BREAKING NEWS

कुछ ही देर में चंद्रमा की कक्षा में पहुंचेगा चंद्रयान-2◾ महान संगीतकार ख्य्याम साहब का निधन, अभिनेता बनना चाहते थे ख्य्याम साहब◾प्रियंका का कटाक्ष : लगता है मोदी आरएसएस के विचारों का सम्मान नहीं करते ◾उत्तर भारत में बारिश का कहर, 38 की मौत ◾अलायंस एयर की उड़ान की दिल्ली हवाई अड्डे पर आपात लैंडिंग, सभी यात्री सुरक्षित ◾PM मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प से फोन पर की 30 मिनट बातचीत, बिना नाम लिए PAK को बनाया निशाना ◾TOP 20 NEWS 19 August : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾आरक्षण विरोधी मानसिकता त्यागे संघ : मायावती◾कश्मीर पर भारत की नीति से घबराया पाकिस्तान, अगले तीन साल पाकिस्तानी सेना प्रमुख बने रहेंगे बाजवा◾चिदंबरम ने भाजपा पर साधा निशाना, कहा- सब सामान्य तो महबूबा मुफ्ती की बेटी नजरबंद क्यों◾कांग्रेस ने बीजेपी और RSS को बताया दलित-पिछड़ा विरोधी◾गृहमंत्री अमित शाह से मिले अजीत डोभाल, जम्मू कश्मीर के हालात पर हुई चर्चा◾RSS अपनी आरक्षण-विरोधी मानसिकता त्याग दे तो बेहतर है : मायावती ◾गहलोत बोले- कांग्रेस ने देश में लोकतंत्र को मजबूत रखा जिसकी वजह से ही मोदी आज PM है ◾बैंकों के लिए कर्ज एवं जमा की ब्याज दरों को रेपो दर से जोड़ने का सही समय: शक्तिकांत दास◾राजीव गांधी की 75वीं जयंती: देश भर में कार्यक्रम आयोजित करेगी कांग्रेस◾दलितों-पिछड़ों को मिला आरक्षण खत्म करना BJP का असली एजेंडा : कांग्रेस ◾उन्नाव कांड: SC ने CBI को जांच पूरी करने के लिए 2 हफ्ते का समय और दिया, वकील को 5 लाख देने का आदेश◾अयोध्या भूमि विवाद मामले पर आज सुप्रीम कोर्ट में नहीं हुई सुनवाई ◾जम्मू-कश्मीर में पटरी पर लौटती जिंदगी, 14 दिन बाद खुले स्कूल-दफ्तर◾

विदेश

अनुच्छेद 370 पर अकेला पड़ा पाकिस्तान, इमरान को नहीं मिला किसी भी देश का समर्थन

भारत की नरेंद्र मोदी सरकार ने सोमवार को ऐतिहासिक निर्णय लेते हुए जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाला अनुच्छेद 370 के सभी खंडो को समाप्त कर दिया गया है। भारत सरकार के द्वारा लिए गए इस निर्णय से सबसे ज्यादा आघात पाकिस्तान को हुआ है और उसने इस मसले पर विरोध भी जताया है। 

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान मुस्लिम देशों और अपने मित्र राष्ट्रों से गुजारिश भी कर रहे है कि वह अपना समर्थन पाकिस्तान को दे और भारत सरकार के इस निर्णय का विरोध करने में उनका साथ दें. लेकिन फिलहाल वह अपने इस विरोध में अलग-थलग पड़ गए हैं। 

भारत के इस साहसिक निर्णय के खिलाफ पाकिस्तान को कोई भी देश किसी भी तरह से मदद नहीं कर रहा है।पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने सोमवार को कहा कि भारत अधिकृत जम्मू-कश्मीर अंतरराष्ट्रीय तौर पर विवादस्पद क्षेत्र है।इस अंतरराष्ट्रीय विवाद में एक पक्ष होने के नाते पाकिस्तान इस गलत कदम का विरोध करने के लिए सारे विकल्पों का उपयोग करेगा ।   

पाकिस्तान कश्मीर विवाद को लेकर कई देशों के सामने रोता रहता है और बार-बार किसी न किसी बहाने से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपने आप को सही बताने की कोशिश करता रहा,लेकिन अब इमरान सरकार यह सोच रही होगी कि इस्लामाबाद आत्मनिरीक्षण कर रहा होगा कि कहीं राष्ट्रपति ट्रंप के कश्मीर पर मध्यस्थता के प्रस्ताव का दांव ही उल्टा तो नहीं पड़ जाएगा।

वही ,इस्लामिक सहयोग संगठन की तरफ से भी अनुच्छेद-370 खत्म किए जाने को लेकर अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। पाकिस्तान का हमेशा साथ देने वाला उसका परम मित्र चीन भी अभी तक इस मसले पर कुछ नहीं बोला है क्योंकि भारत सरकार ने लद्दाख के दर्जे को भी बदल दिया है जिसके बड़े हिस्से अक्साई चिन को चीन अक्सर अपना हिस्सा होने का दावा करता है।

मोदी सरकार के द्वारा अनुच्छेद -370 समाप्त किए जाने के बाद अमेरिका ने इस निर्णय को भारत सरकार का मामला कह कर दुनिया को जवाब दिया है। अमेरिका के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता मोर्गन ओर्टागस ने कहा है कि हमारा तंत्र जम्मू-कश्मीर की स्थिति पर बारीकी से नज़र बनाये हुए है और हम सारे मसले पर जानकारी रख रहे है।