BREAKING NEWS

कश्मीर में आतंकियों एवं शहरी नक्सलियों के खिलाफ प्रभावी एवं निर्णायक कार्रवाई करे सीआरपीएफ : शाह ◾पाकिस्तान अगर भारत से अच्छे संबंध चाहता है तो वांछित भारतीय अपराधियों को सौंपे : जयशंकर ◾बाबरी मस्जिद के पास रहने वाले परिवार ने खोलीं अयोध्या विवाद की परतें ◾दिल्ली -NCR में प्रदूषण पर बैठक से सांसद गंभीर और शीर्ष अधिकारी गैरहाजिर रहे ◾दिल्ली की जिला अदालतों में वकीलों की हड़ताल खत्म ◾CJI गोगोई ने सेवानिवृत्त होने से पहले अयोध्या पर फैसले के साथ इतिहास के पन्नों में नाम दर्ज कराया ◾प्रधानमंत्री ने प्रदूषण की ‘आपात स्थिति’ पर मुख्यमंत्रियों के साथ कितनी बैठकें कीं?: कांग्रेस ◾दिल्ली में प्रदूषण से निपटने के लिए सभी एजेंसियों को साथ मिलकर काम करना होगा : जावड़ेकर ◾प्रदूषण पर संसदीय समिति की बैठक में नहीं आने पर गंभीर की सफाई◾महाराष्ट्र : चन्द्रकांत पाटिल बोले- भाजपा के पास 119 विधायकों का समर्थन, जल्दी ही सरकार बनाएंगे◾TOP 20 NEWS 15 NOV : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾प्रियंका गांधी बोली- भाजपा सरकार भी डींगें हांकने के लिए डाटा छिपाने में लगी है◾प्रदूषण को लेकर SC ने 4 राज्यों के चीफ सेक्रेटरी को किया तलब, कहा- ऑड-ईवन स्थायी समाधान नहीं◾INX मीडिया : दिल्ली हाई कोर्ट ने खारिज की चिदंबरम की जमानत याचिका ◾राहुल बोले- 'मोदीनॉमिक्स' ने इतना नुकसान कर दिया कि सरकार को अपनी रिपोर्ट छिपानी पड़ रही है◾शरद पवार बोले-शिवसेना, NCP और कांग्रेस की सरकार 5 साल का कार्यकाल पूरा करेगी◾ऑड-ईवन योजना की अवधि बढ़ाए जाने पर सोमवार को होगा फैसला : केजरीवाल◾NCP नेता नवाब मलिक बोले- शिवसेना को किया गया अपमानित, निश्चित रूप से CM उनका ही होगा◾SC ने मनी लॉन्ड्रिंग मामले में शिवकुमार की जमानत के खिलाफ ED की याचिका की खारिज◾5 साल की बात क्यों, हम चाहते हैं 25 साल रहे शिवसेना का CM : संजय राउत◾

विदेश

पाकिस्तानी माफिया न्यायपालिका पर दबाव बना रहा : इमरान खान

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने शनिवार को कहा कि पाकिस्तानी माफिया न्यायपालिका और अन्य संस्थाओं पर दबाव बनाने के लिए ब्लैकमेल और धमकी जैसे तरकीब अपना रहा है, जिस तरह 'सिसिलियन माफिया' अपनाते थे। 

एक रिपोर्ट के अनुसार, प्रधानमंत्री इमरान ने ट्विटर पर एक पोस्ट में कहा, "पाकिस्तानी माफिया विदेशों में जमा अपनी अरबों की धनराशि की हिफाजत के लिए न्यायपालिका और सरकारी संस्थानों पर दबाव बनाते हैं, और इसके लिए वे सिसिलियन माफिया की तरह रिश्वत, धमकी, ब्लैकमेल और गिड़गिड़ाने जैसी तरकीबें अपनाते हैं।" 

प्रधानमंत्री इमरान का यह ट्वीट ऐसे समय में आया है, जब पाकिस्तान की जवाबदेही न्यायालय के न्यायाधीश अरशद मलिक ने इस्लामाबाद उच्च न्यायालय को लिखे एक पत्र में दावा किया है कि उन्हें 10 करोड़ रुपये रिश्वत की पेशकश की गई थी। मलिक इन दिनों एक वीडियो विवाद में फंसे हुए हैं। 

मलिक ने पत्र में दावा किया है कि उन्हें पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के बेटे हुसैन नवाज और विदेश में स्थित उनके पूरे परिवार की तरफ से इस शर्त पर 50 करोड़ रुपये रिश्वत की पेशकश की गई थी कि वह इस आधार पर इस्तीफा दे दें कि वह बगैर सबूत के नवाज शरीफ को दोषी ठहराने का गुनाह अब सह नहीं पा रहे हैं। 

उल्लेखनीय है कि न्यायाधीश अरशद मलिक ने शरीफ को गत वर्ष 24 दिसंबर को अल अजीजिया स्टील मिल मामले में सात साल कारावास की सजा सुनाई थी। उन्होंने पत्र में कहा है कि नसीर जांजुआ और माहर जिलानी उनसे तब से मुलाकात करते रहे हैं, जब वह इस्लामाबाद स्थित जवाबदेही अदालत-2 के न्यायाधीश नियुक्त किए गए थे। दोनों तभी से एचएमई एंड फ्लैगशिप निवेश मामले में पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के पक्ष में फैसला देने की मांग कर रहे थे। 

मलिक ने कहा है, "नासिर जांजुआ मुझसे मिलने आए और कहा कि उसके पास मेरे लिए 10 करोड़ रुपये के बराबर यूरो में धनराशि तत्काल मौजूद है, और उसमे से दो करोड़ रुपये के बराबर यूरो में धनराशि बाहर खड़ी उसकी कार में पड़ा हुआ है।" पत्र में न्यायाधीश ने कहा है, "मुझसे कहा गया कि मिया साहेब मेरी मांग के मुताबिक कुछ भी भुगतान करने को तैयार हैं, बशर्ते कि उन्हें दोनों मामलों में बरी कर दिया जाए। मगर मैंने रिश्वत को अस्वीकार कर दिया।"