BREAKING NEWS

केंद्र सरकार के मंत्रिमंडल विस्तार में JDU ने दिखाई दिलचस्पी, कहा- सहयोगियों को मिलना चाहिए सम्मानजनक हिस्सा ◾दिग्विजय के बयान पर कांग्रेस का बचाव : जम्मू-कश्मीर पर सीडब्ल्यूसी का प्रस्ताव देखें वरिष्ठ नेता ◾राजधानी दिल्ली में कोविड-19 पर लगी ब्रेक, तीन महीने में सबसे कम नए मामले आये सामने ◾कोविड की दूसरी लहर के दौरान बच्चों के नियमित टीकाकरण में भारी गिरावट पर विशेषज्ञों ने जताई चिंता ◾कोरोना के बहाने बिहार BJP का तंज - 'घरों से उतना ही बाहर निकलें जितना राहुल गांधी मंदिर जाते हैं' ◾सूदखोर ने इतना किया परेशान कि परिवार को देनी पड़ी जान, ऑडियो क्लिप से हुआ आत्महत्या पर खुलासा◾'रक्षकों को बचाओ' : डॉक्टरों पर हमलों के खिलाफ 18 जून को देशव्यापी प्रदर्शन करेगा IMA ◾कोविड-19 दवाओं और उपकरणों पर टैक्स में कटौती, कोरोना वैक्सीन पर 5% GST कायम ◾पिछड़ी जातियों को लेकर क्या है भाजपा की चुनावी रणनीति, पार्टी हाईकमान ले सकता है ये अहम फैसले ◾बहु-प्रतीक्षित विकास और प्रगति के नए युग की शुरुआत करेगा BSP-SAD गठबंधन : मायावती◾दिग्विजय सिंह के क्लब हाउस चैट लीक पर गिरिराज बोले - कांग्रेस का पहला प्यार पाकिस्तान ◾मोदी ने गिरायी है देश की प्रतिष्ठा, डरपोक व्यक्ति की तरह व्यवहार करते हैं PM : प्रियंका गांधी ◾कांग्रेस ने महामारी से मौत के आंकड़े छिपाये जाने का लगाया आरोप, UP- MP और गुजरात के CM इस्तीफा दें◾आर्टिकल 370 करेंगे बहाल......ऑडियो चैट के बाद फारूक अब्दुल्ला ने दिग्विजय का जताया आभार◾जम्मू-कश्मीर : शोपियां में आंतकवादियों ने किया बड़ा हमला, 2 जवान शहीद, 2 नागरिकों की मौत ◾पंजाब विधानसभा चुनाव : अकाली दल और BSP के बीच गठबंधन, जानें किसे मिली कितनी सीटें◾लगातार भारी बारिश से बेहाल मुंबई, मौसम विभाग की चेतावनी के मद्देनजर अलर्ट मोड में प्रशासन ◾दिग्विजय के ऑडियो चैट को लेकर हमलावर BJP, संबित पात्रा बोले-INC को बदलकर ANC कर ले कांग्रेस◾मनरेगा को लेकर राहुल का वार- सरकार किसी की भी हो, जनता भारत की है और जनहित हमारी जिम्मेदारी◾कोविड की तीसरी लहर आने की आशंका प्रबल, युद्ध स्तर पर तैयारियां कर रही दिल्ली सरकार : CM केजरीवाल ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

नेपाल के PM ओली को उच्चतम न्यायालय से करारा झटका, संसद भंग करने का फैसला पलटा

नेपाल के उच्चतम न्यायालय ने मंगलवार को तय समय से पहले चुनाव की तैयारियों में जुटे प्रधानमंत्री के पी शर्मा ओली को झटका देते हुए संसद की भंग की गई प्रतिनिधि सभा को बहाल करने का आदेश दिया है। 

प्रधान न्यायधीश चोलेंद्र शमशेर जेबीआर की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संविधान पीठ ने 275 सदस्यों वाले संसद के निचले सदन को भंग करने के सरकार के फैसले पर रोक लगाते हुए सरकार को अगले 13 दिनों के अंदर सदन का सत्र बुलाने का आदेश दिया। 

सत्ताधारी दल में खींचतान के बीच नेपाल उस समय सियासी संकट में घिर गया था जब प्रधानमंत्री ओली की अनुशंसा पर राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी ने 20 दिसंबर को संसद की प्रतिनिधि सभा को भंग कर दिया था। ओली के प्रतिनिधि सभा को भंग करने के फैसले का पुष्प कमल दहल ‘प्रचंड’ के नेतृत्व वाले नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी के विरोधी धड़े ने विरोध किया था। प्रचंड सत्ताधारी दल के सह-अध्यक्ष भी हैं। 

प्रतिनिधि सभा को भंग करने के अपने फैसले का ओली यह कहते हुए बचाव करते रहे हैं कि उनकी पार्टी के कुछ नेता “समानांतर सरकार” बनाने का प्रयास कर रहे थे। शीर्ष अदालत में संसद के निचले सदन की बहाली के लिये सत्ताधारी नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी के मुख्य सचेतक देव प्रसाद गुरुंग की याचिका समेत 13 रिट याचिकाएं दायर की गई थीं।