BREAKING NEWS

UN के मंच से पीएम मोदी की नसीहत, कोरोना महामारी से निपटने में संयुक्त राष्ट्र कहां है? ◾संयुक्त राष्ट्र के मंच से पीएम मोदी का संबोधन: UN की निर्णायक इकाई से भारत को आखिर कब तक दूर रखा जाएगा◾अमित शाह ने लद्दाख के जन प्रतिनिधियों से की मुलाकात◾ड्रग केस : श्रद्धा कपूर, सारा अली खान से एनसीबी की पूछताछ खत्म, किसी को नया समन नहीं भेजा गया ◾SRH vs KKR आईपीएल-13 : टॉस जीत सनराइजर्स हैदराबाद ने किया बल्लेबाजी का फैसला ◾राहुल ने किया केंद्र से आग्रह : प्रस्तावित कृषि कानूनों को वापस ले सरकार, एमएसपी की गारंटी दे◾ड्रग्स केस : एनसीबी के सामने दीपिका पादुकोण ने कबूली ड्रग चैट की बात, पांच घंटे तक हुई पूछताछ ◾वैज्ञानिकों ने हर मुश्किल और सामने आई सभी चुनौतियों को अवसर में बदला है: हर्षवर्धन◾वीरेंद्र सहवाग ने CSK का उड़ाया मजाक, कहा - टीम के बल्लेबाजों को ग्लूकोज चढ़वाने की जरूरत ◾भारत ने श्रीलंका में अल्पसंख्यक तमिलों के लिये सत्ता में भागदारी की हिमायत की : विदेश मंत्रालय◾BJP की नई टीम का ऐलान, राम माधव सहित 4 महासचिव बदले, देखें पूरी लिस्ट◾कांग्रेस का तीखा वार : श्रम सुधार संबंधी संहिताएं मजूदर विरोधी, सरकार के ‘डीएनए में’ है निर्णय थोपना◾ड्रग केस : अभिनेत्री श्रद्धा कपूर और सारा अली खान पर एनसीबी ने दागे तीखे सवाल , पूछताछ जारी◾पाकिस्तानी सेना ने एक बार फिर राजौरी में LOC पर संघर्ष विराम का उल्लंघन किया ◾पीएम मोदी UNGA को आज करेंगे संबोधित, आतंकवाद समेत इन मुद्दों पर होगी चर्चा ◾मोदी सरकार द्वारा किसानों पर किए जा रहे अत्याचार के खिलाफ साथ मिलकर उठाएं आवाज : राहुल गांधी ◾देश में एक दिन की वृद्धि के बाद फिर घटे कोरोना के एक्टिव केस, संक्रमितों का आंकड़ा 59 लाख के पार ◾बॉलीवुड से जुड़े ड्रग केस की जांच के लिए तैयार NCB, दीपिका पादुकोण एजेंसी के सामने हुईं पेश ◾दुनियाभर में कोरोना केस 3 करोड़ 24 लाख के पार, 9 लाख 87 हजार से अधिक की मौत◾पाकिस्तान ने फिर अलापा कश्मीर राग, भारत ने दिया करारा जवाब ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

मदुरो ने अमेरिका में वेनेजुएला के दूतावास को बंद किया

 वेनेजुएला के राष्ट्रपति निकोलस मदुरो ने अमेरिका स्थित अपने देश के दूतावास और वाणिज्य दूतावासों को बंद करने का आदेश दिया है और अपने राजनयिकों से अमेरिका से वापस आने को कहा है। इसके साथ ही उन्होंने अमेरिकी राजनयिकों को 72 घंटे के भीतर वेनेजुएला छोड़ने का आदेश दिया है। विपक्ष के नियंत्रण वाली संसद के प्रमुख जुआन गुआइदो द्वारा खुद को वेनेजुएला का अंतरिम राष्ट्रपति घोषित करने और उसके तुरंत बाद वॉशिंगटन द्वारा इस पर समर्थन जताने के बाद मदुरो ने सुप्रीम कोर्ट ऑफ जस्टिस (टीएसजे) के समक्ष यह बात रखी जिसके बाद तमाम मजिस्ट्रेट और अन्य सरकारी शाखाओं के प्रतिनिधियों ने उनके (मदुरो के) प्रति अपना समर्थन जताया।

 'एफे' की रिपोर्ट के अनुसार, 'मैंने हमारे देश के सभी कर्मियों, राजनयिकों और वाणिज्यिदूतों को वापस बुलाने और अमेरिका में हमारे सभी दूतावास और वाणिज्य दूतावासों को बंद करने का फैसला किया है।' मदुरो ने दोहराया कि बुधवार को उन्होंने 'डोनाल्ड ट्रंप की साम्राज्यवादी सरकार के साथ सभी राजनयिक और राजनीतिक संबंधों को तोड़ने और उनके सभी राजनयिक और अन्य कर्मियों को वेनेजुएला से 72 घंटों के भीतर निष्कासित करने का' निर्णय लिया।

 गुआइदो ने हालांकि मदुरो के फैसले को अस्वीकार कर दिया और सभी विदेशी दूतावासों को अपनी स्थिति में रहने के लिए कहा। अमेरिका ने साफ कर दिया कि वह अब मदुरो को देश का प्रमुख नहीं मानता, इसलिए वह उनके निर्देशों का पालन नहीं करेगा। अमेरिकी सरकार ने गुरुवार को मदुरो के देश छोड़ने के 72 घंटे के अल्टीमेटम की प्रतिक्रिया में वेनेजुएला से अपने सभी गैर-जरूरी कर्मियों को वापस आने का आदेश दिया। इसके बाद अलर्ट के तौर पर विदेश विभाग ने वेनेजुएला में रहने वाले या यात्रा कर रहे अमेरिकियों को देश छोड़ने पर गंभीरता से विचार करने की सलाह दी थी। इसी बीच अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने गुरुवार को सुरक्षा बलों को वेनेजुएला के स्वघोषित राष्ट्रपति (गुआइदो) की रक्षा करने का आग्रह किया और 'वेनेजुएला के लोगों' के लिए मानवीय सहायता के रूप में दो करोड़ डॉलर की धनराशि की घोषणा की।