BREAKING NEWS

लोकसभा में नागरिकता संशोधन विधेयक पारित, पक्ष में पड़े 311 वोट, विपक्ष में 80◾जब तक मोदी प्रधानमंत्री हैं, किसी भी धर्म के लोगों को डरने की जरूरत नहीं : शाह ◾महिलाओं के खिलाफ अत्याचार, चिंताजनक और शर्मनाक : नायडू ◾ओवैसी ने लोकसभा में नागरिकता विधेयक की प्रति फाड़ी भाजपा सदस्यों ने संसद का अपमान बताया ◾पूर्वोत्तर के अधिकतर राज्यों के दलों ने नागरिकता संशोधन विधेयक का समर्थन किया ◾अनुच्छेद 370 को रद्द किये जाने के खिलाफ याचिकाओं पर संविधान पीठ कल से करेगी सुनवाई ◾दुष्कर्म की राजधानी बना भारत, फिर भी चुप हैं मोदी : राहुल गांधी◾कांग्रेस कभी गठबंधन के भरोसे पर खरा नहीं उतरती : नरेन्द्र मोदी ◾TOP 20 NEWS 09 December : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾भीकाजी कामा प्लेस मेट्रो स्टेशन के नजदीक जेएनयू के छात्रों पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज ◾नागरिकता संशोधन विधेयक भाजपा के घोषणापत्र का हिस्सा रहा, जनता ने इसे मंजूर किया : अमित शाह◾कर्नाटक उपचुनाव : BJP को 12 सीटों पर जीत मिली, विधानसभा में मिला स्पष्ट बहुमत ◾कर्नाटक : सिद्धारमैया ने कांग्रेस विधायक दल के नेता पद से दिया इस्तीफा◾JNU छात्रों ने राष्ट्रपति भवन तक शुरू किया मार्च, पुलिस ने की शांतिपूर्ण प्रदर्शन की अपील◾रॉबर्ट वाड्रा को कोर्ट से बड़ी राहत, मेडिकल ट्रीटमेंट के लिए विदेश जाने की मिली अनुमति◾बीजेपी ने छह सीटें जीतने के साथ कर्नाटक विधानसभा में बहुमत किया हासिल ◾झारखंड में बोले राहुल- सत्ता में आने पर लोगों को जल, जंगल और जमीन लौटाया जाएगा◾कांग्रेस ने धर्म के आधार पर देश विभाजन किया जिसके कारण नागरिकता कानून में संशोधन की जरूरत पड़ी : अमित शाह◾अखिलेश यादव ने नागरिकता संशोधन विधेयक को बताया भारत और संविधान का अपमान◾झारखंड में बोले PM मोदी- कांग्रेस कभी भी गठबंधन के भरोसे पर खरा नहीं उतरी◾

विदेश

जेटली ने राज्यों से पेट्रोल, डीजल पर वैट में कटौती की अपील की

 jetli-1

ढाका : वित्त मंत्री अरूण जेटली ने आज राज्यों से अपील की कि वे पेट्रोल व डीजल पर बिक्री कर या वैट में कटौती करें ताकि आम उपभोक्ताओं को इ’धन की उंची कीमतों से राहत मिले। केंद सरकार ने कल पेट्रोल व डीजल के उत्पाद शुल्क में दो रुपये प्रति लीटर की कटौती की घोषणा की जिससे उस पर 26000 करोड़ रुपये का बोझ पड़गा।

तीन दिन की आधिकारिक यात्रा पर यहां आए जेटली ने कहा कि पेट्रोल व डीजल पर उत्पाद शुल्क में दो रुपये प्रति लीटर की कटौती कीमतों में लगातार बढ़तरी से राहत देने तथा उपभोक्ताओं के हाथों में और धन उपलब्ध करवाने के लिए किया गया। उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा अब यह राज्य सरकारों पर है कि क्या वे बिक्री कर या वैट में कटौती के मुद्दे को लेकर चिंतित हैं। विपक्षी दलों द्वारा शासित राज्यों का संदर्भ देते हुए उन्होंने कहा कि विशेषकर केरल व दिल्ली सहित कुछ राज्य सरकारें शुल्कों में कटौती की मांग करती रही हैं।

राज्य सरकारों को अपने खुद के वैट संग्रहण पर विचार करना चाहिए। भाजपा शासित राज्यों को भी वैट में कटौती को कहा जाएगा यह पूछे जाने पर जेटली ने कहा, मेरी राय में राज्य अपने विथ का प्रबंध करते हैं और मुझे विश्वास है कि राज्य अपने लोगों के करीब है। वहीं नयी दिल्ली में पेट्रोलियम मंत्री धमे’द, प्रधान ने कहा कि राज्यों को पेट्रोल व डीजल पर बिक्री कर में पांच प्रतिशत तक की कटौती करनी चाहिए। उन्होंने कह कि जेटली शीघ, ही इस मुद्दे पर सभी राज्यों को लिखेंगे।