BREAKING NEWS

लखीमपुर हिंसाः सुमित जायसवाल समेत 4 लोग गिरफ्तार, मौके पर जीप से निकलकर भागते हुए वायरल हुआ था वीडियो◾उत्तराखंड: शाह ने CM धामी से की बात, भारी बारिश से उपजे हालात का जाएजा लेकर हर संभव मदद का दिया भरोसा◾बाबुल सुप्रियो कल लोकसभा अध्यक्ष से मिलकर सांसद पद से देंगे इस्तीफा, BJP छोड़ TMC में हो चुके हैं शामिल◾रेल रोको आंदोलन रहा शांतिपूर्ण, कई किसान नेताओं को किया गिरफ्तार : एसकेएम◾झारखंड:गुमला में 2 नाबालिग बहनों के साथ हुआ गैंगरेप, BJP ने सरकार पर साधा निशाना ◾कश्मीर के कई इलाकों में इंटरनेट सेवा रोकी गई, एहतियात के तौर पर उठाया गया कदम◾PM मोदी बुधवार को कुशीनगर हवाई अड्डे का करेंगे उद्घाटन, अंतरराष्ट्रीय बौद्ध तीर्थस्थल से जुड़ेगी दुनिया◾J&K में गैर-कश्मीरियों पर लगातार हो रहे हमलों के बीच आर्मी चीफ नरवणे पहुंचे जम्मू, सुरक्षा स्थिति का लेंगे जाएजा◾कृषि कानूनों पर सत्यपाल मलिक बोले- किसानों की नहीं सुनी तो यह सरकार दोबारा नहीं आएगी ◾कोर्ट ने राम रहीम सहित 5 दोषियों को सुनाई उम्रकैद की सजा, 31 लाख रुपये का भी लगाया जुर्माना◾दुर्गापूजा हिंसा को लेकर प्रदर्शन के बीच बांग्लादेश में हिंदुओं के 29 घर फूंक दिए गए, हालात तनावपूर्ण ◾लक्षित हत्याओं के बाद कांग्रेस ने की मीटिंग, कहा- मोदी कुशासन ने कश्मीर को बनाया आतंक का अड्डा◾मैं राज्यपाल था तो श्रीनगर के 50-100 किलोमीटर के दायरे में घुस नहीं सकते थे आतंकी:सत्यपाल मलिक◾UP : सपा के बागी विधायक नितिन अग्रवाल बने डिप्टी स्पीकर, नरेंद्र वर्मा को 244 वोटों से दी मात ◾केरल बारिश : मरने वालों की संख्या बढ़कर 35 हुई, गृह मंत्रालय ने दिया हर संभव मदद का आश्वासन◾राष्ट्रीय सुरक्षा पर अमित शाह की हाई लेवल मीटिंग, कहा-आतंकी घटनाओं का माकूल जवाब दिया जायेगा◾ पेट्रोल और डीजल के दाम में बढ़ोतरी को लेकर राहुल का PM पर कटाक्ष, कहा- ये बेहद गंभीर मुद्दा है....◾रेल रोको आंदोलन : मोदीनगर रेलवे स्टेशन पर किसानों का प्रदर्शन समाप्त, तीन मांगों के साथ सौपा ज्ञापन ◾रेल रोको आंदोलन से 130 जगहों पर सेवाएं प्रभावित, देखें लिस्ट, किसानों ने दी ये बड़ी चेतावनी ◾उत्तराखंड में भारी बारिश के बाद एक बार फिर चारधाम यात्रा ठप्प, बिगड़े मौसम से जहां-तहां फंसे लोग ◾

नवनिर्वाचित राष्ट्रपति बाइडन के शपथग्रहण समारोह के मद्देनजर वाशिंगटन में लगा लॉकडाउन

अमेरिका के कैपिटल (संसद भवन) में हुए हिंसक दंगे और सुरक्षा चिंताओं के मद्देनजर जो बाइडन बुधवार को वाशिंगटन में कड़ी सुरक्षा के बीच अमेरिका के अगले राष्ट्रपति के तौर पर शपथ लेंगे। कानून प्रवर्तन अधिकारियों को ना केवल संभावित बाहरी खतरे का मुकाबला करना पड़ रहा है बल्कि उनकी चिंता है कि सुरक्षा की जिम्मेदारी संभाल रहा कोई कर्मी भी ड्यूटी के दौरान हमला कर सकता है। हालांकि, बाइडन को किसी विशेष खतरे का उल्लेख नहीं किया गया है। इसके बावजूद सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था की गई है।

राष्ट्रीय राजधानी में लॉकडाउन जैसी स्थिति है और 25 हजार से अधिक सैनिक और पुलिस कर्मियों को सुरक्षा में लगाया गया है। सुरक्षा तैयारियों के तहत सड़कों पर टैंक और कंक्रीट के अवरोधक लगाए गए हैं। राष्ट्रीय स्मारक को बंद कर दिया गया है। अमेरिकी संसद परिसर की घेराबंदी की गई और प्रत्येक मार्ग पर जांच चौकी बनाई गई है। पूरे कार्यक्रम को लेकर सुरक्षा जिम्मेदारी का निर्वहन कर रहे सीक्रेट सर्विस के अधिकारियों ने कहा कि वे किसी भी परिस्थिति के लिए तैयार हैं।

कानून प्रवर्तन अधिकारी ने बताया कि अधिकारी घोर दक्षिणपंथी और मिलिशिया समूह के सदस्यों की निगरानी कर रहे हैं। उनकी चिंता ऐसे संभावित समूहों के सदस्यों द्वारा वाशिंगटन में आकर हिंसक संघर्ष भड़काने को लेकर है। अधिकारी ने बताया कि शपथ ग्रहण समारोह से घंटों पहले संघीय एजेंट निर्वाचित नेताओं की धमकी और कार्यक्रम में घुसपैठ कर गड़बड़ी के इरादे संबंधी चर्चा सहित चिंताजनक ऑनलाइन चैटिंग करने वालों की निगरानी कर रहे हैं।

एफबीआई की जांच के बाद के नेशनल गार्ड के 12 कर्मियों को सुरक्षा ड्यूटी से हटा दिया गया है जिनमें से 2 ने बुधवार को होने वाले कार्यक्रम को लेकर उग्र बयान दिया था। हालांकि, पेंटागन के अधिकारियों ने उनकी विस्तृत जानकारी नहीं दी। 2 अन्य अमेरिकी अधिकारियों ने एसोसिएटड प्रेस को बताया कि हटाए गए सभी 12 कर्मियों के दक्षिण पंथी मिलिशिया समूह से संबंध थे या उन्होंने कट्टरपंथी विचार सोशल मीडिया पर साझा किए थे। नेशनल गार्ड ब्यूरो के प्रमुख जनरल डेनियल होकेंसन ने पुष्टि की है कि सदस्यों को कार्य से हटाकर घर भेजा गया है।