BREAKING NEWS

यूपी: कोरोना कर्फ्यू को किया गया समाप्त, सरकार ने कोविड-19 की स्थिति में सुधार के मद्देनजर लिया फैसला◾ पाकिस्तान के पीएम इमरान पर दूसरे देशों के प्रमुखों से मिले उपहार को बेचने का आरोप◾जीतन राम मांझी का बड़ा आरोप, बोले- फर्जी जाति के प्रमाणपत्र पर पांच सांसद लोकसभा के लिए चुने गए ◾पंजाब: डिप्टी CM रंधावा का अमरिंदर पर हमला, बोले- कैप्टन अवसरवादी है, जनता को धोखा दिया◾क्रूज ड्रग्स मामला: आर्यन खान की जमानत याचिका बॉम्बे हाईकोर्ट में दाखिल, क्या अब मिलेगी बेल? ◾अमरिंदर को भाजपा का खुला समर्थन, दुष्यंत गौतम बोले- राष्ट्र को सर्वोपरि रखने वालों के साथ गठबंधन को तैयार ◾SP-SBSP ने मिलाया हाथ, क्या योगी शासन के अंत की हो रही शुरुआत, राजभर बोले- अबकी बार BJP साफ ◾यूपी: सफाई कर्मी की पुलिस कस्टडी में हुई मौत, परिवार से मिलने आगरा जा रहीं प्रियंका को पुलिस ने लिया हिरासत में◾अखिलेश के तंज पर PM मोदी का पलटवार, कहा- ‘समाजवाद’ से ‘परिवारवाद’ के रास्ते पर उतर आई है सपा ◾आर्यन खान को लगा झटका, जमानत याचिका हुई खारिज, अब क्या करेंगे शाहरुख खान ?◾अभिधम्म दिवस पर बोले PM मोदी- तिरंगे पर जो ‘धम्म चक्र’ है, वह देश को आगे ले जाने की शक्ति है◾राहुल गांधी ने सरकार पर लगाया आरोप, कहा- संविधान,महर्षि वाल्मीकि के विचार और दलितों पर हो रहे हैं हमले ◾100 करोड़ टीकाकरण के आंकड़े को छूने पर BJP करेगी पूरे देश में कार्यक्रम, नड्डा जाएंगे गाजियाबाद ◾लखीमपुर खीरी हिंसा मामले पर SC ने यूपी सरकार को लगाई फटकार, कहा- गवाहों के बयान में हो रही है देरी◾पाकिस्तान के कश्मीर प्रेम को मिला इस देश का समर्थन, बोला- हम खुलकर सपोर्ट करते है◾हरीश रावत ने पार्टी नेतृत्व से किया आग्रह, कहा- पंजाब प्रभारी की जिम्मेदारी से मुक्त किया जाए◾अमित शाह आज बारिश से प्रभावित उत्तराखंड का करेंगे दौरा, राहत और बचाव कार्यो की करेंगे समीक्षा◾एयरपोर्ट में एक ईंट तक नहीं लगाई और कैंची लाए भाजपाई, अखिलेश बोले- पायलट बनने से प्लेन नहीं होता आपका ◾PM मोदी CBI और CVC की संयुक्त बैठक में बोले- भ्रष्टाचार लोगों के अधिकारों को छीन लेता है, नए भारत को यह स्वीकार नहीं◾कश्मीर घाटी से प्रवासियों के भागने की खबरों के बीच बोले मनीष तिवारी- 1990 को फिर से न दोहराने दें◾

लाहौर हाई कोर्ट ने की मौत की सजा के खिलाफ परवेज मुशर्रफ की याचिका वापस

लाहौर हाई कोर्ट ने पाकिस्तान के पूर्व सैन्य तानाशाह परवेज मुशर्रफ के उस आवेदन को लौटा दिया है जिसमें उन्होंने देशद्रोह के मामले में एक विशेष अदालत द्वारा सुनाई गई मौत की सजा को चुनौती दी थी। लाहौर हाई कोर्ट के रजिस्ट्रार कार्यालय ने शीतकालीन अवकाश के चलते पूर्ण पीठ की उपलब्धता न होने का हवाला देते हुए याचिका को लौटा दिया। 

वकील अजहर सिद्दीक के जरिए शुक्रवार को दायर इस याचिका में पाकिस्तान की संघीय सरकार और अन्य को प्रतिवादी बनाया गया था। इस 86 पन्नों की याचिका में मुशर्रफ ने खुद को सुनाई गई मौत की सजा को निरस्त कराने के लिए अदालत की पूर्ण पीठ के गठन की मांग की थी। विशेष अदालत ने देशद्रोह के मामले में 17 दिसंबर को मुशर्रफ को उनकी अनुपस्थिति में मौत की सजा सुनाई थी। 

सूत्रों के अनुसार अदालत के रजिस्ट्रार ने याचिका को इस टिप्पणी के साथ वापस कर दिया कि शीतकालीन अवकाश की वजह से पूर्ण पीठ उपलब्ध नहीं है। लाहौर हाई कोर्ट द्वारा गठित तीन सदस्यीय पीठ मुशर्रफ के मुख्य आवेदन पर नौ जनवरी को सुनवाई करेगी जिसमें उन्होंने अपने खिलाफ देशद्रोह की शिकायत से लेकर अंत तक सभी कार्यवाहियों को चुनौती दी है। मुशर्रफ के वकील सिद्दीक ने बताया कि विशेष अदालत के निर्णय के खिलाफ याचिका को लौटाते हुए रजिस्ट्रार ने याचिकाकर्ता से जनवरी के पहले सप्ताह में संबंधित याचिका पुन: दायर करने को कहा है।