BREAKING NEWS

कोविड-19 : देश में संक्रमण के मामले 18 लाख के पार, स्वस्थ होने वालों की संख्या 11.86 लाख हुई◾पीएम मोदी, राजनाथ, नड्डा ने रक्षा बंधन पर दी देशवासियों को शुभकामनाएं ◾दिल्लीः उपराज्यपाल अनिल बैजल और मुख्यमंत्री केजरीवाल ने रक्षाबंधन की बधाई दी ◾सुशांत राजपूत मामले की जांच के लिए मुंबई पहुंचे IPS विनय तिवारी को बीएमसी ने किया क्वारनटीन◾कर्नाटक के मुख्यमंत्री येदियुरप्पा भी कोरोना पॉजिटिव, अस्पताल में कराए गए भर्ती◾विदेशों से आने वाले यात्रियों के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय ने नए गाइडलाइन्स जारी किए ◾बिहार में बाढ़ की स्थिति और बिगड़ी, 53.67 लाख लोग बेहाल और जनजीवन बुरी तरह प्रभावित◾आईपीएल के लिए सरकार ने दी हरी झंडी, फाइनल 10 नवंबर को, चीनी प्रायोजक बरकरार ◾महाराष्ट्र में कोरोना का विस्फोट जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 4.41 लाख के पार, बीते 24 घंटे में 9,509 नए केस◾ममता बनर्जी समेत अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के जल्द स्वस्थ होने की कामना की◾राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने प्रेम और भाईचारे के त्योहार रक्षाबंधन के अवसर पर देशवासियों को दी शुभकामनाएं◾तमिलनाडु के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित कोरोना पॉजिटिव पाए गए◾8 महीने बाद भी लटका है CAA , गृह मंत्रालय ने नियम बनाने के लिए तीन और महीने का समय मांगा◾बीते 24 घंटों में रिकॉर्ड 51,000 कोरोना मरीज हुए स्वस्थ, रिकवरी रेट बढ़कर हुआ 65.44 प्रतिशत◾कोरोना वायरस की चपेट में आए गृहमंत्री अमित शाह, ट्वीट कर दी जानकारी ◾राम मंदिर भूमि पूजन में शामिल होंगे महंत नरेंद्र गिरी, सुन्नी वक्फ बोर्ड को भी न्योता◾सुशांत सुसाइड केस : जांच में तेजी लाने के लिए पटना के सिटी SP विनय तिवारी को भेजा गया मुंबई ◾सुशांत सिंह राजपूत केस : केंद्रीय मंत्री आरके सिंह ने CBI जांच की मांग को बताया जायज◾गैरकानूनी तरीके से नेताओं को हिरासत में लेने पर देश के लोकतंत्र को पहुंचता है नुकसान : राहुल गांधी◾UP की कैबिनेट मंत्री कमल वरुण का कोरोना संक्रमण से निधन, CM योगी ने जताया शोक ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

पाकिस्तान खोलेगा 9 नवंबर को करतारपुर गलियारा : इमरान खान

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने रविवार को घोषणा की कि उनका देश बहुप्रतीक्षित करतारपुर गलियारे को नौ नवंबर को खोलेगा। यह प्रस्तावित गलियारा करतारपुर के दरबार साहिब को पंजाब के गुरदासपुर जिले के डेरा बाबा नानक धर्मस्थल से जोड़ेगा जिससे उससे भारतीय श्रद्धालु वीजा मुक्त आवाजाही कर पायेंगे। 

श्रद्धालुओं को करतारपुर साहिब जाने के लिए बस एक परमिट लेना होगा। गुरू नानक देवजी ने 1522 में करतारपुर साहिब की स्थापना की थी। पाकिस्तान भारतीय सीमा से करतारपुर के गुरूद्वारा दरबार साहिब तक गलियारे का निर्माण कर रहा है जबकि पंजाब के डेरा बाबा नानक से सीमा तक गलियारे का दूसरा हिस्सा भारत बनाएगा। 

इमरान खान ने फेसबुक पर लिखा, "पाकिस्तान दुनियाभर के सिखों के लिए अपने दरवाजे खोलने के लिए पूरी तरह तैयार है और करतारपुर परियोजना पर निर्माण कार्य अंतिम चरण में पहुंच चुका है। उसे नौ नवंबर, 2019 को लोगों के लिए खोल दिया जाएगा।" 

कुरैशी बोले- करतारपुर गलियारे के उद्घाटन समारोह में मनमोहन सिंह आम आदमी की तरह होंगे शामिल

इस तरह खान ने संशय के बादल दूर कर दिये हैं कि क्या 12 नवंबर को सिख धर्म के संस्थापक गुरू नानक देव जी की 550 वीं जयंती के मौके पर गलियारा खोला जाएगा या नहीं। उन्होंने कहा, "दुनिया के सबसे बड़े गुरूद्वारा में भारत और विश्व के अन्य हिस्सों से सिख आयेंगे। यह सिखों के लिए एक बड़ा धार्मिक केंद्र बन जाएगा और इससे स्थानीय अर्थव्यवस्था को बल मिलेगा, देश के लिए विदेशी मुद्रा अर्जित होगी तथा यात्रा एवं आतिथ्य समेत विभिन्न क्षेत्रों में नौकरियां पैदा होंगी।"

उन्होंने कहा, "पाकिस्तान में धार्मिक पर्यटन बढ़ रहा है। पहले बौद्ध भिक्षु धार्मिक रीति-रिवाजों के लिए आये थे और अब करतारपुर गलियारा खोला जा रहा है।" इससे पहले दस अक्टूबर को पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने यह कहकर उद्घाटन की तारीख पर संशय पैदा कर दिया था कि ‘अबतक कोई तारीख तय नहीं की गयी है’। 

उधर, परियोजना की अगुवाई कर रहे एक अन्य पाकिस्तानी वरिष्ठ अधिकारी ने घोषणा की थी कि पाकिस्तान भारतीय सिख श्रद्धालुओं को नौ नवंबर से करतारपुर साहिब जाने की अनुमति देगा। रविवार को ही पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा था कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने करतारपुर गलियारा उद्घाटन कार्यक्रम में ‘एक आम आदमी’ के रूप में शामिल होने के लिए उनका निमंत्रण स्वीकार कर लिया है। 

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने तीन अक्टूबर केा कहा था कि सिंह करतारपुर गलियारे के खुलने के बाद विशाल कार्यक्रम में शामिल होने के लिए करतारपुर गुरद्वारा जाने वाले पहले सर्वदलीय जत्थे का हिस्सा बनने पर राजी हो गये हैं।