BREAKING NEWS

डॉक्टरों की सुरक्षा की मांग वाली याचिका पर सुनवाई कल : सुप्रीम कोर्ट ◾17वीं लोकसभा का पहला सत्र प्रारंभ, PM मोदी सहित नवनिर्वाचित सांसदों ने ली शपथ ◾संसदीय लोकतंत्र में सक्रिय विपक्ष महत्वपूर्ण, संख्या को लेकर परेशान होने की जरूरत नहीं : PM मोदी ◾डॉक्टरों की देशभर में प्रदर्शन, आज फिर हड़ताल पर रहेंगे एम्स के डॉक्टर◾वर्ल्ड कप में भारत की पाकिस्तान पर सबसे बड़ी जीत, लगा बधाईयों का तांता, अमित शाह ने बताया एक और स्ट्राइक ◾IMA की हड़ताल में शामिल होंगे दिल्ली के अस्पताल, AIIMS ने किया किनारा ◾ममता आज सचिवालय में जूनियर डॉक्टरों से करेंगी बैठक◾विश्व कप 2019 Ind vs Pak : भारत ने पाकिस्तान को डकवर्थ लुइस नियम के तहत 89 रन से रौंदा◾IMA के आह्वान पर सोमवार को दिल्ली के कई अस्पतालों में नहीं होगा काम ◾सभी वर्गों को भरोसे में लेकर करेंगे सबका विकास : PM मोदी◾PM मोदी ने आतंकवाद के खिलाफ कूटनीतिक और रणनीतिक रिवायत को बदला : जितेन्द्र सिंह◾प्रणव मुखर्जी से मिले नीतीश कुमार◾बिहार में AES की रोकथाम और इलाज के लिए हरसंभाव सहायता देगा केंद्र : हर्षवर्द्धन◾कश्मीरी अलगाववादी नेताओं को विदेशों से मिला धन, निजी फायदे के लिए उसका किया इस्तेमाल : NIA◾Top 20 News - 16 June : आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें ◾एक राष्ट्र, एक चुनाव पर बात करने के लिए PM मोदी ने सभी दलों के प्रमुखों को किया आमंत्रित◾प्रदर्शनकारी डॉक्टरों ने कहा, CM जगह तय करें लेकिन बैठक खुले में होनी चाहिए ◾बिहार : मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार से मरने वाले बच्चों का आंकड़ा पहुंचा 93 ◾नए चेहरों के साथ संसद में आए नई सोच, तभी बनेगा नया भारत : PM मोदी◾धर्मयात्रा नहीं राजनीति करने आए है उद्धव ठाकरे : इकबाल अंसारी◾

विदेश

मालदीव में भी PM मोदी ने 'सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास' का किया आह्वान

पड़ोसी देश में पहली बार अपनी सरकार के मूल मंत्र को विस्तारित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 'सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास' का आह्वान किया और मुस्लिम बहुल देश मालदीव के साथ भारत के काफी महत्वपूर्व संबंध होने का जिक्र किया। 

मालदीव की संसद को संबोधित करते हुए मोदी ने  शनिवार को कहा कि दक्षिण एशियाई क्षेत्र में एक समावेशी और सतत विकास की दृष्टि को साकार करने के लिए हमारी सरकार ने 'पड़ोस (के देश) पहले' की नीति अपनायी है। प्रधानमंत्री ने कहा, "मेरी सरकार का मूल मंत्र ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास’ केवल भारत के लिए ही नहीं है, बल्कि यह पूरी दुनिया के लिए है, खास तौर पर हमारे पड़ोसी देशों के लिए। यह हमारी (भारत की) विदेश नीति पर आधारित है।"


प्रधानमंत्री ने कहा, "पड़ोसी (देश) पहले भी हमारी नीति है और इसमें मालदीव का महत्व (विदेश नीति) अत्यंत स्वाभाविक है।" प्रधानमंत्री पद पर अपना दूसरा कार्यकाल शुरू करने के बाद मोदी ने अपनी पहली विदेश यात्रा के लिए मालदीव को चुना। मोदी ने कहा कि इस दक्षिण एशियाई द्वीपीय राष्ट्र की उनकी यात्रा महज एक 'संयोग' नहीं है। 

उन्होंने कहा, "राष्ट्रपति (इब्राहिम मोहम्मद) सोलेह ने पिछले साल सत्ता में आने के बाद भारत को अपना पहला गंतव्य बनाया था और मैं उनके उस कदम के लिए आभार जताने यहां आया हूं।" दोनों देशों के बीच मौजूद विशेष संबंधों का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा कि भारत और मालदीव के बीच 2000 साल से अधिक पुराने व्यापारिक संबंध हैं। 

प्रधानमंत्री ने कहा, "जब बात गीतों और भाषा की आती है, तो हमारी आपस में कई सांस्कृतिक समानताएं हैं।" उन्होंने कहा कि मालदीव में हाल ही में संपन्न हुए चुनाव में लोकतंत्र की जीत को देख कर भारत सबसे अधिक खुश है। मोदी ने व्यापक आधार पर सामाजिक-आर्थिक विकास और लोकतांत्रिक तथा स्वतंत्र संस्थाओं की मजबूती के लिए अपनी आकांक्षाओं को साकार करने में मालदीव को भारत के पूर्ण समर्थन का आश्वासन दिया।