BREAKING NEWS

हर घर तिरंगा अभियान : शौर्य चक्र से सम्मानित सिपाही औरंगजेब की मां ने अपने घर पर फहराया 'तिरंगा'◾दिल का दौरा पड़ने के बाद राजू श्रीवास्तव एम्स में भर्ती , वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखे गए◾माकपा ने 'मुफ्त उपहार' वाले बयान को लेकर PM मोदी पर निशाना साधा◾कांग्रेस ने महाराष्ट्र मंत्रिमंडल में संजय राठौर को शामिल किए जाने को लेकर BJP पर साधा निशाना◾High Court में जनहित याचिका : याददाश्त खो चुके हैं सत्येंद्र जैन, विधानसभा और मंत्रिमंडल से अयोग्य घोषित किया जाए◾केजरीवाल ने गुजरात में सत्ता में आने पर महिलाओं को 1000 रुपये मासिक भत्ता देने का किया ऐलान ◾ISRO ने गगनयान से जुड़ा LEM परीक्षण सफलतापूर्वक पूरा किया◾Corbevax Corona Vaccine : केंद्र सरकार ने वयस्कों को कॉर्बेवैक्स की बूस्टर खुराक देने को दी मंजूरी ◾भारत के अतीत, वर्तमान के लिए प्रतिबद्धता और भविष्य के सपनों को झलकाता है तिरंगा : PM मोदी◾ हिमाचल में भी खिसक सकती हैं भाजपा की सरकार ! कांग्रेस ने विधानसभा में लाया अविश्वास प्रस्ताव ◾काले कपड़ों में कांग्रेस के प्रदर्शन पर PM मोदी ने कसा तंज, कहा- जनता भरोसा नहीं करेगी...◾जब नीतीश कुमार ने कहा था - येन केन प्रकारेण सत्ता प्राप्त करूंगा, लेकिन अच्छा काम करूंगा◾न्यायमूर्ति यू यू ललित होंगे सुप्रीमकोर्ट के नए प्रधान न्यायधीश ◾दिग्गज कारोबारी अडानी को जेड प्लस सिक्योरिटी, आईबी ने दिया था इनपुट◾शपथ लेने के बाद नीतीश की गेम पॉलिटिक्स शुरू, मोदी के खिलाफ कर सकते हैं ये बड़ा काम ◾नुपूर को सुप्रीम राहत, जांच पूरी न होने तक नहीं होगी गिरफ्तारी, सभी एफआईआर को एक साथ जोड़ा ◾ ‘‘नीतीश सांप है, सांप आपके घर घुस गया है।’’, भाजपा नेता गिरिराज ने याद की लालू की पुरानी बात ◾ सुनील बंसल का बीजेपी में बढ़ा कद, बनाए गए पार्टी महासचिव◾पिता जेल में तो संभाली पार्टी की कमान, 75 सीट जीतकर किया धमाकेदार प्रदर्शन, जानिए तेजस्वी के संघर्ष की कहानी ◾बिहार विधानसभा अध्यक्ष विजय सिन्हा के खिलाफ लाया गया अविश्वास प्रस्ताव◾

अफगानिस्तान के युद्ध अधिग्रहण से ले सकते हैं कई सबक, सुरक्षा जैसे मुद्दों पर करनी होगी तालिबान से बात : EU

यूरोपीय संघ (ईयू) के विदेश मामलों के प्रमुख जोसेप बोरेल ने कहा है कि अफगानिस्तान और तालिबान के युद्ध अधिग्रहण से कई सबक सीखे जा सकते हैं। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, यूरोपीय संघ के विदेश मंत्रियों के एक आपातकालीन वीडियो कॉन्फ्रेंस के बाद बोरेल ने कहा, "तालिबान ने युद्ध जीत लिया है, इसलिए हमें उनसे बात करनी होगी।" बोरेल ने कहा, "मैंने अभी कहा था कि हमें उनके साथ हर चीज के बारे में बात करनी है, यहां तक कि महिलाओं और लड़कियों की रक्षा करने की भी कोशिश करनी है। इसके लिए भी आपको उनसे संपर्क करना होगा।"

बोरेल ने कहा, "हमें काबुल में अधिकारियों के संपर्क में रहना होगा, चाहे वे कुछ भी हों। एक मानवीय और संभावित प्रवासी आपदा को रोकने के लिए, जितनी जल्दी हो सके बातचीत में शामिल होना होगा।" उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान की नई सरकार के साथ यूरोपीय संघ द्वारा कोई भी सहयोग "एक शांतिपूर्ण और समावेशी समझौता और महिलाओं, युवाओं और अल्पसंख्यकों से संबंधित व्यक्तियों सहित सभी अफगानों के मौलिक अधिकारों के लिए सम्मान" पर आधारित होगा। अन्य प्रतिबद्धताएं जैसे भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई और आतंकवादियों द्वारा अफगान क्षेत्र के उपयोग को रोकना।

उन्होंने कहा कि अफगानिस्तान में नई वास्तविकता अक्टूबर 2001 में नाटो के समर्थन से संयुक्त राज्य अमेरिका द्वारा शुरू किए गए सैन्य अभियान की शुरूआत के 20 साल बाद आई है। मूल सैन्य और राजनीतिक प्रतिबद्धता, जो अल-कायदा आतंकवादी समूह को नष्ट करने के लिए है और अफगानिस्तान में एक आधुनिक राज्य के राष्ट्र निर्माण के लिए स्थानांतरित हो गई। "मिशन का पहला भाग सफल हुआ और दूसरा नहीं।"