BREAKING NEWS

असम के लोगों से PM की अपील, कांग्रेस बोली- मोदी जी, वहां इंटरनेट सेवा बंद है◾केंद्र सरकार महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर संविधान की आत्मा छलनी करने वाला बिल लाई : प्रियंका ◾पाकिस्तान की ओर से हो रहे घुसपैठ की कोशिशों को नजरअंदाज कर रही है सरकार: शिवसेना ◾हैदराबाद एनकाउंटर मामले में SC ने 3 सदस्यीय जांच आयोग का किया गठन◾आईयूएमएल ने नागरिकता संशोधन विधेयक को सुप्रीम कोर्ट में दी चुनौती ◾असम के लोगों से PM मोदी की अपील, बोले- कोई नहीं छीन सकता आपके अधिकार◾झारखंड विधानसभा चुनाव: तीसरे चरण में 17 सीटों पर 9 बजे तक 13 फीसदी मतदान◾झारखंड विधानसभा चुनाव : PM मोदी ने मतदाताओं से बड़ी संख्या में मतदान का किया आग्रह◾गोवा : CM प्रमोद सावंत ने संसद में CAB पारित होने पर प्रधानमंत्री को दी बधाई◾नागरिकता बिल पर असम में व्यापक विरोध प्रदर्शन, कई जिलों में इंटरनेट बंद◾राज्यसभा में पूर्वोत्तर की सभी पार्टियों ने नागरिकता विधेयक के पक्ष में वोट किया : गोयल ◾येचुरी ने सरकार पर लगाया आरोप कहा- भाजपा CAB के जरिए द्विराष्ट्र के सिद्धांत को फिर से जिंदा करने की कोशिश कर रही है ◾नागरिकता विधेयक के खिलाफ जारी प्रदर्शनों के बीच मुख्यमंत्री के घर पर किया गया पथराव ◾नागरिकता संशोधन विधेयक को निकट भविष्य में अदालत में चुनौती दी जाएगी : सिंघवी ◾नागरिकता विधेयक को संसद की मंजूरी मिलने पर भाजपा ने खुशी जताई ◾सुप्रीम कोर्ट में खारिज हो जाएगा CAB : चिदंबरम ◾नागरिकता विधेयक पारित होना संवैधानिक इतिहास का काला दिन : सोनिया गांधी◾मोदी सरकार की बड़ी जीत, नागरिकता संशोधन बिल राज्यसभा में हुआ पास◾ राज्यसभा में अमित शाह बोले- CAB मुसलमानों को नुकसान पहुंचाने वाला नहीं◾कांग्रेस का दावा- ‘भारत बचाओ रैली’ मोदी सरकार के अस्त की शुरुआत ◾

विदेश

अदालत में पेश हुए नवाज शरीफ

 2-23

पाकिस्तान के अपदस्थ प्रधानमंत्री नवाज शरीफ पनामा पेपर घोटाले में उनके खिलाफ चल रहे भ्रष्टाचार के मुकदमे का सामना करने के लिए आज भ्रष्टाचार रोधी एक अदालत के समक्ष पेश हुए। शरीफ अपनी बेटी मरियम के साथ अदालत पहुंचे। संकट में फंसे शरीफ परिवार और सउदी अरब के बीच एक समझौता होने की खबरों के बीच शरीफ 30 दिसंबर को सउदी अरब गए थे लेकिन वह कल वापस लौट आए।

पाकिस्तान के उच्चतम न्यायालय द्वारा 28 जुलाई को सुनाये गए फैसले के बाद आठ सितंबर को उनके खिलाफ भ्रष्टाचार के तीन मामले दर्ज किए गए थे। इसी फैसले में शरीफ को प्रधानमंत्री पद के लिए अयोज्ञ भी ठहराया गया था और राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (एनएबी) को उनके खिलाफ भ्रष्टाचार के मामले दर्ज करने का आदेश दिया था।

ब्यूरो ने आज अदालत में दो गवाह पेश किए जिनके बयान रिकॉर्ड किए गए और बचाव पक्ष के वकील ने उनसे जिरह की। यह तीन मामले अल-अजीजिया स्टील मिल्स, फ्लैगशिप इंवेस्टमेंट लिमिटेड समेत कई कंपनियों और लंदन के एवेनफील्ड में खरीदी गई संपत्तियों से जुड़े हैं। शरीफ और उनका परिवार विदेश में अघोषित संपत्ति रखने के आरोपों का सामना कर रहा है। मामले की पिछली सुनवाई 19 दिसंबर को हुई थी।

इस मामले में अभियोजन पक्ष की ओर से अबतक 10 गवाहों ने अपने बयान दर्ज कराए हैं। यह 11वीं बार है जब शरीफ सुनवाई में शामिल हुए हैं। देश के सबसे ताकतवर राजनीतिक परिवार और सथारूढ़ पीएमएल-एन पार्टी का नेतृत्व करने वाले शरीफ का राजनीतिक भविष्य तब से दांव पर लगा हुआ है। अगर वह दोषी साबित होते हैं तो उन्हें जेल जाना पड़ सकता है। शरीफ परिवार का आरोप है कि यह मामले राजनीति से प्रेरित हैं।

24X7  नई खबरों से अवगत रहने के लिए क्लिक करे