ओर से आतंकवादी फिलिस्तीनी समूहों द्वारा 150 से अधिक रॉकेट दागे गए। दर्जनों इजराइल के आयरन डोम रक्षा प्रणाली द्वारा बाधित किए गए थे। 

इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने कसम खाई कि इजराइल 'बड़ी ताकत से जवाब देगा।' उन्होंने कहा, "आज शाम, यरूशलम दिवस पर, गाजा में आतंकवादी संगठनों ने एक लाल रेखा को पार किया है और यरूशलम के बाहरी इलाके में मिसाइलों से हमला किया है।" हाल के दिनों में यहूदियों को टेम्पल माउंट और यहूदियों को नोबल सेंक्चुरी के नाम से जाने वाले इसराइली सुरक्षा बलों और प्रदर्शनकारियों के बीच हिंसक झड़पें हुईं।

फिलिस्तीनी बचावकर्मियों ने सोमवार को कहा कि 300 से अधिक लोग घायल हुए हैं, जबकि इजराइल पुलिस का कहना है कि दो दर्जन अधिकारियों को चोट लगी थी। इस्लामवादी हमास आंदोलन ने सोमवार रात तक यरुशलम में शेख जर्राह के पड़ोस से और पवित्र स्थान में बसने वालों और पुलिस को वापस लेने के लिए एक अल्टीमेटम जारी किया था। इसके समाप्त होने के कुछ समय बाद, बड़े पैमाने पर रॉकेट हमलों की रिपोर्ट शुरू हुई। 

हमास के एक प्रवक्ता ने कहा कि रॉकेट इजराइल के लिए एक 'संदेश' और 'पवित्र शहर के खिलाफ अपने अपराधों और आक्रामकता की प्रतिक्रिया' थे। गाजा में इस्लामिक जिहाद समूह ने भी जिम्मेदारी का दावा किया है। एक इजराइल सेना के प्रवक्ता ने कहा कि कई फिलिस्तीनी संगठन हमलों में शामिल थे, लेकिन हमास को दोषी ठहराया गया है। उन्होंने कहा कि हमास को भारी नुकसान पहुंचाने का इरादा इजराइल का था। पश्चिम बैंक और यरुशलम के अरब बहुल पूर्वी हिस्से में स्थिति रमजान के उपवास महीने की शुरूआत से तनावपूर्ण रही है, जो इस सप्ताह के अंत में समाप्त होने वाले हैं।