BREAKING NEWS

उत्तर प्रदेश में COVID-19 से चौथी मौत, आगरा में 76 साल की महिला ने तोड़ा दम◾गृह मंत्रालय ने भी राज्यों को लिखा पत्र, कहा- जमाखोरों, कालाबाजारी करने वालों पर हो सख्त कार्रवाई◾कोविड-19 की जांच को लेकर SC ने कहा-प्राइवेट लैब में मुफ्त हो कोरोना टेस्ट ◾देश में लॉकडाउन से उत्पन्न हालात पर विचार विमर्श के लिए PM मोदी ने की राजनीतिक दलों के नेताओं से चर्चा ◾ब्राजील के राष्ट्रपति ने कोरोना को लेकर PM मोदी को लिखी चिट्ठी, भारत की मदद को बताया संजीवनी◾हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वाइन के निर्यात को मंजूरी मिलने के बाद बदले ट्रंप के सुर, PM मोदी को बताया महान◾देश में कोरोना वायरस से संक्रमितों की संख्या बढ़कर 5194 हुई, अबतक 149 लोगों की मौत ◾कोरोना वायरस को लेकर CM केजरीवाल राज्यसभा और लोकसभा सांसदों के साथ करेंगे बैठक◾PM मोदी ने भारतीय-अमेरिकी पत्रकार ब्रह्मा कांचीबोटला के निधन पर जताया शोक, कोविड-19 से हुआ निधन◾Covid-19 : PM मोदी आज लोकसभा और राज्यसभा के फ्लोर लीडर्स के साथ करेंगे बातचीत ◾अमेरिका में कोरोना के प्रकोप के बीच डोनाल्ड ट्रम्प ने की WHO के वित्त पोषण पर रोक लगाने की घोषणा◾Coronavirus : चीन के वुहान में 76 दिन के बाद खत्म हुआ लॉकडाउन ◾लॉकडाउन: दिल्ली पुलिस ने शब-ए-बारात के मद्देनजर मौलवियों, धार्मिक नेताओं से संपर्क साधा ◾ISIS आतंकी समूह ने सीआरपीएफ पर हुए ग्रेनेड हमले की जिम्मेदारी ली ◾कांग्रेस आरोप-प्रत्यारोप की राजनीति में शामिल, सोनिया कर रहीं जनता को गुमराह: भाजपा ◾नोएडा सेक्टर 8 में कोरोना संदिग्ध मिलने के चलते 28 परिवारों के 240 से ज्यादा लोग एहतियातन क्वारंटाइन किए गए ◾कोविड-19 : महाराष्ट्र में कोरोना से संक्रमित लोगों का आंकड़ा 1 हजार के पार◾दिल्ली राज्य कैंसर संस्थान को किया गया बंद, अस्पताल के कई कर्मचारी COVID-19 से संक्रमित◾हरियाणा में कोरोना के 23 नए मामलें आये सामने, राज्य में संक्रमितों कि संख्या बढ़कर 119 हुई ◾जम्मू-कश्मीर में COVID-19 से एक और व्यक्ति की मौत, अब तक125 लोग संक्रमित◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaLast Update :

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

समुद्री डाकुओं के कब्जे से छूटा मरीन एक्सप्रेस, सभी 22 भारतीय सुरक्षित : सुषमा स्वराज

पिछले महीने पश्चिमी अफ्रीका के बेनिन तट से लापता हुए मर्चेंट शिप को रिहा कर दिया गया है। भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने कहा कि 22 भारतीयों के साथ लापता हुए मर्चेंट शिप को रिहा कर दिया है। पिछले महीने 30 जनवरी को पश्चिमी अफ्रीका के बेनिन तट पर गैस ऑयल टैंकरों से लदा जहाज गायब हो गया था। जिसके बाद एमटी मरीन एक्सप्रेस के मालिक ने मुंबई में शिपिंग डायरेक्टर जनरल से मदद मांगी थी।

आपको बता दे कि अधिकारियों ने बताया कि समुद्री डाकुओं ने चार दिन बाद चालक दल के सभी सदस्यों को छोड़ दिया है। वे सुरक्षित हैं और जहाज ने आगे का अपना सफर शुरू कर दिया है।

सुषमा ने ट्वीट किया, ‘‘ मुझे आपको यह जानकारी देते हुए खुशी हो रही है कि मार्चेंट शिप मरीन एक्सप्रेस को छोड़ दिया गया है। इसपर 22 भारतीय नागरिक सवार थे।’’

I am happy to inform that Merchant Ship Marine Express with 22 Indian nationals on board has been released.

— Sushma Swaraj (@SushmaSwaraj) February 6, 2018

विदेश मंत्रालय ने मामले में मदद के लिए नाइजीरिया और बेनिन की सरकार का धन्यवाद किया।  सुषमा ने लापता तेल टैंकर का पता लगाने में मदद मांगने के लिए कल नाइजीरिया के अपने समकक्ष से बात की थी। अबुजा में भारतीय मिशन जहाज का पता लगाने के लिए नाइजीरिया और बेनिन के संपर्क में था। मुंबई में नौवहन की महानिदेशक मालिनी शंकर ने  बताया, ‘‘ मरीन एक्सप्रेस नाम के जहाज को छोड़ दिया गया है और यह अब कप्तान की कमान में है।’’

अभी स्पष्ट नहीं हो सका है कि पोत और सामान को छुड़ाने के लिए फिरौती दी गई है या नहीं। मरीन एक्सप्रेस को बेनिन में गिनी की खाड़ी में एक फरवरी को समुद्री डाकुओं ने अगवा कर लिया था। पोत पर मौजूद सभी संपर्क प्रणालियों को समुद्री डाकुओं ने बंद कर दिया था। जहाज मैनिंग एजेंट ‘एंग्लो इर्स्टन’ ने फेसबुक पर एक पोस्ट के माध्यम से बताया कि पनामा के ध्वजवाहक इस पोत को समुद्री डाकुओं ने अगवा कर लिया था। उन्होंने जहाज को सुरक्षित छोड़े जाने की पुष्टि की। पोस्ट में बताया गया है कि जहाज में 13,500 टन गैसोलिन अब भी है।

नौहवन महानिदेशालय (डीजीएस) के एक अधिकारी ने पहले बताया था कि समुद्र के जिस हिस्से से पोत को अगवा किया गया है वह असुरक्षित है क्योंकि इलाका समुद्री डाकुओं से भरा है। इस तरह की भी घटनाएं है कि समुद्री डाकुओं ने फिरौती की मांग किए बिना जहाज पर मौजूद सामान को लेकर पोत और चालक दल के सदस्यों को जाने दिया है। इस घटना के संबंध में डीजीएस के अधिकारियों ने नाइजीरिया में भारतीय मिशन से संपर्क किया जो स्थानीय एजेंसियों के साथ बचाव प्रयासों में समन्वय कर रहा था।

बेनिन के तट के पास जनवरी में एमटी बैरेट नाम के पोत के लापता होने के एक महीने से भी कम वक्त में यह जहाज लापता हुआ था। बाद में पुष्टि हुई थी कि एमटी बैरेट को अगवा कर लिया गया था। इस पोत पर चालक दल के 22 सदस्य थे जिसमें से अधिकतर सदस्य भारतीय थे। इसे फिरौती देने के बाद छोड़ा गया था।

देश और दुनिया का हाल जानने के लिए जुड़े रहे पंजाब केसरी  के साथ।