BREAKING NEWS

जम्मू-कश्मीर के रियासी में आतंकी ठिकाने का भंडाफोड़, भारी मात्रा में हथियार और गोला-बारूद जब्त ◾विकास दर में कमी, महंगाई में तेजी की ‘दोहरी मार’ से लोग प्रभावित : कांग्रेस ◾विधानसभा चुनावों की घोषणा : कांग्रेस ने निर्णय का किया स्वागत, कहा - लोग भाजपा को ‘करारा’ जवाब देंगे ◾टीएमसी, अन्य ने बंगाल में आठ चरणों में चुनाव पर सवाल उठाए, भाजपा ने आयोग के फैसले का किया स्वागत◾सीतारमण ने जी-20 बैठक में कोरोना संकट से निपटने की भारत की नीति की जानकारी दी ◾कांग्रेस ने अर्थव्यवस्था को लेकर केंद्र सरकार पर साधा निशाना ◾ममता बनर्जी ने उठाए आठ चरणों में वोटिंग पर सवाल, कहा- BJP के कहने पर चुनाव आयोग ने लिया फैसला◾TMC के शासन काल में राजनीतिक हिंसा ‘‘नई ऊंचाइयों’’ पर पहुंच गई है : राजनाथ सिंह ◾विधानसभा में जो भाषा मुख्यमंत्री बोलते है, वह किसी योगी द्वारा नहीं बोली जा सकती : अखिलेश यादव ◾ईंधन मूल्यों की बढ़ोतरी को सीतारमण ने बताया धर्मसंकट, शिवसेना ने कहा- पद पर बने रहने का अधिकार नहीं ◾अर्थव्यवस्था में आयी ऊंचाई , तीसरी तिमाही में जीडीपी में दर्ज हुई 0.4 प्रतिशत की वृद्धि ◾कोविड टीके के लिए वरिष्ठ नागरिक, बीमारी से ग्रसित 45 वर्ष से अधिक आयु के लोग कराएं ‘ऑन-साइट’ पंजीकरण ◾निर्वाचन आयोग ने बंगाल सहित 5 राज्यों में किया चुनावी तारीखों का ऐलान, 2 मई को आएंगे सभी राज्यों के नतीजे ◾बंगाल चुनाव के ऐलान से पहले ममता बनर्जी ने घोषणाओं की लगाई झड़ी, श्रमिकों का बढ़ाया वेतन ◾केंद्रीय गृह मंत्रालय ने किया ऐलान - कोविड-19 पर मौजूदा दिशानिर्देश 31 मार्च तक लागू रहेंगे ◾गुजरात में बोले केजरीवाल - जनता जानती है हम सच्चे देशभक्त हैं, 2022 चुनाव में एक बड़ी क्रांति आएगी◾पश्चिम बंगाल में रोड शो कर स्मृति रानी ने ममता बनर्जी को दिया जवाब, कहा - बंगाल में खिलेगा कमल◾CTET Result 2021: सीबीएसई द्वारा घोषित किए गए नतीजे, 6.5 लाख उम्मीदवार सफल◾PM मोदी ने किया खेलो इंडिया Winter games का उद्घाटन, कहा -स्पोर्ट सिर्फ एक हॉबी नहीं स्पिरिट है ◾MGR यूनिवर्सिटी को संबोधित करते हुए PM मोदी बोले- देश में 2014 से मेडिकल PG की बढ़ीं 24 हजार सीटें◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

पीएम मोदी ने US के निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन से की बात, वैश्विक महामारी और जलवायु परिवर्तन पर हुई चर्चा

मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमेरिका के निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन से फोन पर बात की। इस दौरान दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय रणनीतिक साझेदारी के प्रति प्रतिबद्धता जताई और कोविड-19 महामारी, जलवायु परिवर्तन तथा हिंद-प्रशांत क्षेत्र में सहयोग को लेकर साझा प्राथमिकताओं और चुनौतियों पर चर्चा की। 

अमेरिका में राष्ट्रपति पद के लिए हुए चुनाव में बाइडन की जीत के बाद दोनों नेताओं के बीच यह पहली बातचीत है। मोदी ने ट्वीट किया, ‘‘अमेरिका के निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन से फोन पर बात करके उन्हें बधाई दी। हमने भारत-अमेरिका रणनीतिक साझेदारी के प्रति प्रतिबद्धता दोहराई और कोविड-19 महामारी, जलवायु परिवर्तन तथा हिंद-प्रशांत क्षेत्र में सहयोग पर साझा प्राथमिकताओं और चुनौतियों पर चर्चा की।’’ प्रधानमंत्री मोदी ने अमेरिका की निर्वाचित उप राष्ट्रपति कमला हैरिस को भी बधाई दी। उन्होंने कहा, ‘‘उनकी सफलता भारतीय अमेरिकी समुदाय के लिए गर्व और प्रेरणा की बात है। यह समुदाय भारत-अमेरिका सबंधों की मजबूती का महत्वपूर्ण स्रोत है।’’ 

प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से जारी एक बयान में कहा गया कि मोदी ने बाइडन को चुनाव में जीत की बधाई दी और इसे अमेरिका की लोकतांत्रिक परंपरा की मजबूती का द्योतक करार दिया। बयान में कहा गया कि प्रधानमंत्री मोदी ने 2014 और 2016 में अमेरिका की आधिकारिक यात्रा के दौरान बाइडन के साथ हुई मुलाकात को याद किया। 

प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से कहा गया कि 2016 में जब मोदी ने अमेरिकी कांग्रेस के संयुक्त अधिवेशन को संबोधित किया था तब उसकी अध्यक्षता बाइडन ने की थी। दोनों नेताओं ने भारत-अमेरिका समग्र वैश्विक रणनीतिक साझेदारी को विस्तार देने का लिए मिलकर काम करने के प्रति सहमति जताई। दोनों नेताओं ने कोविड-19 की रोकथाम, किफायती टीके की उपलब्धता को बढ़ावा देने, जलवायु परिवर्तन और हिंद-प्रशांत क्षेत्र में सहयोग पर चर्चा की। 

मोदी और बाइडन के बीच बातचीत से पहले विदेश मंत्री एस जयशंकर ने विश्वास जताया कि बाइडन प्रशासन में भारत और अमेरिका के बीच संबंधों को और अधिक विस्तार मिलेगा। जयशंकर ने कहा कि अमेरिका के निर्वाचित राष्ट्रपति बाइडन उस कालखंड के गवाह रहे हैं जब दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंधों में बड़ा परिवर्तन आया था। बाइडन जब 1970 के दशक में सीनेट के सदस्य थे, तभी से वह भारत और अमेरिका बीच संबंध प्रगाढ़ करने के समर्थक रहे हैं। 

उन्होंने 2008 में द्विपक्षीय असैन्य परमाणु समझौते को सीनेट से मंजूरी दिलवाने में अहम भूमिका निभाई थी। इस समझौते ने विश्व के दो बड़े लोकतांत्रिक देशों के बीच रिश्ते को प्रगाढ़ करने के लिए मजबूत आधारशिला रखी थी। बराक ओबामा के राष्ट्रपति रहते हुए भारत और अमेरिका के मध्य रणनीतिक और रक्षा संबंधों में उल्लेखनीय विस्तार हुआ था और उप राष्ट्रपति रहते हुए बाइडन ने उसमें अहम भूमिका निभाई थी। अपने चुनाव अभियान के दौरान बाइडन ने अमेरिका और भारत की साझेदारी के प्रति अपने दृष्टिकोण की चर्चा की थी। 

उमर, फारुख अब्दुल्ला हुए 'सेल्फ-आइसोलेट'