BREAKING NEWS

मध्य प्रदेश में तीन चरणों में होंगे पंचायत चुनाव, EC ने तारीखों का किया ऐलान ◾कल्याण और विकास के उद्देश्यों के बीच तालमेल बिठाने पर व्यापक बातचीत हो: उपराष्ट्रपति◾वरिष्ठ पत्रकार विनोद दुआ का हआ निधन, दिल्ली के अपोलो अस्पताल में थे भर्ती◾ MSP और केस वापसी पर SKM ने लगाई इन पांच नामों पर मुहर, 7 को फिर होगी बैठक◾ IND vs NZ: एजाज के ऐतिहासिक प्रदर्शन पर भारी पड़े भारतीय गेंदबाज, न्यूजीलैंड की पारी 62 रन पर सिमटी◾भारत में 'Omicron' का तीसरा मामला, साउथ अफ्रीका से जामनगर लौटा शख्स संक्रमित ◾‘बूस्टर’ खुराक की बजाय वैक्सीन की दोनों डोज देने पर अधिक ध्यान देने की जरूरत, विशेषज्ञों ने दी राय◾देहरादून पहुंचे PM मोदी ने कई विकास योजनाओं का किया शिलान्यास व लोकार्पण, बोले- पिछली सरकारों के घोटालों की कर रहे भरपाई ◾ मुंबई टेस्ट IND vs NZ - एजाज पटेल ने 10 विकेट लेकर रचा इतिहास, भारत के पहली पारी में 325 रन ◾'कांग्रेस को दूर रखकर कोई फ्रंट नहीं बन सकता', गठबंधन पर संजय राउत का बड़ा बयान◾अमित शाह बोले- PAK में सर्जिकल स्ट्राइक कर भारत ने स्पष्ट किया कि हमारी सीमा में घुसना आसान नहीं◾केंद्र ने अमेठी में पांच लाख AK-203 असॉल्ट राइफल के निर्माण की मंजूरी दी, सैनिकों की युद्ध की क्षमता बढ़ेगी ◾Today's Corona Update : देश में पिछले 24 घंटे के दौरान 8 हजार से अधिक नए केस, 415 लोगों की मौत◾चक्रवाती तूफान 'जवाद' की दस्तक, स्कूल-कॉलेज बंद, पुरी में बारिश और हवा का दौर जारी◾विश्वभर में कोरोना के आंकड़े 26.49 करोड़ के पार, मरने वालों की संख्या 52.4 लाख से हुई अधिक ◾आजाद ने सेना ऑपरेशन के दौरान होने वाली सिविलिन किलिंग को बताया 'सांप-सीढ़ी' जैसी स्थिति◾SKM की बैठक से पहले राकेश टिकैत ने कहा- उम्मीद है कि आज की मीटिंग में कोई समाधान निकलना चाहिए◾राष्ट्रपति ने किया ट्वीट, देश की रक्षा सहित कोविड से निपटने में भी नौसेना ने निभाई अहम भूमिका◾तेजी से फैल रहा है ओमिक्रॉन, डब्ल्यूएचओ ने कहा- वेरिएंट पर अंकुश लगाने के लिए लॉकडाउन अंतिम उपाय◾सिंघु बॉर्डर पर संयुक्त किसान मोर्चा की आज होगी अहम बैठक, आंदोलन की आगे की रणनीति होगी तय◾

भारत को मजबूत केंद्र के रूप में देखता है रूस, पुतिन बोले- द्विपक्षीय सहयोग का निर्वहन करने को हैं इच्छुक

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा कि उनका देश भारत को विश्व के एक स्वतंत्र और मजबूत केंद्र के रूप में देखता है तथा उनके साथ बहुआयामी द्विपक्षीय सहयोग का निर्वहन करना चाहता है। पुतिन ने विदेश मंत्रालय बोर्ड को संबोधित करते हुए कहा कि रूस का भारत के साथ संबंधों में एक समान दृष्टिकोण है और दोनों देश विशेष रूप से विशेषाधिकार प्राप्त रणनीतिक साझेदार हैं। 

उन्होंने कहा,‘‘हम सही मायने में बहुआयामी द्विपक्षीय सहयोग के निर्वहन के पक्षधर हैं। हम भारत को विश्व का एक स्वतंत्र, मजबूत केंद्र मानते हैं तथा हमारी एक समान विदेश नीति दर्शन और प्राथमिकताएं हैं।’’ रूसी राष्ट्रपति की यह टिप्पणी आगामी दिसंबर की शुरुआत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ होने वाले वार्षिक द्विपक्षीय शिखर सम्मेलन से पहले सामने आई है।

पुतिन ने चीन के साथ संबंधों पर कहा, ‘‘हमारे कुछ पश्चिमी साझेदार खुले तौर पर रूस और चीन के बीच दरार पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं। हम इससे अच्छी तरह वाकिफ हैं। अपने चीनी मित्रों के साथ मिलकर, हम अपने राजनीतिक, आर्थिक और अन्य सहयोग का विस्तार करके और विश्व क्षेत्र में समन्वय के कदम उठाकर इस तरह के प्रयासों का जवाब देना जारी रखेंगे।’’ अफगानिस्तान की स्थिति पर पुतिन ने कहा कि उसके (अफगानिस्तान) समक्ष गंभीर चुनौतियां हैं, खासकर अमेरिका के वहां से हटने के बाद। 

उन्होंने जोर दिया कि अफगानिस्तान की मौजूदा स्थिति के मद्देनजर रूस की दक्षिणी सीमाओं पर सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए अतिरिक्त उपायों की आवश्यकता है। पुतिन ने शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) और ब्रिक्स (ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका) के साथ संबंधों को मजबूत करने का भी आह्वान किया।