BREAKING NEWS

Vice President Election: उपराष्ट्रपति चुनाव की रूपरेखा तैयार, 6 अगस्त को होगा मतदान, इस दिन भरा जाएगा नामांकन ◾ युवाओं को अग्निवीर बनने का चढ़ रहा जुनून, छह दिन में वायुसेना को प्राप्त हुए दो लाख से ज्यादा आवेदन ◾Kanhaiya Lal Murder: कन्हैया लाल का हुआ अंतिम संस्कार, उदयपुर हत्याकांड की जांच एनआईए को सौंपी गई ◾GST के दायरे में आएंगे खाद्य पदार्थ, राहुल बोले-PM का ‘गब्बर सिंह टैक्स’ बना ‘गृहस्थी सर्वनाश टैक्स’ ◾बिहार में ओवैसी को बड़ा झटका, AIMIM के चार विधायक RJD में शामिल ◾नवाब मलिक और अनिल देशमुख ने किया SC का रुख, शक्ति परीक्षण में भाग लेने की मांगी अनुमति◾मुकेश अंबानी को सुरक्षा देने के मामले में SC ने त्रिपुरा HC के फैसले पर लगाई रोक, जानिए क्या है मामला ◾कराह उठा हर कोई, राक्षस से ऊपर बढ़कर किया गया कन्हैयालाल का कत्ल, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बड़ा खुलासा ◾उदयपुर हत्याकांड को लेकर उमा भारती ने गहलोत सरकार को घेरा, प्रज्ञा बोली- कांग्रेस अभी भी जिंदा है देश शर्मिंदा है◾कन्हैयालाल मर्डर केस : राज्यवर्धन राठौर बोले-राजस्थान में कांग्रेस की नंपुसक सरकार◾ जीटीए चुनाव में तृणमूल कांग्रेस ने खोला खाता, एक सीट जीती , मतगणना जारी ◾'दोषियों को तुरंत ठोंक देना चाहिए', कन्हैयालाल की हत्या पर बोले प्रताप सिंह खाचरियावास◾असम में बाढ़ राहत कार्य के लिए शिवसेना के बागी विधायकों ने दिए 51 लाख रुपए, कल पेश करेंगे विश्वास मत ◾उदयपुर : NIA अपने हाथ में लेगी कन्हैया लाल हत्याकांड की जांच, गृह मंत्रालय का निर्देश◾उदयपुर हत्याकांड पर बोले CM गहलोत- यह कोई मामूली घटना नहीं, जांच के लिए गठित की SIT ◾नवीन कुमार जिंदल को मिली जान से मारने की धमकी, ईमेल में भेजा उदयपुर हत्याकांड का वीडियो◾Udaipur Massacre : कड़ी सुरक्षा के बीच घर पहुंचा कन्हैया का शव, लोगों ने पुलिस के खिलाफ की नारेबाजी ◾फ्लोर टेस्ट के खिलाफ शिवसेना की याचिका पर शाम 5 बजे सुनवाई करेगा SC◾'अग्निपथ' योजना का मनीष तिवारी ने किया समर्थन, कांग्रेस ने निजी राय बताते हुए बनाई दूरी◾UN को संबोधित करते हुए बोले जेलेंस्की- आतंकवादी बन गए हैं पुतिन, हर दिन कृत्यों को दे रहे हैं अंजाम◾

Omicron Varient: दक्षिण अफ़्रीका में ओमीक्रोन के दो नए उप स्वरूप का पता लगाया गया, वैज्ञानिकों ने की पुष्टि

दक्षिण अफ्रीकी वैज्ञानिकों ने कोविड-19 के कारक सार्स-सीओवी-2 के ओमीक्रोन स्वरूप के दो नए उप-स्वरूपों का पता लगाया है। दक्षिण अफ्रीका के सेंटर फॉर एपिडेमिक रिस्पांस एंड इनोवेशन में निदेशक ट्यूलियो डी ओलिवेरा के अनुसार, वंशावली को बीए.4 और बीए.5 नाम दिया गया है।
उन्होंने कहा कि इनका पता चलना डर की कोई वजह नहीं है और महामारी विज्ञान पर इस के उद्भव के प्रभाव का आकलन करना जल्दबाजी होगी।एक के बाद एक कई ट्वीट्स में डी ओलिवेरा ने कहा कि वंशावली ने दक्षिण अफ्रीका में संक्रमण में वृद्धि नहीं की है और कई देशों में लिए गए नमूनों में इनकी मौजूदगी मिली है।
डी ओलिवेरा ने सोमवार को कहा , “दक्षिण अफ्रीका, बोत्सवाना, बेल्जियम, जर्मनी, डेनमार्क और ब्रिटेन में नए ओमीक्रोन बीए.4 और बीए.5 का पता चला है।शुरुआती संकेत हैं कि ये नई उप-रेखाएं दक्षिण अफ्रीका में जीनोमिक रूप से पुष्टि किए गए मामलों के हिस्से के रूप में बढ़ रही हैं। चिंता का कोई कारण नहीं है। दक्षिण अफ्रीका में मामलों, अस्पतालों में भर्ती होने या मौत के मामलों में कोई अहम बढ़ोतरी नहीं दिखी है।”उन्होंने कहा, “जीनोम के प्रतिशत में वृद्धि के बावजूद, बीए.4 और बीए.5 दक्षिण अफ्रीका में संक्रमण में वृद्धि नहीं कर रहे हैं। अस्पताल में भर्ती होने और मौतों के संबंध में भी यही देखा जा रहा है, जो दक्षिण अफ्रीका में रिकॉर्ड स्तर पर कम है।”