BREAKING NEWS

आज का राशिफल (03 फरवरी 2023)◾पाकिस्तान: PM शहबाज शरीफ ने कराची में परमाणु संयंत्र की तीसरी इकाई का उद्घाटन किया◾वीरेन्द्र सचदेवा ने कहा- 'दिल्ली के LG पर गैरजिम्मेदाराना टिप्पणी करना उचित नहीं'◾यूपी: राम जन्मभूमि स्थल को बम से उड़ाने की 'धमकी', पुलिस सतर्क◾दिल्ली: HC का जेल अधिकारियों को निर्देश, PFI के पूर्व प्रमुख अबूबकर को प्रभावी इलाज कराया जाए उपलब्ध ◾CM योगी बोले- सप्तऋषि की तरह देश का मार्गदर्शन करेगा केंद्रीय बजट, यूपी को होगा विशेष लाभ◾महाराष्ट्र एटीएस ने PFI के पांच गिरफ्तार सदस्यों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल किया ◾CM केजरीवाल ने कहा- मेरी अंग्रेजी इतनी अच्छी नहीं है, जितनी अच्छी हमारे स्कूलों के बच्चे बोलते हैं◾बिहार : 'वीडियो बंद करिए न', खगड़िया में महिला हेल्थ ऑफिसर से फेस मसाज कराने का वीडियो वायरल, जानें पूरा मामला ◾स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा- अपमानजनक टिप्पणियों का दर्द केवल महिलाएं और शूद्र ही समझ सकते हैं◾उम्मीद है कि सुप्रीम कोर्ट GNCTD संशोधन अधिनियम को खत्म कर देगा : मुख्यमंत्री केजरीवाल◾लश्कर के आतंकी के पास से पहली बार मिला 'Perfume Bomb', सरकारी स्कूल में पढ़ाता था आतंकी◾छत्तीसगढ़: CRPF ने नक्सल प्रभावित जिले में स्थापित किया शिविर◾बाल विवाह के खिलाफ असम में 4000 से ज्यादा मुकदमे, CM himant biswa लेंगे एक्शन◾रामचरितमानस विवाद: VHP की सपा व राजद की मान्यता रद्द करने की मांग, सीईसी से मिलने का समय मांगा◾कांग्रेस के नेतृत्व वाली विपक्षी दलों ने Adani group के मामले में JPC जांच की मांग की◾मनीष सिसोदिया ने कहा- LG वीके सक्सेना के दखल की वजह से दिल्ली सरकार शिक्षकों को प्रशिक्षण के लिए विदेश नहीं भेज पा रही◾पाकिस्तान में बलूचिस्तान के लासबेला में भूकंप के झटके महसूस किए गए◾बिहार में बड़ा रेल हादसा : दो हिस्सों में बटी सत्याग्रह एक्सप्रेस, बाल-बाल बचे यात्री◾अडानी पर हमलावर हुआ विपक्ष, पवन खेड़ा ने कहा- PM मोदी ने एक गुब्बारा फुलाया और वो फुस्स हो गया◾

अफगानिस्तान की बिगड़ती मानवीय स्थिति पर बातचीत के लिए OIC मीटिंग हुई शुरू

पूरी दुनिया मौन होकर देखती रह गई और अफगानिस्तान पूरी तरह से तालिबान के हाथ में चला गया। 15 अगस्त 2021 की सुबह जब भारत में लोग आजादी का जश्न मना रहे थे तब तालिबान के लड़ाके अफगान राजधानी काबुल पर घेरा डाल रहे थे और अफगान नागरिकों की आजादी पर कब्जा पक्का कर रहे थे।अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे के बाद से देश के कई लोगों की नौकरियां चली गई हैं। जिंदा रहने के लिए भोजन और नकदी पाने के लिए निराश-हताश अफगान नागरिक संयुक्त राष्ट्र के विश्व खाद्य कार्यक्रम में खुद को पंजीकृत कर रहे हैं।

जिसपर इस्लामिक देशों के समूह ऑर्गनाइज़ेशन ऑफ़ इस्लामिक कोऑपरेशन (ओआईसी) के विदेश मंत्रियों की बैठक रविवार  यानी आज को पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में शुरू हो गई है।  अफगानिस्तान में मानवीय संकट पर चर्चा के लिए इस्लामिक सहयोग संगठन (ओआईसी) के मंत्रियों की परिषद का 17वां विशेष सत्र रविवार को इस्लामाबाद में शुरू हुआ।

संसद भवन में आयोजित बैठक में मुस्लिम देशों के प्रतिनिधि, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के स्थायी सदस्य और विभिन्न अंतरराष्ट्रीय संगठन शामिल हो रहे हैं। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी सत्र की अध्यक्षता कर रहे हैं। सऊदी अरब के प्रस्ताव पर यह बैठक बुलाई गई है। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि दिन भर चलने वाले इस सम्मेलन में 70 से अधिक प्रतिनिधि हिस्सा ले रहे हैं, जिसमें 20 विदेश मंत्री और 10 उप विदेश मंत्री शामिल हैं।

युद्ध प्रभावित अफगानिस्तान से अमेरिकी और नाटो सैनिकों की वापसी के बीच, अगस्त के मध्य में तालिबान द्वारा काबुल में सत्ता पर नियंत्रण हासिल किये जाने के बाद देश की अर्थव्यवस्था एक बड़े संकट का सामना कर रही है। अफगानिस्तान में तालिबान के सत्ता में आने के बाद, अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने विदेशों में अरबों डॉलर की संपत्ति के लेन-देन पर रोक लगा दी और देश के लिए सभी तरह के वित्तपोषण को रोक दिया।

सत्र से पहले कुरैशी ने कहा कि बैठक अफगानिस्तान के मुद्दों की ओर ध्यान आकर्षित करेगी। उन्होंने कहा,Óहमने पहले ही उस लक्ष्य को हासिल कर लिया है जैसा कि प्रतिभागियों की संख्या से दिख रहा है।” पाकिस्तान पहले ही देश के लिए पांच अरब रुपये (2.8 करोड़ डालर) के सहायता पैकेज की घोषणा कर चुका है। मानवीय स्थिति को लेकर यूरोप में प्रवासियों की आमद के संबंध में चिंताएं उत्पन्न हुई हैं।