BREAKING NEWS

पश्चिम बंगाल विधानसभा में CAA विरोधी प्रस्ताव पारित, ममता बनर्जी ने केंद्र के खिलाफ लड़ने का किया आह्वान◾अफगानिस्तान के गजनी प्रांत में यात्री विमान हुआ दुर्घटनाग्रस्त, 110 लोग थे सवार◾उत्तर प्रदेश में हुए सीएए विरोधी प्रदर्शनों के दौरान PFI से जुड़े 73 खातों में जमा हुए 120 करोड़ रुपए◾भारत के टुकड़े-टुकड़े करने की मंशा रखने वालों को मिल रही है शाहीन बाग प्रदर्शन की आड़ : रविशंकर प्रसाद◾सुप्रीम कोर्ट का NPR की प्रक्रिया पर रोक लगाने से इनकार, केंद्र को जारी किया नोटिस◾केजरीवाल बताएं, भारत को तोड़ने की चाह रखने वालों का समर्थन क्यों कर रहे : जेपी नड्डा◾शरजील इमाम के बाद एक और विवादित वीडियो आया सामने, संबित पात्रा ने ट्वीट कर कही ये बात◾निर्भया केस : दोषी मुकेश ने की दया याचिका अस्वीकृत करने के खिलाफ SC से तत्काल सुनवाई की मांग◾दिग्विजय सिंह की PM मोदी को सलाह, कहा-NRC के बजाय शिक्षित बेरोजगारों का राष्ट्रीय रजिस्टर करें तैयार ◾‘एयर इंडिया’ में 100 फीसदी हिस्सेदारी बेचेगी केंद्र सरकार, 17 मार्च 2020 तक लगाई जा सकती हैं बोलियां◾बेरोजगारी को लेकर प्रियंका का मोदी सरकार पर वार, बोलीं-7 क्षेत्रों में बेरोजगार हो गए साढ़े 3 करोड़ लोग◾ CAA के खिलाफ ममता बनर्जी आज पश्चिम बंगाल विधानसभा में पेश करेंगी प्रस्ताव◾कोरोना वायरस मामला : चीन से बिहार लौटी युवती PMCH में भर्ती◾दिल्ली चुनाव : अमित शाह की रैली में सीएए का विरोध कर रहे युवक को लोगों ने पीटा◾ईरान से तनाव के बीच इराक की राजधानी में अमेरिकी दूतावास पर फिर हमला, दागे गए 3 रॉकेट◾सोनिया गांधी के घर बजट सत्र को लेकर कांग्रेस की आज बैठक, सरकार को घेरने की बनेगी रणनीति◾कोहरे के कारण दिल्ली आने वालीं 14 ट्रेनें 1 से 3 घंटे तक लेट ◾बोडो शांति समझौते पर हस्ताक्षर से पहले सभी पक्षकारों को विश्वास में लिया जाए : कांग्रेस ◾चीन में कोरोनावायरस संक्रमण से अभी तक कोई भारतीय प्रभावित नहीं : विदेश मंत्रालय ◾सभी शरणार्थियों को CAA के तहत दी जाएगी नागरिकता : पश्चिम बंगाल भाजपा प्रमुख ◾

वेनेजुएला में सैन्य अदालत ने 50 प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया : गैर सरकारी संगठन

कराकस : वेनेजुएला की सैन्य अदालतों ने राष्ट्रपति निकोलस मादुरो की संकटग्रस्त सरकार के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन में शामिल कम से कम 50 नागरिकों को हिरासत में लेने का आदेश दिया है। गैर सरकारी संगठन 'फोरो पेनाल' (आपराधिक न्याय फोरम) से संबद्ध वकील अल्फ्रेडो रोमेरो ने कल समाचार एजेंसी एएफपी से कहा कि संदिग्ध नागरिकों से संबंधित सेना की सुनवाई कई दिन तक चलती है।

हिरासत में लिये गये नागरिकों का प्रतिनिधित्व करने वाले रोमेरो ने कहा, ''वेनेजुएला की सैन्य अदालतों में अभी तक 75 लोगों को पेश किया गया है। इनमें से पचास लोग हिरासत में ही हैं।\" सरकार के अधिकारियों ने गिरफ्तारी या संदिग्ध नागरिकों के खिलाफ सैन्य प्रक्रिया की पुष्टि नहीं की है। फारो पीनल के कानूनी विशेषज्ञ लुईस बेटेनकोर्ट के अनुसार गुएरिको राज्य में 50 लोगों को हिरासत में लिया गया है। उन्होंने बताया कि दंगा रोधी सैनिकों ने कल हजारों प्रदर्शनकारियों पर आंसू गैस के गोले दागे। संविधान में सुधार के लिये मादुरो के प्रयासों के खिलाफ कई दिनों से विरोध प्रदर्शन जारी है।

अधिकारियों के मुताबिक, एक अपै्रल से जारी हिंसक विरोध प्रदर्शनों और झड़पों में अभी तक 36 लोगों की मौत हो गयी और सैकड़ों लोग जख्मी हो गये हैं।

(एएफपी)