BREAKING NEWS

राज्यसभा में पूर्वोत्तर की सभी पार्टियों ने नागरिकता विधेयक के पक्ष में वोट किया : गोयल ◾येचुरी ने सरकार पर लगाया आरोप कहा- भाजपा CAB के जरिए द्विराष्ट्र के सिद्धांत को फिर से जिंदा करने की कोशिश कर रही है ◾नागरिकता विधेयक के खिलाफ जारी प्रदर्शनों के बीच मुख्यमंत्री के घर पर किया गया पथराव ◾नागरिकता संशोधन विधेयक को निकट भविष्य में अदालत में चुनौती दी जाएगी : सिंघवी ◾नागरिकता विधेयक को संसद की मंजूरी मिलने पर भाजपा ने खुशी जताई ◾सुप्रीम कोर्ट में खारिज हो जाएगा CAB : चिदंबरम ◾नागरिकता विधेयक पारित होना संवैधानिक इतिहास का काला दिन : सोनिया गांधी◾मोदी सरकार की बड़ी जीत, नागरिकता संशोधन बिल राज्यसभा में हुआ पास◾ राज्यसभा में अमित शाह बोले- CAB मुसलमानों को नुकसान पहुंचाने वाला नहीं◾कांग्रेस का दावा- ‘भारत बचाओ रैली’ मोदी सरकार के अस्त की शुरुआत ◾राज्यसभा में शिवसेना का भाजपा पर कटाक्ष, कहा- आप जिस स्कूल में पढ़ रहे हो, हम वहां के हेडमास्टर हैं◾CM उद्धव ठाकरे बोले- महाराष्ट्र को GST मुआवजा सहित कुल 15,558 करोड़ रुपये का बकाया जल्द जारी करे केन्द्र◾TOP 20 NEWS 11 December : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾कपिल सिब्बल ने राज्यसभा में कहा- विभाजन के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार बताने पर माफी मांगें अमित शाह◾नागरिकता विधेयक के खिलाफ असम में भड़की हिंसा, पुलिस ने चलाई रबड़ की गोलियां◾चिदंबरम ने CAB को बताया 'हिन्दुत्व का एजेंडा', कानूनी परीक्षण में नहीं टिकने का जताया भरोसा◾इसरो ने किया डिफेंस सैटेलाइट रीसैट-2BR1 लॉन्च, सेना की बढ़ेगी ताकत ◾हैदराबाद एनकाउंटर: सुप्रीम कोर्ट ने जांच के लिए पूर्व न्यायाधीश को नियुक्त करने का रखा प्रस्ताव ◾पाकिस्तान : हाफिज सईद के खिलाफ आतंकवाद वित्तपोषण के आरोप तय◾मनमोहन सिंह की सलाह पर लाया गया है नागरिकता संशोधन विधेयक : भाजपा◾

विदेश

रोहिंज्ञा मुद्दे पर म्यांमार अपने वादे से मुकरा : शेख हसीना

 sheikh hasina

बंगलादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने रविवार को दस लाख से अधिक रोहिंज्ञा नागरिकों के स्वदेश लौटने को लेकर म्यांमार की ओर से किये गये वादे से मुकरने का आरोप लगाया और आशंका जताई कि कुछ अंतर्राष्ट्रीय सहायता एजेंसियां संकट को बनाये रखने के लिए इसका इस्तेमाल करेगी। 

सुश्री हसीना ने आधिकारिक आवास गणभवन में संवाददाता सम्मेलन में कहा कि समस्या म्यांमार के साथ है क्योंकि वह नहीं चाहता है कि रोहिंज्ञा किसी भी तरह से वापस लौटे। उन्होंने कहा कि म्यांमार ने बंगलादेश के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किया है जिसमें उन्हें(रोहिंज्ञा को) वापस लेने का वादा किया है। 

प्रधानमंत्री ने आशंका जतायी कि कुछ अंतर्राष्ट्रीय सहायता एवं स्वैच्छिक एजेंसियां है जो इस संकट को हल करने के लिए तैयार नहीं है, वे चाहती हैं कि शरणार्थी कभी स्वदेश न लौटे। 

सुश्री हसीना जापान, सऊदी अरब और फिनलैंड के अपने त्रि-राष्ट्र दौरे से लौटने के एक दिन बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा कि यह वही है जो मैं देख रही हूं। 

इस धारणा के बारे में टिप्पणियों के लिए कहा गया कि तीन प्रमुख देशों - चीन, जापान और भारत - ने इस संकट पर म्यांमार का पक्ष लिया तो उन्होंने(प्रधानमंत्री) ने कहा कि बंगलादेश ने इन देशों के साथ अलग-अलग बातचीत की और सभी देशों ने रोहिंज्ञाओं के म्यांमार के नागरिक होने की बात स्वीकार की और वहां वापस लौटने पर सहमति व्यक्त की। 

उन्होंने कहा कि हालांकि तीन देशों ने तर्क दिया कि यदि वे सभी म्यांमार का विरोध करेंगे तो उसे(म्यांमार को) मनाने वाला कौन बचेगा। 

यह पूछे जाने पर कि चीन के सक्रिय समर्थन प्राप्त करने के लिए जापान के बाद चीन जाने की योजना बनाई है तो उन्होंने (शेख हसीना) ने सकारात्मक जवाब देते हुए कहा कि इस साल जुलाई में चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के आमंत्रण पर शिखर सम्मेलन में शामिल होने की योजना बनाई है।

प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि आमंत्रण मिलने पर वह भारत का भी दौरा करेंगी। साथ ही यह भी कहा कि उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द, मोदी के दोबारा चुने जाने पर उन्हें बधाई दी थी।