BREAKING NEWS

युवा विश्व चैंपियनशिप में भारत की सात महिला मुक्केबाजों को स्वर्ण ◾भारत में एक दिन में सर्वाधिक मामले, ऑक्सीजन आपूर्ति सुनिश्चित करने का केंद्र का राज्यों को निर्देश◾पडीक्कल के शतक और कोहली के अर्धशतक से रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर 10 विकेट से जीता ◾दिल्ली के अस्पतालों में ऑक्सीजन की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए तीन प्रशासनिक अधिकारी नियुक्त ◾महाराष्ट्र में कोविड-19 के 67,013 नए मामले, और 568 लोगों की मौत◾PM मोदी कोविड प्रभावित राज्यों के मुख्यमंत्रियों संग करेंगे संवाद, डिजिटल माध्यम से बंगाल के मतदाताओं को करंगे संबोधित◾फाइजर ने की भारत में गैर-मुनाफे वाली कीमत पर कोविड वैक्सीन आपूर्ति की पेशकश◾ऑक्सीजन की आपूर्ति पर कर रहा हूं बारीकी से निगरानी, अन्य राज्यों को कोटे के अनुसार आपूर्ति की जा रही : CM खट्टर◾उत्तर प्रदेश : कोरोना से पिछले 24 घंटे में 195 मरीजों ने तोड़ा दम, 34379 नए मामले की पुष्टि◾कोविड-19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर हरियाणा में शाम छह बजे तक सभी दुकानें बंद करने का आदेश ◾लॉकडाउन में युवक ने जताई गर्लफ्रेंड से मिलने की इच्छा, मुंबई पुलिस की हाजिरजवाबी ने जीता दिल ◾केंद्रीय गृह मंत्रालय ने ऑक्सीजन के निर्बाध उत्पादन, आपूर्ति के लिए आपदा प्रबंधन कानून लागू किया ◾PM मोदी ने कोविड-19 के कारण रद्द कीं बंगाल में होने वाली सभी चुनावी रैलियां, कोरोना के हालात पर करेंगे बैठक ◾केंद्र सरकार के पास पीएम केयर्स फंड में पर्याप्त धन, लेकिन मुफ्त टीका उपलब्ध नहीं करायेगी : ममता ◾अमित शाह का TMC पर प्रहार - ममता के वोट बैंक और अवैध प्रवासी बंगाल में हैं असली बाहरी◾देशभर में ऑक्सीजन की कमी को लेकर मचा हाहाकार, प्रधानमंत्री मोदी ने की उच्च स्तरीय बैठक◾सोशल मीडिया पर राहुल गांधी ने दिया सन्देश - हम वायरस को हराएंगे, फिर से गले मिलेंगे◾मनीष सिसोदिया बोले- राजधानी के कई अस्पतालों में ऑक्सीजन हुई खत्म, केंद्र से की ये मांग ◾ऑक्सीजन की आपूर्ति के लिए सरोज सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल ने दिल्ली HC का खटखटाया दरवाजा ◾ऑक्सीजन और दवाओं की कमी पर SC ने केंद्र सरकार से मांगा जवाब, पूछा- क्या है कोविड पर नेशनल प्लान◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

कुलभूषण जाधव मामले में आईसीजे के फैसले का मेक्सिको ने किया स्वागत

मेक्सिको ने भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव के मामले में अंतरराष्ट्रीय न्यायालय (आईसीजे) के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि न्यायालय ने इस मामले के जरिये काउंसलर कानून पर अपने न्यायशास्त्र को और गहरा किया और जोर देकर कहा कि वियना संधि और काउंसलर संबंधों के तहत आने वाले नियम अनावश्यक नियम नहीं हैं जिन्हें कोई भी देश अपनी मर्जी से चुन ले या छोड़ दे। 

मेक्सिको के विदेश मंत्रालय के कानूनी सलाहकार एलेजेंड्रो सिलोरियो ने अदालत के प्रधान न्यायाधीश अब्दुलकावी युसूफ द्वारा 193 सदस्यीय संरा निकाय में रिपोर्ट पेश करने के बाद बुधवार को महा सभा में कहा, "सदस्य राष्ट्र द्वारा राजनयिक और वाणिज्यिक जिम्मेदारियों को प्रभावी तरीके से पूरा करना अंतरराष्ट्रीय बहुपक्षीय प्रणाली के संचालन के लिये बेहद प्रासंगिक है।"

डोनाल्ड ट्रंप ने नए कार्यवाहक गृह सुरक्षा प्रमुख की घोषणा की

सिलोरियो ने कहा कि मेक्सिको आईसीजे द्वारा जाधव मामले में 17 जुलाई को दिये गए फैसले को रेखांकित करेगा जिसमें अदालत ने कहा कि विदेशी नागरिकों को हिरासत में लिये जाने पर राजनयिक पहुंच मुहैया कराया जाना जरूरी है। उन्होंने कहा, "यद्यपि जाधव मामले में, न्यायालय राजनयिक कानून के संदर्भ में अपने न्यायशास्त्र को व्यापक करने में सक्षम रहा और उसने इसे निर्बाध तरीके से लागू करने के महत्व को भी रेखांकित किया।" 

उन्होंने यह भी कहा कि एक स्वस्थ और सुचारु बहुपक्षीय प्रणाली विवादों के शांतिपूर्ण तरीके से हल होने पर निर्भर करती है। उन्होंने कहा, "यही वजह है कि जब बहुपक्षवाद को लागू करने की बात आती है तो आईसीजे की भूमिका महत्वपूर्ण है।" अंतरराष्ट्रीय न्यायालय की रिपोर्ट पर महासभा में विदेश मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव (विधि एवं संधि) उमा सेकर ने कहा कि यह रिपोर्ट उस महत्व और भरोसे को दर्शाती है जो राष्ट्र इस अदालत में व्यक्त करते हैं। 

उन्होंने कहा, "यह अदालत द्वारा सुलझाए जाने वाले मामलों की संख्या, प्रकृति और विविधता तथा सार्वजनिक अंतरराष्ट्रीय कानून के जटिल पहलुओं से निपटने की उसकी क्षमता से स्पष्ट है।" महासभा में बुधवार को अंतरराष्ट्रीय न्यायालय की रिपोर्ट पेश करते हुए यूसुफ ने 17 जुलाई के अपने फैसले में कहा कि संयुक्त राष्ट्र के प्रमुख न्यायिक अंग ने "पाया कि पाकिस्तान ने वियना संधि के अनुच्छेद 36 के तहत अपने दायित्वों का उल्लंघन किया था और इस मामले में उचित उपाय किए जाने बाकी थे।"

आईसीजे ने इस साल जुलाई में फैसला दिया था कि पाकिस्तान जाधव की मौत की सजा पर पुनर्विचार करे। पाकिस्तान की सैन्य अदालत ने ‘जासूसी और आतंकवाद’ के आरोप में भारत के सेवानिवृत्त नौसेना अधिकारी को 2017 में मौत की सजा सुनाई थी।