BREAKING NEWS

गुजरात की नई कैबिनेट में पटेल समुदाय का दबदबा, कुल 24 मंत्रियों ने ली शपथ◾UP में सरकार ने बनने पर हर घर को 300 यूनिट बिजली मुफ्त देगी AAP पार्टी, मनीष सिसोदिया ने की घोषणा◾हैदराबाद रेप-मर्डर : रेलवे ट्रैक पर मिली आरोपी की लाश, 6 साल की बच्ची के साथ किया था दुष्कर्म◾PM ने रक्षा मंत्रालय के नए दफ्तरों का किया उद्घाटन, सेंट्रल विस्टा पर बोले- सच सामने आते ही विरोधी चुप ◾एक्टर सोनू सूद के घर पहुंची इनकम टैक्स की टीम, दूसरे दिन भी घर का सर्वे जारी◾CDS ने PAK को बताया चीन का ‘प्रॉक्सी’, ड्रैगन को चेतावनी- रॉकेट फोर्स तैयार कर रहा है भारत ◾दिल्ली-NCR में मौसम ने ली फिर करवट, तेज हवाओं के साथ कुछ इलाकों में बारिश◾गुजरात : भूपेंद्र पटेल की नई कैबिनेट का गठन, राजभवन में मंत्री लेंगे शपथ◾भारत में कोविड के 30570 नए मामलों की पुष्टि और 431 लोगों की मौत, उपचाराधीन मरीजों की संख्या हुई कम◾मिसाइल परीक्षण को लेकर किम की बहन ने की दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति की आलोचना, दे डाली ये धमकी◾ तालिबान घरों की ले रहा है तलाशी, अफगान महिलाओं ने शासन के खौफ और सदमे के दर्द को किया बयां ◾तालिबान का बयान- अफगानिस्तान को दी जाने वाली सहायता राशि हमें दें, सरकार इसे लोगों तक वितरित करेंगी ◾एलन मस्क की स्पेसएक्स ने रचा इतिहास, पहली बार 4 आम लोगों को अंतरिक्ष में भेजा, मिशन को दिया यह नाम ◾दुनियाभर में कोविड महामारी का कहर जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 22.63 करोड़ के पार ◾दुनिया के 100 प्रभावशाली व्यक्तियों में मोदी, ममता, पूनावाला का नाम◾भाजपा ने 'फर्जी हिंदुओं' वाले बयान को लेकर राहुल पर निशाना साधा◾पंजाब को दहलाने की साजिश : ISI समर्थिक आतंकी मॉड्यूल के चार और सदस्य गिरफ्तार, CM अमरिंदर ने जारी किया हाई अलर्ट◾आगामी यूपी विधानसभा चुनाव में AIMIM की क्या भूमिका होगी? असदुद्दीन ओवैसी ने दी विरोधियों को जानकारी◾मायावती पर योगी के मंत्री का पलटवार, कहा- बेरोजगारी में सड़कों के गड्ढे गिन रहीं ◾रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह बोले- पिछली तारीख से कराधान खत्म करने से सरकार और उद्योग के बीच भरोसा बढ़ा◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

जानिए कौन हैं इजराइल के नए PM नफ्ताली बेनेट, बेंजमिन नेतन्याहू को शासन से होना पड़ा बेदखल

इजराइल के नए प्रधानमंत्री के तौर पर रविवार को नफ्ताली बेनेट ने शपथ ले ली। पूर्व प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के कभी बेहद करीबी रहे बेनेट ने उनकी गलत नीतियों का विरोध कर आज यह मकाम हासिल किया है। बेनेट एक धर्मपरायण यहूदी हैं जिन्होंने विशेषकर धर्मनिरपेक्ष हाई-टेक क्षेत्र से लाखों कमाये हैं। पुनर्वास आंदोलन के अगुआ रहे बेनेट तेल अवीव उपनगर में रहते हैं। वह बेंजामिन नेतन्याहू के पूर्व सहयोगी रहे हैं। नेतन्याहू के 12 साल के शासन को खत्म करने के लिए बेनेट ने मध्य और वाम धड़े के दलों से हाथ मिलाया है।

उनकी घोर राष्ट्रवादी यामिना पार्टी ने मार्च में हुए चुनाव में 120 सदस्यीय नेसेट (इजराइल की संसद) में महज सात सीटें जीती थीं। लेकिन उन्होंने नेतन्याहू या अपने विरोधियों के आगे घुटने नहीं टेके और ‘किंगमेकर’ बन कर उभरे। अपनी धार्मिक राष्ट्रवादी पार्टी से एक सदस्य के पार्टी छोड़ने के बावजूद आज सत्ता का ताज उनके सिर पर है। बेनेट लंबे समय तक नेतन्याहू का दाहिना हाथ रहे। लेकिन वह उनके गठबंधन के तौर तरीकों से नाखुश थे। संसद में कम बहुमत के बावजूद वह दक्षिणपंथी, वामपंथी और मध्यमार्गी दलों के साथ गठबंधन कर सरकार बनाने में सफल रहे और इस वजह से आगे उनके लिए रास्ता आसान नहीं होगा।

बेनेट फलस्तीनी स्वतंत्रता के विरोधी हैं और वह कब्जे वाले वेस्ट बैंक और पूर्वी यरुशलम में यहूदी बस्तियों के घोर समर्थक हैं जिसे फलस्तीनी और अंतरराष्ट्रीय समुदाय के कई देश शांति की प्रक्रिया में बड़ा अवरोधक मानते हैं। अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति बराक ओबामा के दबाव में आकर बस्तियों के निर्माण कार्य को धीमा करने के नेतन्याहू के कदम का बेनेट ने जबरदस्त विरोध किया था। हालांकि अपने पहले कार्यकाल में ओबामा शांति प्रक्रिया बहाल करने में नाकाम रहे थे। इजराइल डेमोक्रेसी इंस्टीट्यूट के प्रमुख योहानन प्लेज्नर ने कहा, ‘‘वह एक दक्षिणपंथी नेता हैं, सुरक्षा को लेकर सख्त हैं, लेकिन वह एक व्यवहारिक सोच रखने वाले नेता हैं।’’

गुजरात में पार्टी को मजबूत करने की कोशिश में AAP, सीएम केजरीवाल आज कार्यालय का करेंगे उद्घाटन