BREAKING NEWS

महाराष्ट्र में कोरोना का विस्फोट जारी, बीते 24 घंटे में कोरोना के रिकॉर्ड 11,514 नए केस, संक्रमितों का आंकड़ा 4.79 लाख के पार ◾सुशांत सिंह राजपूत केस : CBI ने रिया चक्रवर्ती समेत 6 लोगों के खिलाफ दर्ज की FIR◾चीनी घुसपैठ से जुड़ी रिपोर्ट रक्षा मंत्रालय ने वेबसाइट से क्यों हटाई, वास्तविक स्थिति बताए सरकार: कांग्रेस◾आंध्र प्रदेश में कोरोना के 10 हजार 328 नए मामले की पुष्टि, संक्रमितों की संख्या दो लाख के करीब◾राजस्थान में जारी राजनीतिक संकट पर अजय माकन बोले- यथास्थिति बरकरार है◾सुशांत आत्महत्या केस : प्राथमिकी को अंतिम रूप देने से पहले CBI ने बिहार पुलिस से किया संपर्क◾देशभर में कोरोना से ठीक होने की दर 67.62 फीसदी, मृत्यु दर 2.07 प्रतिशत: स्वास्थ्य मंत्रालय◾दिल्ली में कोरोना का कहर जारी, बीते 24 घंटे में कोरोना के 1,299 नए केस, संक्रमितों का आंकड़ा 1.41 लाख के पार◾केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री बोले- व्यापक स्तर पर कार्रवाई से कोरोना के मामले और मौत प्रति दस लाख पर कम रहे◾24 घंटे में UP में कोरोना के 4658 नए मामले की पुष्टि, 61 मरीजों ने तोड़ा दम◾बिहार के कांग्रेस नेताओं से बोले राहुल-आने वाला है बड़ा तूफान◾राम मंदिर के निर्माण पर PAK की टिप्पणी को भारत ने बताया निंदनीय, कहा-साम्प्रदायिकता भड़काने से बचे पड़ोसी देश◾TV एक्टर और मॉडल समीर शर्मा ने फांसी लगाकर की खुदकुशी◾RBI ने मौद्रिक नीति का किया ऐलान, नीतिगत ब्याज दर में नहीं हुआ कोई बदलाव◾इमाम एसोसिएशन के अध्यक्ष का विवादित बयान, कहा-मस्जिद बनाने के लिए ध्वस्त किया जा सकता है मंदिर◾राहुल गांधी ने PM से पूछा-चीनी घुसपैठ को लेकर झूठ बोलने की वजह बतायें मोदी ◾देश में कोरोना संक्रमण के 56,282 नए मामलों की पुष्टि, मरीजों का आंकड़ा 19 लाख 64 हजार के पार ◾भारी बारिश के कारण जलमग्न हुई मुंबई, महाराष्ट्र में NDRF की 16 टीमों को किया गया तैनात◾अहमदाबाद के कोविड अस्पताल में आग लगी, 8 कोरोना मरीजों की मौत, CM रूपानी ने जांच के दिए आदेश◾भाजपा नेता मनोज सिन्हा होंगे जम्मू-कश्मीर के नए उप राज्यपाल, शुक्रवार को लेंगे शपथ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

भारत को निशाना बना रहे आतंकियों के खिलाफ पर्याप्त कार्रवाई नहीं कर रहा पाक : अमेरिका

अमेरिका ने कहा है कि पाकिस्तान अपने यहां से संचालित होने वाले आतंकवादी समूहों के खिलाफ पर्याप्त रूप से कार्रवाई नहीं कर रहा है, जो भारत को निशाना बनाते हैं। अमेरिका ने आगाह किया है कि वे आतंकी समूह अपनी आक्रामक क्षमता बनाए रखे हुए हैं।

2018 के लिए आतंकवाद पर देश की वार्षिक रिपोर्ट शुक्रवार को वाशिंगटन में जारी की गई, जिसमें कहा गया, पाकिस्तान ने लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) और जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) जैसे समूहों के खिलाफ पर्याप्त कार्रवाई नहीं की, जिनका पाकिस्तान में संचालन, प्रशिक्षण, आयोजन और फंड जुटाने का काम जारी है। 

रिपोर्ट में चेतावनी दी गई है कि 2008 के मुंबई हमले के लिए जिम्मेदार पाकिस्तान स्थित लश्कर और जेईएम ने भारतीय और अफगान ठिकानों पर हमला करने की क्षमता और इरादा बनाए रखा है। रपट में कहा गया है कि भारत में हमले होना जारी रहा, जिनमें पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठन और कबायली और नक्सली विद्रोही शामिल थे। 

दिल्ली में मोदी सरकार के खिलाफ रैली करेगी कांग्रेस, सोनिया, राहुल और प्रियंका करेंगी संबोधित

रिपोर्ट में पिछले साल भारत में हुए पांच आतंकवादी हमलों का जिक्र है, जिनमें छत्तीसगढ़ में पुलिस वाहन पर नक्सली हमला और आंध्र प्रदेश में एक और हमला, जिसमें तेलुगू देशम पार्टी के विधायक किदारी सर्वेश्वर राव और तीन लोगों की मौत और सिख चरमपंथियों द्वारा निरंकारियों पर ग्रेनेड हमले में 20 को घायल करने की घटना का भी जिक्र है। इसमें कश्मीर में पत्रकार शुजात बुखारी की हत्या और संजवान में सेना के शिविर पर जेईएम हमले का भी उल्लेख किया गया है, जिसमें छह सैनिकों और एक नागरिक की मौत हो गई। 

रिपोर्ट ने सोशल मीडिया का उपयोग करके आतंकवादी संगठनों की कट्टरता और भर्ती करने के खतरे की ओर ध्यान आकर्षित किया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत के सरकारी अधिकारी इंटरनेट के इस्तेमाल को लेकर चिंतित रहते हैं, जिसमें सोशल मीडिया और व्हाट्सएप जैसे मैसेजिंग एप, आतंकवादी भर्ती और कट्टरता और अंतर-धार्मिक तनावों की आशंका जैसे मामले हैं। 

रिपोर्ट के अनुसार, राजीव गौबा, जो उस समय गृह सचिव थे और अन्य वरिष्ठ अधिकारी ऑनलाइन आतंकवादी भर्ती और कट्टरता को रोकने के कदमों की समीक्षा करने के लिए पिछले साल वैश्विक सोशल मीडिया कंपनियों के प्रतिनिधियों से मिले थे। इसमें कहा गया है कि दक्षिणी भारत में ऑनलाइन कट्टरवादी आतंकी बनाने के मामले पूरे साल दर्ज किए गए, जिनमें कुछ भर्तियों की रिपोर्ट भी शामिल है। कुछ को अफगानिस्तान में इस्लामिक स्टेट (आईएस) के गढ़ में भर्ती के लिए ले जाया गया। रिपोर्ट के अनुसार, भारत ने आईएस से प्रेरित एक आतंकवादी सेल के नापाक मंसूबों को नाकाम कर दिया, जो 2018 के अंत में आतंकवादी हमलों की साजिश रच रहा था।