BREAKING NEWS

यूक्रेन मुद्दे पर बढ़ते तनाव के बीच रूस के विदेश मंत्री बोले- मास्को युद्ध शुरू नहीं करेगा ◾UP चुनाव: लखीमपुर, पीलीभीत BJP के लिए बने मुसीबत का सबब, पार्टी हो रही अंदरूनी मन-मुटाव का शिकार ◾कर्नाटक के पूर्व CM बीएस येदियुरप्पा की नातिन ने की आत्महत्या, पुलिस जांच में जुटी◾नवजोत सिंह सिद्धू की बहन ने पूर्व कांग्रेस प्रमुख को बताया 'क्रूर इंसान', कहा- पैसों की खातिर मां को छोड़ा...◾गोवा: विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को लगा झटका, पूर्व CM प्रतापसिंह राणे ने इलेक्शन नहीं लड़ने का लिया फैसला◾यूपी : चुनाव प्रचार के लिए 31 जनवरी को अमित शाह देंगे आजम के गढ़ में दस्तक, घर-घर मांगेगे वोट ◾भय्यू महाराज खुदकुशी मामला: एक महिला समेत तीन सहयोगियों को 6 साल की सश्रम कारावास की सजा◾कोविड टीकाकरण : देश में एक करोड़ से अधिक लोगों को लगी एहतियाती खुराक, सरकार ने दी जानकारी ◾BJP ने SP की लिस्ट को बताया माफियाओं की सूची, कानून-व्यवस्था और विकास पर अखिलेश को दी चुनौती ◾दिल्ली : विवेक विहार गैंगरेप मामले में 9 महिलाओं समेत अब तक 11 गिरफ्तार◾खुलकर आई धनखड़ Vs TMC की लड़ाई, पार्टी लाएगी राज्यपाल के खिलाफ प्रस्ताव, अन्य दलों से मांगेगी सहयोग ◾यूपी: 'लाल टोपी वाले गुंडे' वाले बयान का सपा उठा रही चुनावी फायदा, कार्यकर्ताओं के लिए बना स्टेटस सिम्बल ◾चौथे चरण के लिए BSP ने की 53 उम्मीदवारों की घोषणा, दलितों, पिछड़ों और अल्पसंख्यकों में बनाया संतुलन ◾बजट सत्र से पहले कांग्रेस के संसदीय रणनीति समूह की बैठक, इन मुद्दों को लेकर विपक्ष का निशाना बनेगी सरकार◾कांग्रेस ने किया केजरीवाल का घेराव, कहा- शीला दीक्षित जी के कामों को अपना बता, जनता को कर रहे गुमराह ◾करिअप्पा ग्राउंड में दिखा PM मोदी का अलग अंदाज, पगड़ी-काला चश्मा लगाकर NCC रैली को किया सम्बोधित◾ओमीक्रॉन के बीच सामने आया कोरोना का एक और जानलेवा वेरिएंट 'NeoCov', वैज्ञानिकों ने दी चेतावनी ◾प्रमोशन में आरक्षण पर SC का फैसला, तय मानदंडों में हस्तक्षेप से किया इनकार◾अरुणाचल प्रदेश के युवक की वापसी पर बोले राहुल-क्या कब्ज़ा की हुई जमीन भी लौटाएगा चीन?◾UP के चुनावी घमासान में सांस ले रहा पाकिस्तान का मुद्दा, योगी ने अखिलेश को बताया 'जिन्ना का उपासक' ◾

पाकिस्तान को मिला पुराने दोस्त का साथ! 3 अरब डॉलर की वित्तीय सहायता से सुधरेंगे खस्ता हालात

पाकिस्तान की आर्थिक रूप से खस्ता हालत किसी से छुपी नहीं है। वहीं, कोरोना वायरस महामारी ने पाकिस्तान की  वित्तीय स्थिति को और बिगाड़ दिया है। अब ऐसे मुश्किल हालात में पाकिस्तान को सऊदी अरब का साथ मिला है। सऊदी अरब, पाकिस्तान को वित्तीय सहायता मुहैया करने के लिए सहमत हो गया है, जिसमें लगभग 3 अरब डॉलर जमा और 1.2 अरब डॉलर से 1.5 अरब डॉलर मूल्य की तेल आपूर्ति शामिल है।

एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने डॉन को बताया कि इस सप्ताह पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की सऊदी यात्रा के दौरान एक समझौता हुआ है। हालांकि, प्रधानमंत्री के वित्त और राजस्व सलाहकार शौकत तारिन और ऊर्जा मंत्री हम्माद अजहर बुधवार को एक संवाददाता सम्मेलन में इसकी औपचारिक घोषणा करेंगे।
बाद में सूचना मंत्री फवाद चौधरी ने आधारात के एक ट्वीट में इसकी पुष्टि की।

3 अरब अमेरिकी डॉलर के साथ पाकिस्तान का समर्थन

उन्होंने लिखा, सऊदी अरब की घोषणा पाकिस्तान के केंद्रीय बैंक में जमा के रूप में 3 अरब अमेरिकी डॉलर के साथ पाकिस्तान का समर्थन करती है और वर्ष के दौरान 1.2 अरब अमेरिकी डॉलर के साथ पेट्रोलियम उत्पादों का वित्तपोषण भी करती है।

रिपोर्ट के अनुसार, अधिकारी ने पहले कहा था कि सऊदी सरकार तुरंत एक साल के लिए पाकिस्तान के खाते में 3 अरब डॉलर जमा करेगी और कम से कम अक्टूबर 2023 में आईएमएफ कार्यक्रम के पूरा होने तक इसे चालू रखेगी।

पाकिस्तान को मिलेगी मदद, सऊदी करेगा कच्चा तेल प्रदान 

इस सुविधा से पाकिस्तान को अपनी वित्तीय योजना के बारे में आईएमएफ को समझाने में मदद मिलने की उम्मीद है। इसके अलावा, सऊदी सरकार इस्लामाबाद को प्रति वर्ष 1.5 अरब डॉलर तक के आस्थगित भुगतान पर कच्चा तेल प्रदान करेगी।

पूर्व CM अमरिंदर सिंह ने किया नई पार्टी बनाने का ऐलान, कहा- जल्द बताएंगे नाम, संपर्क में है बहुत से कांग्रेसी

रिपोर्ट में आगे कहा गया कि सऊदी अरब ने नकद जमा में 3 अरब डॉलर भी दिया था और पाकिस्तान को 2018 में अपने विदेशी मुद्रा भंडार को बढ़ाने में मदद करने के लिए 3 अरब डॉलर की तेल सुविधा देने का वादा किया था। हालांकि, बाद में द्विपक्षीय संबंध बिगड़ने के कारण इस्लामाबाद को जमा किए 3 अरब डॉलर के लिए 2 अरब डॉलर वापस करना पड़ा।