BREAKING NEWS

PM ने अधीनम महंतों से की मुलाकात , लिया आशीर्वाद , अधीनम ने Modi को सौंपा सेंगोल◾ नए संसद भवन के उद्घाटन की पूर्व संध्या पर अधीनम ने पीएम मोदी को 'सेंगोल' सौंपा ,1947 में पूर्व पीएम जवाहरलाल नेहरू को दिया◾पटियाला हाउस कोर्ट ने अमृतपाल सिंह और अमरीक सिंह की NIA हिरासत 10 दिनों के लिए बढ़ाई◾Manipur Violence: मणिपुर सरकार ने इंटरनेट पर रोक 31 मई तक बढ़ाई◾राजस्थान: CM अशोक गहलोत का ऐलान, तूफान-बारिश से मरे लोगों के परिजनों को मिलेंगे 5-5 लाख ◾राजनाथ सिंह तीन दिवसीय नाइजीरिया की यात्रा के लिए होंगे रवाना◾Delhi Crime: दिल्ली में नीरज बवाना गैंग को हथियार सप्लाई करने वाला गिरफ्तार◾KCR ने किया पीएम मोदी से आग्रह, कहा- दिल्ली सेवा मामलों पर अध्यादेश वापस लें◾गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई को चार दिन की पुलिस हिरासत में भेजा ◾9 साल की उपलब्धियों को लेकर 2024 में हैट्रिक लगाने के लिए मिशन लोकसभा में जुटी भाजपा◾‘पहले की तरह मदद अब नहीं मिल रही’, CM नीतीश ने केंद्र पर लगाए आरोप ◾NIA ने मध्यप्रदेश में ISIS इशारे पर आतंक की साजिश रचने वाले तीन लोगो को गिफ्तार किया ◾SC के विकल ने राष्ट्रपति की जाति पर टिप्पणी करने पर CM केजरीवाल और खड़गे के खिलाफ दर्ज कराई शिकायत◾PM मोदी के 9 वर्षों पुरे होने पर बोले अरुण सिंह, कहा- इन सालों में देश की तस्वीर ही बदल गई ◾पीएम मोदी ने कार्यकाल के नौ साल पूर्ण होने पर जनता का आभार व्यक्त किया◾आसाराम को बड़ा झटका, राजस्थान HC ने मनोज बाजपेयी की फिल्म पर रोक लगाने से किया इनकार ◾पीएम मोदी की अध्यक्षता में निति आयोग की बैठक, आठ राज्यो के मुख्यमंत्रियो ने बनाई दूरी ◾रविशंकर प्रसाद बोले- नीति आयोग की बैठक में मुख्यमंत्रियों का नहीं आना दुर्भाग्यपूर्ण और गैर जिम्मेदाराना◾TMC महासचिव अभिषेक बनर्जी के काफिले पर हमला करने वाले 4 आरोपी गिरफ्तार, पुलिस कर रही पूछताछ◾15 साल की लड़की को अपने भाई से गर्भपात के खिलाफ सुनवाई करेगा केरल HC ◾

JI प्रमुख सिराजुल हक ने कहा- 'पाकिस्तान में राजनीतिक खींचतान के चलते लग सकता है मार्शल लॉ '

पाकिस्तान में, बहुत अधिक राजनीतिक लड़ाई चल रही है, और इसके कारण मार्शल लॉ लगाया जा सकता है। इसका अर्थ है कि सरकार आपके कुछ अधिकारों और प्रतिबंधों को वापस ले सकती है। पाकिस्तान जमात-ए-इस्लामी (जेआई) के प्रमुख सिराजुल हक ने कहा है कि पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट (पीडीएम) और पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के बीच तनाव के चलते देश में मार्शल लॉ लागू हो सकता है। जेआई प्रमुख ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा, मौजूदा पीडीएम सरकार देश पर बोझ बन गई है। सिराजुल हक ने विरोध प्रदर्शनों को दबाने के सरकार के प्रयासों की निंदा करते हुए कहा: शांतिपूर्ण प्रदर्शन हर राजनीतिक दल का संवैधानिक अधिकार है। द एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने सिराजुल हक के हवाले से कहा, सरकार और पाकिस्तान का निर्वाचन आयोग (ईसीपी) चुनाव से भागकर संविधान और सुप्रीम कोर्ट के आदेशों का उल्लंघन कर रहे हैं।

लोकतांत्रिक तरीके से ही टिका रह सकता है

सिराजुल हक ने कहा कि कार्यवाहक पंजाब प्रांतीय सरकार पीडीएम का हिस्सा है। उन्होंने कहा, उनके (कार्यवाहक सरकार के) बयानों से लगता है कि वे लंबे समय तक रहेंगे। मैं यह स्पष्ट करना चाहता हूं कि यह देश एक लोकतांत्रिक प्रक्रिया से अस्तित्व में आया है और केवल लोकतांत्रिक तरीके से ही टिका रह सकता है। द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार, गंभीर परिणामों की चेतावनी देते हुए उन्होंने घोषणा की कि वे संविधान को कमजोर करने वालों का विरोध करेंगे।

पहले मुद्रास्फीति का विरोध कर रहे थे

सत्तारूढ़ गठबंधन के दोहरेपन की ओर इशारा करते हुए, जेआई प्रमुख ने कहा कि पीपीपी और पीएमएल-एन सत्ता में आने से पहले मुद्रास्फीति का विरोध कर रहे थे। सिराजुल हक ने कहा, मुफ्त गेहूं के आटे की लाइनें मौत बेच रही हैं। द एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने बताया कि मूलभूत आवश्यकता को इकट्ठा करने की दौड़ में पांच गरीब लोग पहले ही शहीद हो चुके हैं। सिराजुल हक ने आरोप लगाया कि पीपीपी, पीएमएल-एन और पीटीआई समेत ये पार्टियां अपने प्रोटोकॉल, भत्तों, लग्जरी कारों और हवेलियों को छोड़ने को तैयार नहीं हैं।