BREAKING NEWS

शिया बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष वसीम रिजवी ने अपनाया हिंदू धर्म, परिवर्तन को लेकर दिया बड़ा बयान, जानें नया नाम ◾इशारों में आजाद का राहुल-प्रियंका पर तंज, कांग्रेस नेतृत्व को ना सुनना बर्दाश्त नहीं, सुझाव को समझते हैं विद्रोह ◾सदस्यों का निलंबन वापस लेने के लिए अड़ा विपक्ष, राज्यसभा में किया हंगामा, कार्यवाही स्थगित◾राज्यसभा के 12 सदस्यों का निलंबन के समर्थन में आये थरूर बोले- ‘संसद टीवी’ पर कार्यक्रम की नहीं करूंगा मेजबानी ◾Winter Session: निलंबन के खिलाफ आज भी संसद में प्रदर्शन जारी, खड़गे समेत कई सांसदों ने की नारेबाजी ◾राजनाथ सिंह ने सर्गेई लावरोव से की मुलाकात, जयशंकर बोले- भारत और रूस के संबंध स्थिर एवं मजबूत◾IND vs NZ: भारत ने न्यूजीलैंड को 372 रन से करारी शिकस्त देकर रचा इतिहास, दर्ज की सबसे बड़ी टेस्ट जीत ◾विपक्ष ने लोकसभा में उठाया नगालैंड का मुद्दा, घटना ने देश को झकझोर कर रख दिया, बिरला ने कही ये बात ◾UP विधानसभा चुनाव में BSP बनाएगी पूर्ण बहुमत की सरकार, मायावती ने किया दावा ◾दिल्ली में हल्का बढ़ा पारा, 'बहुत खराब' श्रेणी में दर्ज हुई वायु गुणवत्ता, फ्लाइंग स्क्वॉड की कार्रवाई जारी ◾पीएम मोदी ने किया ट्वीट! लोगों से टीकाकरण अभियान की गति बनाए रखने की अपील की◾अमित शाह नगालैंड में गोलीबारी की घटना पर संसद में आज देंगे बयान, 1 जवान समेत 14 लोगों की हुई थी मौत ◾लोकसभा में कई अहम बिल होंगे पेश, साथ ही बहुत से विधेयकों को मिलेगी मंजूरी, जानें क्या हैं संभावित मुद्दे ◾देश में नए वेरिएंट के खतरे के बीच कोरोना के 8 हजार से अधिक संक्रमितों की पुष्टि, इतने मरीजों हुई मौत ◾World Coronavirus: 26.58 करोड़ हुआ संक्रमितों का आंकड़ा, 52.5 लाख से अधिक लोगों की मौत ◾देश में तेजी से फैल रहा है कोरोना का नया वेरिएंट ओमिक्रॉन, जानिए किन राज्यों में मिल चुके हैं संक्रमित मरीज ◾आज भारत पहुंचेंगे रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, पीएम मोदी के साथ होगी शिखर वार्ता, ये होंगे मुद्दे ◾मथुरा में पुलिस का चप्पे-चप्पे पर पहरा, ड्रोन और सीसीटीवी से रखी जा रही नजर, अयोध्या में भी हाई अलर्ट ◾पंजाब सीएम चरणजीत सिंह चन्नी ने आप नेता के अवैध खनन के आरोप को किया खारिज◾UP: बुलंदशहर में RLD नेता काफिले पर अंधाधुंध फायरिंग हुई, चार घायल समेत एक की मौत◾

जानिए क्यों एक हजार से अधिक अफगानिस्तान के सैनिक भागे पड़ोसी देश तजाकिस्तान

अफगानिस्तान में पिछले काफी समय से शांति वार्ता को लेकर जद्दोजहद चल रही है, लेकिन लगता है कि अफगानिस्तान में शांति के लिए अभी लंबा संघर्ष करना पड़ेगा। अफगानिस्तान में तालिबान के बढ़ते रूतबे ने वहां की सरकार की चिंता को बढ़ा दिया है। अफगानिस्तान से उत्तर अटलांटिक संधि संगठन (नाटो) के सैनिकों की वापसी शुरू होने के बाद आक्रामक तेवर में आये तालिबान आतंकवादियों के साथ संघर्ष से बचने के लिए 1,000 से अधिक अफगान सैनिक सोमवार तड़के पड़सी देश तजाकिस्तान में भाग गये।

ताजिकिस्तान ने सीमा प्राधिकरण के अधिकारियों के एक बयान का हवाला देते हुए बताया कि 1,037 अफगान सैनिकों ने अपने कर्मियों की जान बचाने के लिए अफगानिस्तान के बदख्शां प्रांत से सीमा पार की। ताजिकिस्तान के राष्ट्रपति की वेबसाइट पर जारी एक बयान के अनुसार, राष्ट्रपति इमोमाली रहमोन ने सोमवार को सीमा पर 20,000 रिजर्व सैनिकों को जुटाने का आदेश दिया। ताजिक अधिकारी बार-बार कहते रहे हैं कि वे अफगानिस्तान के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप नहीं करेंगे।

हाल के दिनों में ताजिकिस्तान में यह तीसरी बार और दो सप्ताह में पांचवीं बार अफगानिस्तानी सैनिकों का पलायन हुआ है। अब तक कुल मिलाकर लगभग 1,600 सैनिक सीमा पार जा चुके हैं। गौरतलब है कि बदख्शां प्रांत के 28 जिलों में से एक को छोड़कर बाकी सभी जिलों पर तालिबान का कब्जा हो गया है और प्रांतीय राजधानी फैजाबाद तालिबानी लड़कों से घिरी हुई है। लोगों को चिंता है कि तालिबान किसी भी समय शहर में प्रवेश कर सकता है। रविवार रात से फैजाबाद में अफगानी सैनिकों की तैनाती की गयी है।