BREAKING NEWS

दिल्ली: MCD चुनाव पर भाजपा की रणनीति, BJP अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा- संविदा शिक्षकों को करेंगे नियमित◾सियासी पिच पर जीतने का प्रयास, ओडिशा के पदमपुर उपचुनाव के लिए तेज हुआ प्रचार◾हिमाचल में फिर खिलेगा कमल? पूर्व सीएम धूमल ने ठोका दावा- कांग्रेस खोखले दावे जनता के सामने परोस रही ◾महाराष्ट्र राज्य महिला आयोग ने स्वामी रामदेव को भेजा नोटिस, रामदेव ने महिलाओं को लेकर दिया था बयान ◾Maharashtra: फसल नष्ट होने के बाद बीमा की नगण्य राशि मिलने से निराश हैं किसान, क्या सरकार सुनेगी फरियाद?◾Gujarat: गुजरात चुनाव में सियासत गर्म! ओवैसी ने केजरीवाल पर जमकर साधा निशाना- कह डाली यह बात◾जेपी नड्डा ने किया दावा, कहा- AAP से तंग आकर एमसीडी चुनाव में BJP को वोट देने को बेताब लोग◾सीएम केजरीवाल ने कहा, BJP Video बनाने वाली कंपनी है, हर वार्ड में खोलेगी दुकान◾जनसंख्या नियंत्रण पर गरजे गिरिराज सिंह, कहा- चीन से मुकाबला करना है तो लाना ही पड़ेगा विधेयक◾Belarus: बेलारूस के विदेश मंत्री व्लादिमीर मेकी का निधन, 64 वर्ष में ली आखिरी सांस, देश में शोक की लहर ◾UNSC की अध्यक्षता के दौरान भारत की प्राथमिकताएं होंगी टेररिज्म का मुकाबला, बहुपक्षवाद में सुधार◾UP News: उत्तर प्रदेश के बलिया में नाबालिग लड़की के साथ दुष्कर्म, शादी का झांसा देकर किया कांड, आरोपी गिरफ्तार ◾ICMR की सलाह, कम बुखार होने पर एंटीबायोटिक लेने से करें परहेज◾ठंड ने दी दस्तक, राष्ट्रीय राजधानी में न्यूनतम तापमान 7.9 डिग्री सेल्सियस रहा◾अरविंद केजरीवाल ने कर दी भविष्यवाणी, कहा- गुजरात में कांग्रेस की सरकार आ रही◾'भारत जोड़ो यात्रा' से केंद्र पर वार! कांग्रेस ने कहा- बदल रहा राष्ट्रीय राजनीति का परिद्दश्य◾संसद में मचेगा बवाल! राज्यपालों की भूमिका, बेरोजगारी, महंगाई के मुद्दे पर शीतकालीन सत्र में सरकार को घेरेगा विपक्ष◾गणतंत्र दिवस पर मिस्र के राष्ट्रपति अब्देल फतेह होंगे चीफ गेस्ट, कोरोना की वजह से विदेशी मेहमान नहीं हो रहे थे शामिल ◾Mann Ki Baat : PM नरेंद्र मोदी ने कहा- भारत को जी-20 की अध्यक्षता मिलने का उपयोग ‘विश्व कल्याण’ पर ध्यान लगाने में करना है◾दिल्ली के एमसीडी चुनाव में यूपी के डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने भरी हुंकार◾

नेपाल में सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी की अहम बैठक में नहीं पहुंचे PM ओली

नेपाल की सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी की स्थायी समिति की अहम बैठक सात बार टालने के बाद आखिरकार मंगलवार को संभव हो गई। हालांकि, बैठक में प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली अनुपस्थित रहे। ओली और पूर्व प्रधानमंत्री पुष्प कमल दहल ‘प्रचंड’ को अपने मतभेदों को दूर करने के लिए अधिक वक्त दिए जाने को लेकर पार्टी की स्थायी समिति की अहम बैठक सात बार टाली जा चुकी थी।

स्थायी समिति के सदस्य एवं एनसीपी के वरिष्ठ नेता गणेश शाह ने बताया कि प्रधानमंत्री ओली बैठक में शामिल नहीं हुए। मंगलवार को भी बैठक दो घंटे के लिए स्थगित की गई क्योंकि दोनों नेताओं ने अहम मुद्दों के हल के लिए अनौपचारिक चर्चा करने की खातिर कुछ मांगा। स्थायी समिति की बैठक काठमांडू के बालूवतार में प्रधानमंत्री के आवास पर दोपहर करीब एक बज कर 20 मिनट पर शुरू हुई। 

पार्टी के वरिष्ठ नेता देव गुरूंग ने मीडिया से कहा कि बैठक प्रधानमंत्री ओली की सहमति से शुरू हई थी, लेकिन वह इसमें शामिल नहीं हुए। बैठक में पार्टी की 441 सदस्यीय केंद्रीय समिति की तारीख भी निर्धारित किए जाने की संभावना है, यह पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के बीच सत्ता साझेदारी समझौते के हल में एक अहम भूमिका निभाएगी। स्थायीय समिति में 45 सदस्य हैं। इसकी बैठक में प्रधानमंत्री ओली के राजनीतिक भविष्य के बारे में फैसला होने की उम्मीद है। 

वह प्रचंड नीत असंतुष्ट समूह द्वारा शीर्ष पद छोड़ने के लिए अत्यधिक दबाव का सामना कर रहे हैं। पार्टी की 45 सदस्यीय शक्तिशाली स्थायी समिति की बैठक सबसे पहले 24 जून को बुलाई गई थी, जिसके पहले प्रधानमंत्री ओली ने आरोप लगाया था कि कालापानी, लिपुलेख और लिम्पियाधुरा, तीन भारतीय क्षेत्रों को देश के नए राजनीतिक नक्शे में शामिल करने के बाद उन्हें सत्ता से बाहर करने के लिए पार्टी के कुछ नेता दक्षिणी पड़ोसी देश के साथ मिल गए हैं। 

प्रचंड के नेतृत्व वाले गुट ने आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि वे लोग इस्तीफा मांग रहे हैं, न कि भारत मांग रहा है। उन्होंने ओली को अपने आरोप के समर्थन में सबूत दिखाने को भी कहा। पूर्व प्रधानमंत्री ‘प्रचंड’ समेत एनसीपी के शीर्ष नेताओं ने प्रधानमंत्री ओली के इस्तीफे की मांग की है। उनका कहना है कि ओली की हालिया भारत विरोधी टिप्पणी ‘न तो राजनीतिक रूप से सही थी और न ही कूटनीतिक रूप से उपयुक्त थी।’ प्रचंड ने सोमवार को कहा था कि पार्टी के अंदर मतभेदों को दूर करने की कोशिशें जारी हैं।