BREAKING NEWS

गृह मंत्रालय से विश्वविद्यालयों को मिली हरी झंडी, परीक्षाएं कराने की मिली अनुमति◾महाराष्ट्र में कोरोना के 5,368 नए मामले आये सामने, 204 और मरीजों की मौत◾वांग - डोभाल बातचीत के बाद बोला चीन - LAC पर सैनिकों को पीछे हटाने का काम जल्द से जल्द किया जाना चाहिए ◾दिल्ली में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 1 लाख के पार, देशभर में 7 लाख से ऊपर पहुंची संक्रमितों की संख्या◾कांग्रेस का पलटवार - चीन के खिलाफ मजबूत होती सरकार तो नड्डा को ‘झूठ’ नहीं बोलना पड़ता◾निलंबित DSP देविंदर सिंह समेत छह लोगों खिलाफआतंकी गतिविधियों के लिये NIA द्वारा चार्जशीट दायर ◾चीन के पीछे हटने से एक दिन पहले NSA डोभाल और चीनी विदेश मंत्री के बीच हुई थी बातचीत◾सेना के पीछे हटने पर बोला चीन- दोनों देशों के बीच तनाव कम करने के लिए उठाया गया कदम◾CM केजरीवाल बोले-दिल्ली में अब रोज 20 से 24 हजार हो रहे है कोरोना टेस्ट, मृत्यु दर में आई कमी ◾गलवान घाटी में 1-2 किमी तक पीछे हटी चीनी सेना, झड़प वाले स्थान पर बना बफर जोन◾विकास दुबे के संपर्क में आए तीन और पुलिसकर्मी सस्पेंड, हिस्ट्रीशीटर अब भी पकड़ से दूर◾साउथ चाइना सी में अमेरिकी युद्धपोत की तैनाती पर चीन ने दी धमकी, US नेवी ने उड़ाई ड्रैगन की खिल्ली◾राहुल रक्षा मामले की एक भी बैठक में नहीं हुए शामिल, लेकिन सशस्त्र बल पर उठा रहे हैं सवाल : नड्डा◾श्यामाप्रसाद मुखर्जी की जयंती आज, पीएम मोदी समेत इन नेताओं ने ऐसे किया याद◾दुनियाभर में कोरोना संक्रमितों की संख्या 1 करोड़ 14 लाख से अधिक, अब तक 5 लाख 33 हजार लोगों की हुई मौत ◾कोविड-19 : देश में संक्रमितों का आंकड़ा 7 लाख के करीब, महामारी से लगभग 20 हजार लोगों की मौत ◾राहुल ने केंद्र पर साधा निशाना, कहा- भविष्य में कोविड-19, GST और नोटबंदी फेलियर पर स्टडी में होंगी शामिल ◾दिल्ली में पिछले 3 महीने से बंद ऐतिहासिक स्मारक आज से खुलेंगे, लेना होगा ऑनलाइन टिकट ◾राहुल गांधी ने सरकार पर लगाया आरोप, बोले-PM केयर्स कोष में अपारदर्शिता से खतरे में पड़ रही है जिंदगियां◾कोरोना वायरस के 6.87 लाख मामलों के साथ रूस को पीछे छोड़ भारत तीसरे स्थान पर पहुंचा ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

कश्मीर पर भारत की नीति से घबराया पाकिस्तान, अगले तीन साल पाकिस्तानी सेना प्रमुख बने रहेंगे बाजवा

पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा को और तीन साल के लिए सेवा विस्तार दे दिया गया है। मीडिया रिपोर्टो में कहा जा रहा है कि क्षेत्र के मौजूदा सुरक्षा हालात के मद्देनजर यह कदम उठाया गया है। इसकी एक वजह यह भी बतायी गयी है कि प्रधानमंत्री इमरान खान और बाजवा घनिष्ठ सहयोग के साथ काम कर रहे हैं और उसी को देखते हुए उनके कार्यकाल को विस्तार देने का फैसला किया गया है। मीडिया रिपोर्टो में सोमवार को यह जानकारी दी गयी। 

प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा जारी एक संक्षिप्त अधिसूचना के अनुसार, ‘‘ जनरल कमर जावेद बाजवा को मौजूदा कार्यकाल की समाप्ति की तारीख से और तीन साल का सेवा विस्तार दिया जाता है।’’ ‘डान’ समाचारपत्र ने बताया है कि क्षेत्र के सुरक्षा माहौल के मद्देनजर यह फैसला किया गया है। साथ ही रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि फैसला प्रधानमंत्री इमरान खान द्वारा किया गया। इस समय जेल में बंद पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ द्वारा जनरल बाजवा को नवंबर 2016 में सेना प्रमुख बनाया गया था। 

चिदंबरम ने भाजपा पर साधा निशाना, कहा- सब सामान्य तो महबूबा मुफ्ती की बेटी नजरबंद क्यों

58 वर्षीय बाजवा के इस साल सेवानिवृत होने की संभावना थी। इससे पूर्व, ऐसी खबरें आ रही थीं कि प्रधानमंत्री खान, बाजवा को तीन साल का सेवा विस्तार दे सकते हैं । दोनों के बीच तालमेल भी काफी देखा जा रहा है। उल्लेखनीय है कि बाजवा, खान की पहली अमेरिका यात्रा के समय उनके साथ गए थे जहां प्रधानमंत्री ने व्हाइट हाउस में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात की थी। 

खान ने एक अभूतपूर्व कदम के तहत बाजवा को राष्ट्रीय विकास परिषद का सदस्य भी मनोनीत किया था। पाकिस्तान में सेना प्रमुख के पद पर नियुक्ति प्रधानमंत्री और उनकी सरकार का विशेषाधिकार होती है। यहां सबसे वरिष्ठ सैन्य अधिकारी को सेना प्रमुख बनाने की परंपरा का पालन नहीं किया जाता । बाजवा को ऐसे समय में सेवा विस्तार दिया गया है जब जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के फैसले के कारण भारत और पाकिस्तान के बीच संबंध खराब दौर से गुजर रहे हैं। 

कांग्रेस ने बीजेपी और RSS को बताया दलित-पिछड़ा विरोधी

कश्मीर के विशेष दर्जे को समाप्त करने के भारत के फैसले पर प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए पाकिस्तान ने नयी दिल्ली के साथ अपने राजनयिक संबंधों का दर्जा कम करने का फैसला किया था और भारतीय उच्चायुक्त को निष्कासित कर दिया था। इसके साथ ही पाकिस्तान ने भारत के साथ अपने कारोबारी रिश्तों पर भी विराम लगा दिया । उधर, भारत अंतरराष्ट्रीय बिरादरी को साफ शब्दों में कह चुका है कि जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा प्रदान करने वाले अनुच्छेद 370 को हटाने का उसका फैसला पूरी तरह उसका आंतरिक मामला है। भारत ने पाकिस्तान को भी सलाह दी है कि वह सचाई को स्वीकार करे ।