BREAKING NEWS

दस साल तक प्रदर्शन के लिए तैयार हैं, लेकिन कृषि कानूनों को लागू नहीं होने देंगे : राकेश टिकैत◾संयुक्त किसान मोर्चा की सोमवार को भारत बंद के दौरान शांति की अपील, कई राजनीतिक दलों ने दिया समर्थन◾मंत्रिमंडल विस्तार में भाजपा ने विधानसभा चुनाव को लक्ष्य कर जातीय और क्षेत्रीय समीकरण साधा◾दिग्विजय सिंह ने RSS संचालित सरस्वती शिशु मंदिर के खिलाफ दिया विवादित बयान◾PM मोदी ने नए संसद भवन के निर्माण स्थल का किया दौरा ◾RCB vs MI : पटेल की हैट्रिक और मैक्सवेल के शानदार प्रदर्शन से आरसीबी ने मुंबई इंडियंस को 54 से हराया◾अर्थव्यवस्था की जरूरतों को पूरा करने के लिए भारत को ‘एसबीआई जैसे’ 4-5 बैंकों की जरूरत : सीतारमण◾आरएसएस से जुड़ी साप्ताहिक पत्रिका 'पांचजन्य' ने अमेजन को 'ईस्ट इंडिया कंपनी 2.0' बताया◾‘भारत बंद’ से पहले दिल्ली के सीमावर्ती इलाकों में पुलिस ने गश्त बढ़ायी, अतिरिक्त कर्मियों की तैनाती की◾गन्ना खरीद मूल्य 350 रुपये किए जाने पर प्रियंका का CM योगी पर तंज, कहा- किसानों के साथ किया धोखा◾पारंपरिक पोशाक पहनने वालों को प्रवेश नहीं देने वाले रेस्तरां के खिलाफ हो कार्रवाई : कांग्रेस◾बिहार : CM नीतीश कुमार बोले- राष्ट्र हित में है जातिगत जनगणना◾UP: योगी कैबिनेट में शामिल हुए 7 नए मंत्री, इन विधायकों ने ली शपथ◾पंजाब : चन्नी कैबिनेट में शामिल हुए 15 नए चेहरे, जाने किसको मिली जगह तो किसका कटा पत्ता ◾योगी सरकार का किसानो के लिए बड़ा फैसला, गन्ने का समर्थन मूल्य 325 रूपए से बढ़ाकर 350 किया ◾MP में एक व्यक्ति की अजीबोगरीब मांग, कहा- प्रधानमंत्री की मौजूदगी में ही लगवाउंगा वैक्सीन ◾स्वास्थ्य मंत्री ने AIIMS के डॉक्टरों का बड़े पैमाने पर तबादले वाली खबरों का बताया गलत, कही ये बात ◾पंजाब : मंत्रिमंडल विस्तार से पहले कांग्रेस नेताओं ने नवजोत सिंह सिद्धू को लिखा पत्र, जानिए क्या है मामला ◾भारत ने रिकॉर्ड लक्ष्य का पीछा करते हुए आस्ट्रेलिया को 2 विकेट से दी मात, कंगारू टीम के 26 मैचों के अजेय अभियान को रोका◾बिना थके डटे रहे PM मोदी, अमेरिका के 65 घंटे के दौरे पर की 20 बैठकें◾

गाजा में युद्धविराम को फिलिस्तीनियों ने बताया अपनी जीत, इजराइल बोला- दोबारा पूरी ताकत से देंगे जवाब

इजराइल की घोषणा के साथ गाजा में युद्धविराम के प्रभाव में आने के बाद शुक्रवार को हजारों फलस्तीनियों ने जश्न मनाया। उनमें से अनेक ने कहा कि युद्ध महंगा साबित हुआ लेकिन यह इस्लामी उग्रवादी समूह हमास की स्पष्ट जीत है। वहीं, इजराइल ने कड़े शब्दों में चेतावनी दी कि यदि आगे कोई और शत्रुतापूर्ण कार्रवाई की गई तो वह ‘‘नए सिरे से पूरी ताकत’’ से जवाब देगा।

ग्यारह दिन चले युद्ध में 200 से अधिक लोग मारे गए हैं जिनमें अधिकतर फलस्तीनी हैं। युद्ध में हमास शासित गाजा पट्टी में बड़े पैमाने पर तबाही हुई है जो पहले से ही एक खस्ताहाल क्षेत्र है।इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने शुक्रवार को तल्ख शब्दों में चेतावनी दी कि यदि आगे कोई और हमला किया गया तो उसका ‘‘नए सिरे से पूरी ताकत से’’ जवाब दिया जाएगा।

उन्होंने कहा, ‘‘यदि हमास यह सोचता है कि हम रॉकेट हमलों को बर्दाश्त कर लेंगे तो वह गलत है। यदि आगे कोई और हमला किया गया तो उसका नए सिरे से पूरी ताकत से जवाब दिया जाएगा।’’नेतन्याहू को अपने देश के लोगों से आलोचना का सामना करना पड़ रहा है जो यह कह रहे हैं कि उन्होंने जल्दबाजी में युद्धविराम की घोषणा कर दी।

इजराइली प्रधानमंत्री ने कहा कि उनके बलों ने हमास को अधिकतम नुकसान पहुंचाया है और इजराइल में बहुत कम जनहानि हुई है। नेतन्याहू ने कहा कि इजराइल के हमलों में 200 से अधिक उग्रवादी मारे गए हैं जिनमें हमास के 25 वरिष्ठ कमांडर भी शामिल हैं। उन्होंने कहा कि उग्रवादियों की 100 किलोमीटर से अधिक सुरंगों को निशाना बनाया गया।

युद्धविराम होने के बाद अल अक्सा मस्जिद परिसर में जुमे की नमाज के बाद फलस्तीनी प्रदर्शनकारियों और इजराइली पुलिस के बीच झड़प हो गई। यह स्पष्ट नहीं है कि झड़प किस वजह से हुई। इसी जगह पर इस महीने के शुरू में हुई झड़पें 11 दिन तक चली लड़ाई की मुख्य वजह थीं।

स्थानीय समयानुसार बीती रात तड़के दो बजे युद्धविराम के प्रभाव में आने के साथ ही हजारों फलस्तीनी सड़कों पर जश्न मनाने के लिए निकल पड़े। उन्होंने मिठाई बांटी। कुछ लोग जोर-जोर से ‘अल्ला हू अकबर’ बोलने लगे और अपनी बालकनी से सीटी बजाने लगे। कई लोगों ने हवा में गोलियां चलाईं।

अनेक लोगों ने इस दौरान अपने हाथों में फलस्तीन और हमास के झंडे ले रखे थे। गाजा के स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, लड़ाई में 66 बच्चों और 39 महिलाओं सहित कम से कम 243 फलस्तीनी मारे गए हैं और 1,910 लोग घायल हुए हैं। वहीं, इजराइल में पांच साल के एक बच्चे और 16 साल की एक लड़की सहित 12 लोग मारे गए हैं।