BREAKING NEWS

कृष्ण जन्मभूमि मामला : Court मस्जिद हटाने का अनुरोध करने वाली याचिका पर करेगी विचार ◾आज का राशिफल ( 20 मई 2022) ◾RCB vs GT ( IPL 2022 ) : कोहली के बल्ले से निकली आरसीबी की जीत और प्लेऑफ की उम्मीद◾पंजाब में कांग्रेस को पड़ी दोहरी मार : सिद्धू को एक साल की सजा, जाखड़ ने थामा भाजपा का दामन◾भारतीय मुक्केबाज निकहत जरीन बनीं विश्व चैंपियन , PM मोदी ने दी बधाई ◾ इंडोनेशिया के ऐलान से भारत को राहत, जल्द ही कम हो सकते हैं खाने के तेल के दाम◾ अदालत में दाखिल याचिका को लेकर भड़के ओवैसी, बोले- मुसलमानों के खिलाफ अविश्वास पैदा करने की हो रही कोशिश◾Gyanvapi News: ज्ञानवापी मस्जिद पर अभिनेत्री कंगना बोलीं- काशी के कण- कण में बसे हुए हैं भगवान शिव◾ RCB vs GT: गुजरात टाइटंस ने टॉस जीतकर किया बल्लेबाजी का फैसला, यहां देखे दोनो टीमों की प्लेइंग इलेवन◾Quad Summit 2022: टोक्यो में शुरू होगा मोदी का मिशन, 24 मई को जाएंगे जापान, दिग्गज नेताओं के साथ होगी बातचीत ◾UP: स्वतंत्रता सेनानियों पर भावुक होकर योगी बोले- पिछली सरकारो ने इनके आदर्शों पर नहीं किया काम◾DU को संबोधित करते हुए शाह ने कहा: नहीं होनी चाहिए राजनीतिक लड़ाई, जिक्र किया- रक्षा नीति का.... ◾Gyanvapi Survey: वाराणसी अदालत में 23 मई को होगी अगली सुनवाई, दर्ज की जा चुकी है सर्वे रिपोर्ट ◾ अमित शाह से मिले CM भगवंत मान, PAK से ड्रोन घुसपैठ को लेकर MHA से की ये बड़ी मांग◾1988 रोड रेज केस : एक साल की सजा पर बोले सिद्धू-कानून का सम्मान करूंगा◾Delhi High Court ने लगाई घर-घर राशन योजना पर रोक, कहा: दिल्ली सरकार नहीं कर सकती केंद्र के राशन का इस्तेमाल ◾'कुछ नेता ही कांग्रेस के राष्ट्रीय नेतृत्व को कर रहे हैं गुमराह', इस्तीफे के बाद बोले हार्दिक◾जिसका शिवपाल को था इंतजार.. वो घड़ी आ गई! आजम की जमानत का चाचा-भतीजे पर कैसा होगा असर? ◾SC से रिहाई के बाद फिर जेल जा सकते हैं आजम खान, जानिए किस मामले में फंस सकते हैं SP नेता ◾Delhi News: राजधानी फिर हुई धुआं-धुंआ! मुस्तफाबाद की फैक्ट्री में लगी भीषण आग, दमकल की गाड़ियां मौके पर मौजूद◾

आतंकियों को पनाह देना बंद करे पाकिस्तान, तो भारत की दोस्ती से मिलेगा आर्थिक लाभ : अमेरिकी रक्षा मंत्री

पाकिस्तान अगर अपनी अंतरराष्ट्रीय जिम्मेदारियों को निभाने का तरीका ढूंढ लें और अपनी सरजमीं को आतंकवादियों के लिए पनाहगाह न बनने दे तो उसे भारत की ओर से काफी आर्थिक लाभ मिल सकते हैं।

अमेरिका के रक्षा मंत्री जिम मैटिस ने सीनेट की प्रभावशाली सशस्त्र सेवा समिति के सदस्यों से यह बात कही। उन्होंने कहा कि सरकार का रूख बहुत स्पष्ट है और पाकिस्तान से उसकी जो अपेक्षा है उसे लेकर वह दृढ़ है तथा उनका प्रशासन बदलाव लाने के लिए सरकार के सभी आयामों का इस्तेमाल कर रहा है।

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के दक्षिण एशिया नीति घोषित करने के कुछ सप्ताह बाद यह बयान आया है। दक्षिण एशिया नीति में ट्रंप ने पाकिस्तान के खिलाफ कड़ी नीति अपनाई है। मैटिस ने कहा कि निश्चित तौर पर एक पड़ोसी के तौर पर भारत की अहम भूमिका है और अगर पाकिस्तान अपनी अंतरराष्ट्रीय जिम्मेदारियों को निभाने का तरीका ढूंढ लेता है तथा देश के भीतर किसी भी तरह की पनाहगाह का खात्मा करता है तो उसे ठोस आर्थिक लाभ हो सकते हैं।

रक्षा मंत्री ने कहा कि ट्रंप प्रशासन का मानना है कि जब तक पनाहगाह खत्म नहीं किए जाते तब तक ना केवल अफगानिस्तान बल्कि पाकिस्तान और भारत के आसपास कहीं भी स्थिरता कायम करना काफी मुश्किल होगा।

मैटिस सांसदों के इन सवालों का जवाब दे रहे थे कि प्रशासन क्यों मानता है कि पाकिस्तान इस समय अपना रवैया बदलेगा। समिति के चेयरमैन सीनेटर जॉन मैक्केन ने कहा कि ट्रंप ने कहा है कि वह आतंकवादियों को प्रश्रय देने वाले पाकिस्तान के प्रति अमेरिका का रूख बदलेंगे। ये आतंकवादी अमेरिकी सेवा के सदस्यों और अधिकारियों को निशाना बनाते हैं।