BREAKING NEWS

बॉर्डर पर हरकतों से बाज नहीं आ रहा पाक, जम्मू में देखा गया ड्रोन, BSF की फायरिंग के बाद लौटा वापस◾सत्येंद्र जैन बोले- बिना शर्त बात करे केंद्र, आगे की रणनीति को लेकर किसानों की बैठक जारी ◾'मन की बात' में बोले पीएम मोदी- नए कृषि कानून से किसानों को मिले नए अधिकार और अवसर◾हैदराबाद निगम चुनावों में BJP ने झोंकी पूरी ताकत, 2023 के लिटमस टेस्ट की तरह साबित होंगे निगम चुनाव ◾गजियाबाद-दिल्ली बॉर्डर पर डटे किसान, राकेश टिकैत का ऐलान- नहीं जाएंगे बुराड़ी ◾बसपा अध्यक्ष मायावती ने कहा- कृषि कानूनों पर फिर से विचार करे केंद्र सरकार◾देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 94 लाख के करीब, 88 लाख से अधिक लोगों ने महामारी को दी मात ◾योगी के 'हैदराबाद को भाग्यनगर बनाने' वाले बयान पर ओवैसी का वार- नाम बदला तो नस्लें होंगी तबाह ◾वैश्विक स्तर पर कोरोना के मामले 6 करोड़ 20 लाख के पार, साढ़े 14 लाख लोगों की मौत ◾सिंधु बॉर्डर पर किसानों का आंदोलन जारी, आगे की रणनीति के लिए आज फिर होगी बैठक ◾छत्तीसगढ़ में बारूदी सुरंग में विस्फोट, CRFP का अधिकारी शहीद, सात जवान घायल ◾'अश्विनी मिन्ना' मेमोरियल अवार्ड में आवेदन करने के लिए क्लिक करें ◾भाजपा नेता अनुराग ठाकुर बोले- J&K के लोग मतपत्र की राजनीति में विश्वास करते हैं, गोली की राजनीति में नहीं◾आज का राशिफल ( 29 नवंबर 2020 )◾किसान आंदोलन से देश की राजधानी में फलों, सब्जियों की आपूर्ति पर असर◾प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पुणे में वैक्सीन निर्माण की प्रगति का लिया जायजा◾सरकार ने कहा, किसानों से किसी भी समय बातचीत के लिए तैयार ◾भारत, श्रीलंका और मालदीव समुद्री सुरक्षा सहयोग बढ़ाने पर सहमत हुए ◾राज्यसभा उप चुनाव के लिये उम्मीदवार पर फैसला करने के लिये भाजपा स्वतंत्र : चिराग◾उत्तर भारत में सर्दी बढ़ी, दक्षिणी राज्यों में एक दिसंबर से भारी बारिश की आशंका ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

ट्रंप प्रशासन को सुप्रीम कोर्ट से राहत

वाशिंगटन:अमेरिका के सुप्रीम कोर्ट ने ट्रंप प्रशासन को शरणार्थियों के संबंध में अपनी कठोर नीतियां बरकरार रखने की अनुमति दे दी है।अदालत ने कल अपने फैसले में निचली अदालत के फैसले को चुनौती देने वाले आवेदन को स्वीकार कर लिया है जिसमें शरणार्थियों पर लगे प्रतिबंध में कुछ छूट दी गई थी। इसके तहत अक्तूबर के अंत तक अधिकतम 24,000 शरणार्थियों को देश में प्रवेश करने की अनुमति मिल सकती थी।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा जनवरी में लायी गयी इस नीति पर यह आदेश अदालत का अंतिम फैसला नहीं है। न्यायमूर्ति इस संबंध में 10 अक्तूबर को सुनवाई करने वाले हैं। इसमें मुसलमान बहुल छह देशों और दुनिया भर से आने वाले शरणार्थियों की यात्रा पर लगे प्रतिबंधों की वैधता पर दलीलें सुनी जाएंगी।

अभी स्पष्ट नहीं है कि अदालत के समक्ष तय करने के लिए क्या बचेगा। क्योंकि 90 दिनों का यात्रा प्रतिबंध सितंबर के अंत में जबकि 120 दिनों का शरणार्थियों पर लगा प्रतिबंध उसके एक महीने बाद खत्म होने वाला है। व्हाइट हाउस की प्रवक्ता सारा हुकाबी सैंडर्स ने कल रात कहा, हम खुश हैं कि सुप्रीम कोर्ट ने फैसले के महत्वपूर्ण हिस्से को प्रभावी रहने दिया है। हम अगले महीने सुप्रीम कोर्ट में होने वाली मौखिक दलीलों तक इस फैसले का बचाव करते रहेंगे।