BREAKING NEWS

NIA ने आईएसआईएस 2 संदिग्धों के खिलाफ आरोप पत्र किया दायर◾उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता ने मरने से पहले कहा-'मुझे बचाओ, मैं मरना नहीं चाहतीं' ◾उन्नाव बलात्कार पीड़िता युवती का शव उसके गांव लाया गया ◾राम मंदिर के ट्रस्ट में संघ प्रमुख भागवत को नहीं होना चाहिए : विहिप◾मेरी मानसिक ताकत तोड़ना चाहती है केंद्र सरकार : चिदंबरम ◾भारत की पहचान 'दुष्कर्म राजधानी' के रूप में बन गई है : राहुल◾TOP 20 NEWS 7 DEC : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾दिल्ली विधानसभा चुनाव में भाजपा का नारा 'अबकी बार, तीन पार' होगा : केजरीवाल◾एनआरसी के खिलाफ कल जंतर-मंतर पर प्रदर्शन करेगी पार्टी : संजय सिंह◾राकांपा नेता उमाशंकर यादव बोले- नैतिकता के आधार पर तत्काल इस्तीफा दें CM योगी◾बलात्कारी के लिए मृत्युदंड से सख्त सजा कुछ नहीं हो सकती, पालक भी जिम्मेदारी समझें : स्मृति ईरानी◾CM केजरीवाल ने उन्नाव बलात्कार पीड़िता की मौत को बताया शर्मनाक, ट्वीट कर कही ये बात ◾बलात्कार की घटनाओं पर स्वत: संज्ञान लें सुप्रीम कोर्ट : मायावती◾PM मोदी, अमित शाह और अजीत डोभाल पुणे में शीर्ष पुलिस अधिकारियों के सम्मेलन में हुए शामिल ◾केरल में बोले राहुल गांधी- महिलाओं के खिलाफ हिंसा और ज्यादतियों में हुई बढ़ोतरी◾सशस्त्र सेना झंडा दिवस के अवसर PM मोदी ने लोगों से किया अनुरोध, बोले- सशस्त्र बल के कल्याण के लिए योगदान दें◾उन्नाव रेप पीड़िता की मौत के विरोध में BJP मुख्यालय पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन, पुलिस ने किया लाठीचार्ज◾उन्नाव रेप पीड़िता की मौत के बाद विधानसभा के बाहर धरने पर बैठे अखिलेश यादव, कहा- वो जिंदा रहना चाहती थी◾उन्नाव पीड़िता की मौत पर बोली स्वाति मालीवाल- सरकार बलात्कार पीड़िताओं के प्रति असंवेदनशील ◾उन्नाव बलात्कार पीड़िता की मौत पर बोली प्रियंका गांधी- यह हम सबकी नाकामयाबी है हम उसे न्याय नहीं दिला पाए◾

विदेश

पाकिस्तान: जेयूआई-एफ 31 अक्टूबर को इस्लामाबाद में करेगा मार्च

 pakistan flag

पाकिस्तान के जमियत उलेमा-ए-इस्लाम-फज्ल (जेयूआई-एफ) के प्रमुख फज्लुर रहमान ने ऐलान किया है कि उनकी पार्टी की ओर से आयोजित ‘आजादी मार्च’ राजधानी इस्लामाबाद में 27 अक्टूबर के स्थान पर अब 31 अक्टूबर को निकाली जाएगी। 

एक रिपोर्ट के मुताबिक मौलाना रहमान ने बुधवार को यह घोषणा की। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी जम्मू-कश्मीर के कथित रूप से भारतीय अधिग्रहण के विरोध में 27 अक्टूबर को पूरे देश में आयोजित ‘काला दिवस’ में भाग लेकर कश्मीरियों के पक्ष में खड़ा रहेगी। 

विपक्षी पार्टियों की ओर से प्रस्तावित लंबे मार्च को टालने की अपील को नजरअंदाज करते हुए जेयूआई-एफ प्रमुख ने पिछले गुरुवार को घोषणा की थी कि उनकी पार्टी ने 27 अक्टूबर को इस्लामाबाद में सरकार विरोधी मार्च आयोजित करने का फैसला किया है। इसके साथ ही उनकी पार्टी ने औपचारिक रूप से इस्लामाबाद प्रशासन से 27 अक्टूबर को राजधानी के ‘रेड जोन’ में स्थित डी-चौक पर तथाकथित आत्रादी मार्च आयोजित करने की अनुमति मांगी थी। 

उन्होंने कहा कि मार्च 27 अक्टूबर को ‘शुरू’ हो जाएगी। उन्होंने कहा कि कारवां 27 अक्टूबर को कश्मीरियों के साथ एकजुटता जाहिर करेगा और फिर राजधानी के लिए रवाना होगा। उन्होंने कहा कि 27 अक्टूबर के बाद से देश के दूर-दराज के जिलों से कारवां को राजधानी तक पहुंचने की अनुमति देंगे। पूरे देश के लोग एक ही समय में 31 अक्टूबर को इस्लामाबाद में प्रवेश करेंगे। 

दरअसल देश के गृह मंत्री ब्रिगेडियर (सेवानिवृत्त) इजाज शाह ने जब कहा था कि उन्हें पूरा विश्वास है कि रहमान ‘आजादी मार्च’ के लिए 27 अक्टूबर को इस्लामाबाद नहीं आयेंगे। शाह के कथन के चंद घंटे के भीतर ही जेयूआई-एफ प्रमुख का नया फरमान सबके सामने आ गया।